Bihar Inter Admission 2021: 28 तक लिए जाएंगे आवेदन, सीबीएसई के छात्रों को भी मौका, भागलपुर के 68 स्कूलों और 22 कॉलेजों में होती है पढ़ाई

Bihar Inter Admission 2021 बिहार में इंटर में नामांकन की छात्र अब तैयार हो जाएंगे। नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। भागलपुर जिले के कुल 100 स्कूल और कॉलेजों में नामांकन होना है नामांकन। ऑनलाइन आवेदन दिए जा सकते हैं।

Dilip Kumar ShuklaSun, 20 Jun 2021 09:05 AM (IST)
इंटर में नामांकन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

जागरण संवाददाता, भागलपुर। इंटरमीडिएट में स्कूल-कॉलेजों में दाखिले के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। सैकड़ों छात्र-छात्राओं ने पहले दिन ऑनलाइन आवेदन किए। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने 'ओएफएसएस' के माध्यम से इंटरमीडिएट में आमांकन के लिए आवेदन मांगा है। 19 जून से 28 जून आवेदन फॉर्म भरने की अंतिम तारीख है। शनिवार को लेकर छात्र दोपहर में कुछ कैफे पर पहुंचे। बेवसाइट स्लो होने के कारण कई छात्र वंचित भी रह गए। सीबीएसई के छात्र रिजल्ट नहीं निकलने पर नामांकन के लिए आवेदन नहीं कर सके। लेकिन, बोर्ड परिणाम निकलने के बाद सीबीएसई बोर्ड के छात्रों को भी मौका मिलेगा। जिला शिक्षा पदाधिकारी संजय कुमार ने कहा कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के मुख्यालय के पोर्टल से ही पता चलेगा। जिले के 68 स्कूलों और 22 कॉलेजों में नामांकन होना है। इसमें जिले में कला, विज्ञान और वाणिज्य के लिए सीटें भी आवंटित कर दी है। आवेदन करने का एक भी बार मौका मिलेगा।

नंबर बढ़िया तो कॉलेज भी मिलेगा पसंदीदा

कॉलेजों में स्पॉट नामांकन की भी व्यवस्था होगी। इस बार एक छात्र-छात्राओं को आधा दर्जन स्कूल-कॉलेज में आवेदन करने की छूट दी गई है। शनिवार को तिलकामांझी के राहुल कुमार, रौशन, अलीगंज के सौरभ ने भागलपुर के टीएनबी कॉलेज और मारवाड़ी कॉलेज के लिए आवेदन किए। इंटर में नामांकन के लिए छात्रों को मैट्रिक में आए नंबर के आधार पर कॉलेज मिलेंगे। आवेदन के बाद तीन नामांकन सूची निकाली जाएगी। मैट्रिक में प्रथम श्रेणी में पास होने वालों को ज्‍यादा वरीयता मिलेगी। ये पहले नामांकन करा सकेंगे। छात्रों को अपने जिले में नामांकन का मौका भी मिलेगा। पहली सूची के छात्र उस कॉलेज में दाखिला नहीं चाहते हैं उन्हें पहले संबंधित कॉलेज या स्कूल में दाखिला लेना होगा।

निलंबन की कार्रवाई पूरी

जगदीशपुर के प्राथमिक विद्यालय अनुसूचित जाति टोला के शिक्षक रमेश चौधरी के निलंबन को लेकर जिला शिक्षा पदाधिकारी संजय कुमार ने नियोजन पदाधिकारी को पत्र लिखा है। डीईओ ने बताया कि रमेश चौधरी को शराब के साथ गिरफ्तार होने के बाद से शनिवार को उनके खिलफ पत्र कार्रवाई की गई है।

आवाज तेज, मुख्यमंत्री से संघ ने लगाई गुहार

बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ गोपगुट के महासचिव नागेन्द्र सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को मांग पत्र भेजकर शिक्षकों को निगरानी फोल्डर जमा करने में मेधा सूची जमा करने से अलग रखने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि निगरानी जांच के लिए नियोजित शिक्षकों से मेधा सूची नहीं लिया जाए। शैक्षणिक प्रमाणपत्रों की मांग सही है। मेधा सूची की मांग संबंधित पंचायत, प्रखंड या नगर नियोजन इकाई से होनी चाहिए।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.