बांका में CM नीतीश ने पानी, पहाड़ और हरियाली का किया दीदार, आइलैंड पर चाय साथ प्रकृति का नजारा देख बोले-अद्भुत

ब‍िहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बांका में चार घंटे से भी अधिक समय तक पानी पहाड़ और हरियाली का दीदार किया। मंदार और ओढ़नी जलाशय को देखा। नौका व‍िहार का आनंद ल‍िया आइलैंड में चाय पीकर मिटाई थकान।

Dilip Kumar ShuklaWed, 22 Sep 2021 11:03 AM (IST)
बांका के चांदन जलाशय में नौका व‍िहार करते सीएम नीतीश कुमार, ड‍िप्‍टी सीएम तारकिशोर प्रसाद व अन्‍य।

बांका [डा. राहुल कुमार]। जिला मुख्यालय से बस 12 किलोमीटर दूर का ओढऩी जलाशय तीन दशक पुराना है। अभी इसकी प्राकृतिक सुंदरता हर पहुंचने वालों का दिल बाग-बाग कर देता है। हाल तक इसकी सुंदरता बांका शहर तक से अजनबी बनी हुई थी। इलाके में नक्सल प्रभाव के कारण दो-चार साल पहले तक भी कोई इस वीरान जगह पर नहीं आता था। केवल नव वर्ष में आसपास गांवों के कुछ युवा ही इस जगह पर पिकनिक करने की हिम्मत जुटा पाते थे। मानव आबादी से दूरी के कारण डैम प्रवासी पक्षियों को भा गई। दशक भर से ठंड की दस्तक के साथ ही हजारों-हजार प्रवासी पक्षी का झुंड इस डैम पर कलरव करने लगा है। एकांतता के कारण ही वनस्पति ने अपना रूप गढ़ा और चारों ओर पहाड़ी शृंखला ने हरियाली का आवरण चढ़ा लिया।

प्राकृतिक रुप से अकेसिया के जंगल ने इसकी खूबसूरती बढ़ा दी। पिछले दो साल से इस जगह पर लोगों का इक्का दुक्का आना शुरू हुआ। इस साल बांस कारीगरी और पिछले दो महीने से मोटर वोट पहुंचते ही इसकी खूबसूरती में चार चांद लग गया। फिर पर्यटकों का आना भी शुरू हो गया है। मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद सहित बड़ी संख्या में राजनेता और विभागीय अधिकारी भी इस डैम पर पहुंचे। सभी इसकी खूबसूरती देख हतप्रभ रह गए। विधायक और मंत्री से लेकर सुरक्षा जवान औ अधिकारी भी डैम के साथ एक सेल्फी लेने से नहीं चूके।

डैम के हेलीपैड पर उतरते ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को यह जगह भा गई। चारों तरफ पहाड़ी और हरियाली के बीच उनका हेलीकाप्टर उतरा। पहाड़ी की हरियाली से इस वक्त बादल आलिंगन कर रहा था। सौ मीटर की यात्रा के बाद ही उन्हें उंचाई पर अथाह जलराशि का खूबसूरत दृश्य दिखा। इसके बाद वे अपने काफिला के साथ मोटर वोट पर सवार हो गए। एनडीआरएफ की टीम आगे-पीछे उनके मोटर वोट की रखवाली करते आगे बढ़ा। करीब 20 मिनट के नौकायन के बाद मुख्यमंत्री डैम के बीच बने टापू पर पहुंचे। टापू की हरियाली और सफाई अछ्वुत अनुभूति करा रहा था। मुख्यमंत्री ने उपमुख्यमंत्री और अपने अन्य मंत्री व विधायक के साथ जलराशि के किनारे अपनी कुर्सी लगाई। उनके सामने की अथाह जलराशि में वाटर स्कूटी का चालक अछ्वुत कलाकारी दिखा रहा था। इस आईलैंड पर मुख्यमंत्री आधा घंटे तक बैठे और चाय चुस्की ली। सीएम ने इस दौरान जिलाधिकारी सुहर्ष भगत के अलावा पर्यटन व पर्यावरण विभाग के मुख्य सचिव से बातचीत की।

सड़कों पर लगा पहरा तो पहाड़ को बनाया रास्ता

सीएम आगमन की खबर आसपास गांवों में पिछले एक पखवाड़ा से तैर रही थी। भला उनके घर सरकार आएं और वे घर में कैसे बैठे रहें। गरभातरी, कौकरीतरी, बलियामहरा सहित आसपास दर्जनों गांवों से हजारों की संख्या में बच्चे, महिलाएं सभी सुबह ही डैम के लिए निकल गए। मगर पुलिस ने हर सड़क पर पहरा सख्त कर दिया था। आने जाने की मनाही थी। बिना पास नेता और अधिकारी को भी प्रवेश नहीं था। मगर इससे लोग कहां मानने वाले थे। सड़क पर सख्ती पहरेदारी देख आसपास के लोगों ने पहाड़ों को ही रास्ता बना लिया। हर तरफ पहाड़ और जंगल में ग्रामीण मुख्यमंत्री का आगमन करने जुट गए। मुख्यमंत्री के विदा होते ही भीड़ डैम पर पहुंच वाटर स्कूटी का करतब देखने लगी।

विलंब पर नहीं ली परेड की सलामी

डैम पर तीन बजे तक का ही कार्यक्रम निर्धारित था। जलाशय से निकलने में ही मुख्यमंत्री को चार बज गया। निकलने वक्त समय की कमी के कारण हेलीपैड के समीप परेड की सलामी देनी थी। इसके लिए जवान तैयार थे, मुख्यमंत्री आगे बढ़ गए। इसके पहले मुख्यमंत्री डैम पर मोटरवोट सेवा का उद्घाटन फीता काट कर किया। इस अवसर पर गुब्बारा भी उड़ाया।

पर्यटन और पर्यावरण संरक्षण का केंद्र बनेगा बांका

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बांका पर्यटन और पर्यावरण संरक्षण का बड़ा केंद्र बनेगा। यहां आसपास ही नहीं दूर-दूर से लोग आएंगे। वे इससे पहले कभी ओढऩी डैम नहीं आए थे। आकर बहुत बढिय़ा लगा। यह काफी आकर्षक जगह है। आसपास की पहाड़ी पर पौधारोपण कर इसे और सुंदर बनाया जा सकता है। इसके लिए भी काम कराया जाएगा। ओढऩी पर पर्यटन विकास के लिए चार और मोटर वोट जल्द मुहैया करा दिया जाएगा। वाटर स्कूटी आकर्षण का केंद्र है। इसकी भी संख्या बढ़ाई जाएगी। एक स्कूटी पहले से है और दो नया स्कूटी इसे फिर उपलब्ध कराया जाएगा। निश्चित रूप से इससे पर्यटक काफी संख्या में आकर्षित होंगे। मुख्यमंत्री मंगलवार को डेढ़ घंटे से अधिक समय तक ओढऩी का जायजा लेने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

मंदार में रोपवे उद्घाटन के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, जल संसाधन मंत्री संजय झा और मुख्य सचिव के साथ हेलीकाप्टर से ओढऩी जलाशय पर बने हेलीपेड पर उतरे। इसके बाद उन्होंने पर्यटन मंत्री नारायण प्रसाद, ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत राज, सांसद गिरिधारी यादव, विधायक निक्की हेम्ब्रम व ललित मंडल के अलावा विभागीय अधिकारी के साथ ओढऩी डैम में नौकायन का आनंद लिया। डैम में बने आइलैंड पर जाकर मंत्री, विभागीय अधिकारी और जिलाधिकारी से इसके विकास पर लंबी मंत्रणा की। उन्होंने आइलैंड पर चार करोड़ की लागत से बनने वाले आइबी के डिजिटल नक्सा पर भी खुशी जताई। कहा कि टापू पर इतनी सुंदर जगह बनाये जाने के बाद इसका आकर्षण और बढ़ेगा। मालूम हो कि वन एवं पर्यावरण विभाग ने डैम के आसपास की सभी चोटी पर पौधारोपण का काम शुरू भी करा दिया गया है। छोटी पहाड़ी के चारो ओर ट्रेंच काटकर पौधारोपण करा भी दिया गया है। साथ ही डैम के पानी से ऊपर बड़ी शाखाओं वाले पौधा का रोपण कराया जा रहा है। पानी के किनारे किनारे हर तरफ बट, पीपल आदि के पौधे लगाने का काम शुरू हो गया है।

ओढऩी पर्यटन क्षेत्र का बनेगा हब

डीएम सुहर्ष भगत ने बताया कि ओढऩी में उम्मीद से अधिक सीएम ने दिया है। आनेवाले दिनों में ओढऩी पर्यटन क्षेत्र का हब बनेगा। इसके लिए काम शुरू कर दिया गया है। इससे रोजगार के भी अवसर बढ़ेंगे।

मंत्री व विधायक ने लिया वाटर स्कूटर का आनंद

ओढऩी डैम पर जल संसाधन मंत्री संजय झा, ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत राज एवं बेलहर विधायक मनोज यादव ने वाटर स्कूटर का आनंद उठाया। कहा कि प्रशासन का यह कार्य सराहनीय है। आनेवाले दिनों में ओढऩी रोजगार का द्वार खोलेगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.