मुंगेर में परिवहन के दफ्तर पर हेलमेट लगा काम करते हैं कर्मचारी, आए दिन छत से होता रहता है हमला

मुंगेर में बिहार राज्य पथ परिवहन (BSRTC) के दफ्तर में कर्मचारी हेलमेट लगाकर काम करते हैं। यहां छत से हर रोज हमला जो होता है। जर्जर कार्यालय में कब बड़ा हादसा हो जाए इसका डर भी कर्मचारियों को सताता है।

Shivam BajpaiSun, 05 Dec 2021 09:57 AM (IST)
दफ्तर में हेलमेट लगाकार काम करते हैं कर्मचारी।

जागरण संवाददाता, मुंगेर: बिहार राज्य पथ परिवहन निगम (BSRTC)के जिला कार्यालय के काम कर रहे कर्मी हर वक्त डर के साये में काम करते है। यहां की जर्जर भवन कर्मियों पर काल बनकर गिर सकता है। शनिवार को कार्यालय के कामकाज की पड़ताल करने जागरण की टीम कार्यालय पहुंची। कर्मियों के चेहरे पर डर दिखा। यह डर सिर्फ कर्मियों में ही नहीं बल्कि निगम अधीक्षक के चेहरे पर भी नजर आया। परिवहन निगम की बुकिंग शाखा में पहुंचने पर वहां कार्यरत कर्मी राकेश कुमार गुप्ता हेलमेट पहनकर काम करते दिखे। बातचीत में उन्होंने अपने डर का जिक्र किया। बुकिंग शाखा के बाद लेखा शाखा पहुंचने पर वहां भी रोकड़पाल निरंजन कुमार, चंदन कुमार व राजा कुमार हेलमेट पहनकर काम करते नजर आए। इन लोगों ने कहा पता नहीं कब जर्जर छत टूटकर गिर जाए।

बदहाल है बस स्टैंड


पथ परिवहन निगम कार्यालय के बाद जागरण टीम बस स्टैंड पहुंची तो वहां की हालत और दयनीय दिखा। भवन के आगे झाड़ और जंगल बदहाली को बयां करता है। जर्जर भवन के काम कर रहे समय पाल विकास कुमार ने बताया कि कुछ दिनों पूर्व जब वे परिवहन निगम के कार्यालय में पदस्थापित थे तब पे गंभीर रूप से चोटिल हुए। विकास ने अपने चोट को दिखाते हुए कहा कि यह डर यहां भी बना ही रहता है। बुङ्क्षकग कलर्क राजकुमार ने कहा कि पता नहीं कब मुंगेर के पथ परिवहन निगम के कर्मियों को इस डर से मुक्ति मिलेगी।

निगम में काम करते हैं 97 कर्मी

बिहार राज्य पथ परिवहन निगम के जिला कार्यालय से 97 कर्मी अलग अलग जगहों पर काम करते है जिनका मुख्य कार्यालय में आना जाना लगा रहता है। इनमें निगम के अधीक्षक सहित कर्मी सहित आठ कर्मी मुख्य कार्यालय में व अन्य जिले के अलग अलग जगहों पर काम करते है।

साठ दशक में बना था भवन

1956 में बिहार राज्य पथ परिवहन निगम के गठन बाद 1959-60 में बस डीपो स्थित निगम का मुख्य कार्यालय बस स्डैंड का निर्माण किया गया था। बीच के दिनों राज्यभर में निगम की बदहाली के दौरान जिले के बस डिपो व ब बस स्टैंड की हालत भी जर्जर हो गई। इन दिनों निगम के हालात सुधर रहे है लेकिन भवन की स्थिति आज भी जर्जर है।

'2020 में भवन व बस स्टैंड के नए भवन को लेकर मुख्य अभियंता ने नक्शा तैयार किया था। 40 लाख खर्च की बात कही गई थी। भवन निर्माण का काम शीघ्र शुरू होगा, इसके लिए मुख्यालय से पत्रचार किया जाएगा।'- अनिल सिंह राठौर, अधीक्षक राज्य पथ परिवहन निगम।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.