शराब बिक्री में Bihar Police की मिली भगत, मांझी के बयान के बाद मुंगेर में पकड़े गए वाहनों ने दी नई हवा

Bihar Politics बिहार में शराबबंदी को लेकर विपक्ष लगातार सरकार पर हमला करता है। वहीं सत्तारूढ़ दल हम प्रमुख जीतन राम मांझी ने भी इसे धता बताया है। ऐसे में मुंगेर से शराब तस्करी कर रहे वाहनों में लगे पुलिस लोगो ने कई सवाल खड़े कर दिए।

Dilip Kumar ShuklaMon, 27 Sep 2021 03:24 PM (IST)
पुलिस लोगो नंबर प्लेट लगी गाड़ी से बरामद हुई शराब।

संवाद सूत्र, बरियारपुर (मुंगेर)। Bihar Politics: एनडीए में शामिल हम प्रमुख सह बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी लगातार शराबबंदी पर बयानबाजी करते आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि बिहार में शराबबंदी कानून के बाद शराब की बिक्री बढ़ी है। शराबबंदी अच्छी चीज है लेकिन बिहार में 50 हजार करोड़ की शराब की खपत हो रही है। बड़े माफिया, पुलिस-पदाधिकारी शराबबंदी के बाद माला-माल हो रहे हैं। मांझी की मानें तो गरीब जनता पीसी जा रही है। मांझी के बयान के बाद बिहार के मुंगेर जिले से बड़ी मात्रा शराब की बरामदगी हुई है। ये बरामदगी पुलिस का स्टीकर लगे वाहनों से की गई है। स्कार्पियो और कार से जब्त 589 बोतल शराब के साथ दो की गिरफ्तारी हुई है। ब्लू और रेड पुलिस लोगो लगे वाहन से शराब की डिलीवरी (तस्करी) कई सवाल उठा रही है।

हालांकि, यहां मामले में कहा जा रहा है कि पुलिस को चकना देने के लिए तस्कर ऐसा करते हैं ताकि कोई उन्हें रोके नहीं और उनकी चेकिंग न की जाए। मामला बरियारपुर पुलिस ने बरियारपुर-सुल्तानगंज एनएच स्थित महदेवा का है। यहां दो वाहनों से भारी मात्रा में शराब लेकर जा रहे दो शराब तस्करों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने स्कार्पियो व व कार भी जब्त किया है। दोनों वाहनों से शराब बरामद किया गया। कार के वाहन के नंबर प्लेट पर पुलिस का लोगो लगा है। जो सवाल उठा रहा है।

क्या बोले थानाध्यक्ष

थानाध्यक्ष अमरेंद्र कुमार ने बताया कि पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर शराब कारोबारियों पर नजर रखी जा रही है। इसी दौरान सूचना मिली कि दो शराब माफिया शराब की बड़ी खेप लेकर जा रहे हैं। महदेवा के समीप दोनों वाहनों को पकड़कर तलाशी ली गई तो दोनों में कई कार्टन में रखे शराब मिली। थानाध्यक्ष ने बताया कि अलग-अलग कंपनियों की 589 बोतल शराब मिला। वाहन चला रहे जमुई जिले के झाझा थाना क्षेत्र के दिघरा गांव के पिंटु कुमार तथा नयारामनगर थाना क्षेत्र स्थित पाटम के राजा यादव उर्फ़ आयुष राज को गिरफ्तार किया गया, जबकि दो लोग पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए, गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। पुलिस ने बताया कि पंचायत चुनाव में शराब खपाने के लिए लाया जा रहा था। चुनाव को लेकर पुलिस की गश्ती काफी तेज कर दी गई है।

बहरहाल, बिहार में शराबबंदी को लेकर लगातार विपक्ष सरकार पर निशाना साधता रहा है। वहीं सत्तारूढ़ दल हम ने बिहार में शराबबंदी पर सवाल उठाया है। मांझी के बयान के बाद पकड़े गए वाहन नए सवालों को हवा दे रहे हैं। सवाल ये है कि तस्करों के उठाए गए ऐसे कदम से ही खाकी बदनाम है या सच में किसी पुलिस वाले की गाड़ी से तस्करी की जा रही है? 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.