Bihar Assembly Elections 2020 : मतदान के 48 घंटे के पहले जिले की सीमा होगी सील

मतदान कर्मियों का प्रशिक्षण तीन अक्टूबर से शुरू हो जाएगा।
Publish Date:Sun, 27 Sep 2020 03:47 PM (IST) Author: Dilip Shukla

भागलपुर, जेएनएन। मतदान के 48 घंटे पूर्व से मतदान की समाप्ति तक जिले की सीमा सील रहेगी। यह निर्णय जिले से लगने वाली सीमा से संबंधित अधिकारियों के साथ हुई वर्चुअल बैठक में लिया गया। विधानसभा चुनाव को लेकर डीएम व एसएसपी ने खगडिय़ा, बांका, मुंगेर, कटिहार, गोड्डा, साहिबगंज के अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में दूसरे जिलों से लगने वाले 44 स्थानों को चिन्हित किया गया और वहां चेक प्वाइंट बनाकर जांच अभियान चलाने का निर्णय लिया गया। सीमा पर नगद राशि, शराब व हथियारों पर निगरानी रखने के लिए एसडीओ व डीएसपी से कहा गया। प्रवासियों के आने-जाने पर सतर्कता बरतने और संदिग्धों की जांच कनरे को कहा गया। सभी संवेदनशील स्थलों पर अतिरिक्त बलों की तैनाती कर संयुक्त छापेमारी करने का निर्णय लिया गया। अतिसंवेदनशील स्थलों पर निषेधात्मक आदेश निर्गत करते हुए नाका प्वाइंट बनाने और जांच अभियान चलाने का निर्णय लिया गया। महत्वपूर्ण सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए सभी सीमावर्ती जिलों के पदाधिकारियों का वाट्सएप ग्रुप बनाने कार निर्णय लिया गया। संवेदनशील सड़कों व गलियों को चिन्हित कर वाहन चेकिंग अभियान चलाने, नदियों में गश्ती करने करने का भी निर्णय लिया गया। साथ आपसी तालमेल को लेकर साप्ताहिक बैठक करने का निर्णय लिया गया।

मतदान कर्मियों को तीन अक्टूबर से मिलेगा प्रशिक्षण

मतदान कर्मियों का प्रशिक्षण तीन अक्टूबर से शुरू हो जाएगा। इसके लिए छह स्कूलों का चयन किया गया है। जिला स्कूल, राजकीय कन्या उच्च विद्यालय, सीएमएस, एसएम कॉलेज, मुस्लिम हाइ स्कूल, मुस्लिम कॉलेज में प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण कोषांग के नोडल पदाधिकारी प्रमोद कुमार पांडेय ने बताया कि मतदान कर्मियों का प्रथम प्रशिक्षण तीन, पांच, छह, आठ एवं नौ अक्टूबर को होगा। दूसरा प्रशिक्षण 12, 13, 15, 16 एवं 17 अक्टूबर को दिया जाएगा। इसके लिए प्रथम नियुक्ति पत्र 22 हजार कर्मियों को 29 सितंबर को भेजा जाएगा। उन्होंने बताया कि फिलहाल 21 हजार कर्मियों को ट्रेनिंग दी जाएगी। 20 फीसद कर्मियों को रिजर्व रखा जाएगा। फिलहाल महिला कर्मियों को भी रिजर्व रखा जाएगा। प्रशिक्षण डमी बूथ बनाकर दिया जाएगा। यह कोविड-19 को देखते हुए किया जा रहा है। डमी बूथ पर जिस तरह की व्यवस्था रहेगी, ठीक उसी तरह की व्यवस्था मतदान के दिन बूथ पर रहेगी।

कल मिलेगी पीठासीन पदाधिकारियों को ट्रेनिंग

पीठासीन पदाधिकारियों को 27 की जगह अब 28 सितंबर को प्रशिक्षण मिलेगा। इसको लेकर संबंधित पीठासीन पदाधिकारियों को एसएमएस से सूचना भेजी गई है। पीठासीन पदाधिकारियों को तीन दिनों का प्रशिक्षण मिल गया है।

एक बूथ पर रहेंगे चार कर्मी

एक बूथ पर चार कर्मी तैनात रहेंगे। पीठासीन पदाधिकारियों के अलावा पी वन, पी टू व पी थ्री की तैनाती होगी। बूथ पर मतदान कर्मियों को भी शारीरिक दूरी का पालन करना होगा।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.