मुंगेर में कल से जुटेंगे BJP के दिग्‍गज नेता, पांच दिसंबर तक पाटम स्थित एसबीएन कालेज में चलेगा प्रशिक्षण सत्र

मुंगेर में कल से बीजेपी के दिग्‍गज नेताओं का आने का सिलसिला शुरू हो जाएगा। पाटम स्थित एसबीएन कालेज में बीजेपी की ओर से तीन दिवसीय प्रशिक्षण सत्र रखा गया है। इसमें कई केंद्रीय मंत्री भी शामिल हो सकते हैं। हालांकि...

Abhishek KumarThu, 02 Dec 2021 09:23 AM (IST)
मुंगेर में कल से बीजेपी के दिग्‍गज नेताओं का आने का सिलसिला शुरू हो जाएगा।

जागरण संवाददाता, मुंगेर। जिला भाजपा का विशेष तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला तीन दिसंबर से जमालपुर प्रखंड के पाटम स्थित एसबीएन कालेज में होगा। पांच दिसंबर तक चलने वाले इस प्रशिक्षण कार्यशाला में प्रदेश के दिग्गज नेता सहित केंद्रीय मंत्री भी शामिल होंगे। जिले के भाजपा नेता सीधे तौर पर स्वीकार नहीं कह रहे हैं, मगर सच्चाई है कि प्रशिक्षण कार्यशाला में कार्यकर्ताओं को 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में पार्टी की मजबूती के लिए दक्ष किया जाएगा। कार्यकर्ताओं में जोश भरा जाएगा।

इस प्रशिक्षण सत्र के माध्यम से भाजपा अपनी ताकत का एहसास कराएगा। यह कार्यशाला लोकसभा चुनाव की तैयारी के साथ ही कार्यकर्ताओं के वैचारिक प्रतिबद्धता को धारदार बनाने की कवायद भी माना जा रहा है। तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला को लेकर तैयारियां अंतिम चरण में है। संचालन समिति की बैठक भी जिलाध्यक्ष राजेश जैन की अध्यक्षता में हो चुकी है। प्रदेश कार्य समिति के सदस्य सह व्यवस्था प्रमुख संजीव मंडल ने बताया कि तीन से पांच दिसंबर तक चलने वाले प्रशिक्षण को प्रदेश के वरीय सांगठनिक पदाधिकारी व केंद्रीय मंत्री भी संबोधित करेंगे।

चुनावी रणनीति का देंगे टिप्स, आइटी सेल से होंगे दक्ष

भाजपा नेता जहां सांगठनिक मजबूती के साथ ही चुनावी रणनीति बनाने के टिप्स बताएंगे, वहीं राजनीति से अलग हटकर संघ की विचारधारा से कार्यकर्ताओं को अवगत कराने का काम भी किया जाएगा। प्रशिक्षण वर्ग की महत्वपूर्ण बात यह रहेगी कि कार्यकर्ताओं को इंटरनेट मीडिया के सहारे अपनी विचारधारा के प्रचार प्रसार करने के तरीकों की जानकारी देने के लिए भाजपा आइटी सेल के केंद्रीय नेताओं के नेतृत्व में आइटी के विशेषज्ञ कार्यकर्ता भी शिविर में मौजूद रहेंगे। शिविर पर विरोधी दल के नेताओं की नजर भी टिकी हुई है। भाजपा सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पार्टी से कई नए युवा जुड़े हैं। नए कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण शिविर के बहाने पार्टी की विचारधारा से जोडऩे की मुहिम के रूप में माना जा रहा है।

 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.