बिहार व‍िधानसभा उपचुनाव: तारापुर में चुनाव लड़ेगी लोजपा, जल्द आएंगे चिराग पासवान, जदयू को लेकर कही यह बड़ी बात

Bihar assembly by-election ब‍िहार के दो सीटों पर व‍िधानसभा चुनाव होने हैं। मुंगेर जिले के तारापुर व‍िधानसभा सीट पर इस बार लोजपा के प्रत्‍याशी भी चुनाव लड़ेंगे। यह सीट जदयू के वि‍धायक मेवालाल चौधरी के न‍िधन के बाद खाली हुआ है

Dilip Kumar ShuklaSun, 19 Sep 2021 01:48 PM (IST)
तारापुर व‍िधानसभा सीट से च‍िराग पासवान उतारेंंगे अपना प्रत्‍याशी।

संवाद सूत्र, तारापुर (मुंगेर)। बिहार व‍िधानसभा उपचुनाव: जदयू विधायक सह पूर्व शिक्षामंत्री मेवालाल चौधरी के निधन के बाद तारापुर व‍िधानसभा सीट पर उपचुनाव होना है। उपचुनाव केलिए सत्तापक्ष के आधे दर्जन से ज्यादा मंत्री क्षेत्र का दौरा कर चुके हैं। विपक्ष भी तैयारियों में जुटा है। सभी दलों में सीट जीतने को लेकर उच्चस्तर पर मंथन चल रहा है। प्रत्याशी किस-किस दल से होगा इसपर संशय है। जमुई के सांसद चिराग पासवान ने स्पष्ट कर दिया क‍ि ब‍िहार के दोनों रिक्त सीटों पर पार्टी दमदार उम्मीदवार देगी। पार्टी अपने दम पर चुनाव जीतने के लिए प्रत्याशी खड़ा करेगी। लोजपा के राष्ट्रीय सचिव मिथिलेश कुमार स‍िंह ने कहा कि उम्मीदवार का चयन संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष हुलास पांडे, प्रदेश अध्यक्ष राजू तिवारी तथा प्रधान महासचिव संजय पासवान मिलकर करेंगे। लोजपा मजबूती के साथ चुनाव के मैदान में उतरेगी। जल्द ही सांसद चिराग पासवान तारापुर में दौरा करेंगे।

जदयू की आलोचना की

च‍िराग पासवान के समर्थकों ने कहा कि ब‍िहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के कार्यकाल में व‍िकास नहीं के बराबर हुआ है। अपराध बढ़े हैं। हत्‍याएं हो रही है। शराबबंदी के बाद भी शराब यहां हर जगह उपलब्‍ध है। सरकार जनव‍िरोधी है। इस कारण च‍िराग पासवान और उनके समर्थक कार्यकर्ता लगातार जदयू का व‍िरोध कर रहे हैं। 

भाजपा के प्रत्‍यााशी के चुनाव नहीं लड़ने की संभावना

तारापुर व‍िधानसभा सीट जदयू के कोटे में है। इसल‍िए भाजपा यहां से अपना उम्‍मीदवार नहीं उतारेगी। भाजपा और जदयू में गठबंधन है। लेकिन च‍िराग पासवान भाजपा की आलोचना नहींं करते। प्रधानमंत्री के कार्यों की हमेशा प्रशंसा करते हैं। साथ ही उनके व्‍यक्तित्‍व से प्रभाव‍ित है। लेकिन जदयू से च‍िराग की नहीं बनती है। इस कारण जदयू के प्रत्‍याशी जहां-जहां खड़े होते हैं, उस सीट से च‍िराग पासवान अपना उम्‍मीदवार खड़ा करते हैं।  इस कारण वर्ष 2020 के विधानसभा चुनाव में जदयू का काफी सीट गंवानी पड़ी। हालांकि अभी च‍िराग लोजपा में हुए टूट के बाद खुद कमजोर हुए हैं। अब चुनाव के बाद ही पता चलेगा कि कौन किसको पटखनी दे रहा है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.