कसमाबाद में भीषण अग्निकांड, 400 घर राख, दो दर्जन मवेशी जिंदा जले

कसमाबाद में भीषण अग्निकांड, 400 घर राख, दो दर्जन मवेशी जिंदा जले

अकबरनगर (भागलपुर)। कसमाबाद गांव में मंगलवार को भीषण अग्निकांड में चार सौ घर जलकर राख्

JagranWed, 03 Mar 2021 02:14 AM (IST)

अकबरनगर (भागलपुर)।

कसमाबाद गांव में मंगलवार को भीषण अग्निकांड में चार सौ घर जलकर राख हो गए। दो दर्जन मवेशी आग की भेंट चढ़ गए। तेज पछुआ हवा के कारण एक-एक कर सभी घर आग की चपेट में आते चले गए। अनाज, कपड़े, गहने सहित घरों का सारा सामान जल गया। पूरे गांव में भगदड़ मच गई। लोग अपनी जान बचाने के लिए खेतों में भागने लगे। चार घंटे तक आग ने गांव में खूब तबाही मचाई।

-------------------------

चूल्हे पर धान उबालने के दौरान झोपड़ी में लगी आग बताया जाता है कि सुबह 11 बजे बीजू मंडल अपनी झोपड़ी में चूल्हे पर धान को उबाल कर अनाज तैयार कर रहा था। हवा को रोकने के लिए चूल्हे को प्लास्टिक से घेरा गया था, जिसमें आग पकड़ लिया, जो झोपड़ी को भी अपनी चपेट में ले लिया। तेज पछुआ हवा के कारण आसपास के घरों में भी आग पकड़ लिया। देखते ही देखते आग ने पूरे कसमाबाद गांव को अपनी आगोश में ले लिया। चारों ओर तबाही का मंजर दिखने लगा। महिलाएं अपने छोटे-छोटे बच्चों को आग की लपटों से बचाते हुए खेतों की ओर दौड़ने लगीं। आग का कहर शाम चार बजे तक जारी रहा। आग पर काबू पाने के लिए स्थानीय थाना पुलिस अग्निशमन वाहन व 15 दमकलकर्मियों के साथ पहुंची। ग्रामीणों ने भी पम्पिग सेट चालू कर और बालू डालकर आग बुझाने की कोशिश की। कुछ लोग लकड़ी के सामानों व धान से भरे ड्रमों को गंगा में फेंकना शुरू कर दिया। तब जाकर आग पर काबू पाया गया। सैकड़ों अग्निपीड़ित परिवार खेतों में शरण लिए हुए हैं। रोटी के लिए मोहताज हो गए हैं। राजस्व कर्मचारी अमरेंद्र कुमार अमर ने बताया कि करीब चार सौ घर जले हैं। नारायणपुर अंचलाधिकारी अजय कुमार सरकार ने बताया कि जांच रिपोर्ट के बाद अग्निपीड़ितों को सरकारी सहायता दी जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.