Bihar Politics: CM नीतीश के मंत्री श्रवण कुमार की हुंकार- परंपरागत सीट तारापुर में हर हाल में जीतेगा JDU

Bihar Politics मुंगेर पहुंचे CM नीतीश के मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि तारापुर हमारी परंपरागत सीट है। यहां से जेडीयू हर हाल में जीत का परचम लहराएगी। मजबूती के साथ हम जीत दर्ज करेंगे। तैयारी पूरी है।

Shivam BajpaiSun, 19 Sep 2021 09:28 PM (IST)
Bihar Politics: मुंगेर पहुंचे श्रवण कुमार ने दी प्रतिक्रिया।

संवाद सूत्र, तारापुर (मुंगेर)। Bihar Politics: ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार कहलगांव से पटना वापस जाने के क्रम में रविवार को तारापुर में रूके। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सदानंद सिंह के निधन के बाद संवेदना प्रकट कर वापस लौट रहे थे। जदयू नेता राजीव कुमार सिंह के घर पर कुछ देर विश्राम करने के क्रम में कार्यकर्ताओं के साथ चाय की चुस्की ली। क्षेत्र में पार्टी के संगठन और उसकी मजबूती पर चर्चा किया। तारापुर के संभावित उपचुनाव के दृष्टिकोण से भी कार्यकर्ताओं को टिप्स दिए। मंत्री ने कहा कि पार्टी हर हाल में अपनी परंपरागत सीट को जीतेगी। पार्टी जिसे भी टिकट देती है कार्यकर्ता बगैर भेदभाव के उससे विजयी बनाने का कार्य करेंगे।

मंत्री ने सरकार की उपलब्धियों को बताते हुए कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार का चौहमुखी विकास हो रहा है। सभी वर्ग के लोग का समर्थन और विश्वास नीतीश कुमार के प्रति बढ़ा है। मौके पर पार्टी के दर्जनों कार्यकर्ता भी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें: Hot Seat बन गया मुंगेर का तारापुर, क्या कुछ कहता है इतिहास?

गौरतलब हो कि इन दिनों तारापुर विधानसभा सीट को लेकर बिहार की राजनीति गर्मायी हुई है। सभी दलों के नेता यहां का रुख कर रहे हैं। जमुई लोकसभा अंतर्गत आने वाली इस सीट को लेकर जमुई सांसद चिराग पासवान ने अपनी पार्टी लोजपा से कैंडिडेट उतारने का ऐलान भी कर दिया है। दूसरी तरफ आरजेडी के कार्यकर्ता भी लगातार इस क्षेत्र में कैंप करते दिखाई दे रहे हैं। जन संपर्क जारी है, तो दावे भी किए जा रहे हैं।

कैसे है जदयू की परंपरागत सीट

जदयू इस सीट पर जीत की हैट्रिक लगा चुकी है। 2010 में तारापुर विस सीट से नीता चौधरी ने जदयू की टिकट पर जीत दर्ज की। उसके बाद 2015 में मेवालाल चौधरी ने पार्टी का परचम लहराया और विधायक बने। 2020 विधानसभा चुनाव में भी मेवालाल ने छह हजार वोटों से ज्यादा के अंतर में जीत दर्ज की। कोरोना संक्रमण से उनका निधन हो गया, जिसके बाद से ये सीट रिक्त है और यहां अब उपचुनाव होने हैं। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.