Bhagalpur Weather Update: तूफान से पहले की शांति-मौसम साफ, दो दिन बाद असर दिखाएगा जवाद, होगी बरसात

Bhagalpur Weather Update Today बीते पांच दिनों से भागलपुर और आसपास के जिलों में मौसम साफ है। न कोहरा पड़ रहा है और न ही ठंड उतनी प्रभावी है। लेकिन (Jawad Cyclone) जवाद की हुई एंट्री दो दिन बाद मौसम को पूरी तरह बदल देगी।

Shivam BajpaiFri, 03 Dec 2021 10:14 AM (IST)
जवाद तूफान का रहेगा असर, बदल जाएगा मौसम का मिजाज।

संवाद सहयोगी ,भागलपुर: Jawad Cyclone In Bihar - बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र और जवाद चक्रवाती तूफान का असर भागलपुर सहित बिहार में दिखेगा। तूफान तो नहीं पहुंचेगा, लेकिन इसके चलते होने वाले मौसमी बदलाव का असर दिख सकता है। तेज पछुआ हवा के साथ जिले के आसपास क्षेत्रों में हल्की बूंदाबांदी होगी।

बिहार कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डॉ. वीरेंद्र कुमार ने कहा कि बंगाल की खाड़ी में बना निम्न दबाव और चक्रवाती तूफान का असर उड़ीसा और झारखंड के सीमावर्ती क्षेत्रों में होगा लेकिन भागलपुर और बिहार के अन्य जिलों में मौसमी बदलाव दिखेगा। पांच दिसंबर से आसमान में बादल छाने लगेंगे। छ और सात दिसंबर को 12 से 15 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से पछुआ हवा के साथ छिटपुट हल्की बारिश होगी। वज्रपात का भी खतरा बना रहेगा। इस तूफान का झारखंड और बंगाल में अधिक असर दिखेगा।

फिलहाल, भागलपुर में ठंड धीरे-धीरे बढ़ रही है। सुबह कोहरे व धुंध की स्थिति बनी रहती है। इस कारण सुबह यातायात भी प्रभावित हो रहा है। धुंध और आंशिक बादल छाया रहेगा। बताया गया कि सुबह के समय धुंध के साथ आंशिक रूप से बादल छाया रहेगा। न्यूनतम तापमान में कोई खास बदलाव नहीं होगा। उम्मीद है कि 15 दिसंबर तक ठंड पूरी तरह परवान पर होगी।

भागलपुर और आसपास के कुछ हिस्सों में कोहरे का असर भी शुरू हो गया है। मौसम विज्ञानी ने कहा समुद्र तल से 1.5 किमी ऊपर तक पूर्वी एवं उत्तर पूर्वी हवा का प्रवाह जारी है। इससे प्रदेश में दो-तीन दिनों तक मौसम शुष्क बना रहेगा। हालांकि अगले कुछ दिनों में शहर के कुछ हिस्सों में बूंदाबांदी हो सकती है।

खान-पान में रखें विशेष ध्यान

कृषि विज्ञान केंद्र सबौर गृह विज्ञानी अनिता कुमारी कहती हैं कि कैल्शियम की कमी होने से हमारी हड्डियां कमजोर पडऩे लगती हैं। हड्डियां कमजोर होने से चलने, फिरने, बैठने और मुड़ने में तकलीफ होती है ।

सर्दियों के मौसम में हमारी हड्डियां काफी कमजोर पड़ जाती है। ऐसे में आप अपनी डाइट में कई ऐसी चीजों को शामिल कर सकते हैं, जिनमें कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

कैल्शियम और विटामिन डी दो सबसे महत्वपूर्ण मिनरल्स हैं जो, हड्डियों में फ्रैक्चर और अन्य बीमारियों के खतरे से बचाने में मदद कर सकते हैं।दूध और दूध से बनी चीजों को कैल्शियम का अच्छा सोर्स माना जाता है । इनके अलावा भी कई चीजों को डाइट में शामिल कर कैल्शियम की कमी को दूर कर सकते हैं।

सरसों का साग

सर्दियों के मौसम में आसानी से और कम कीमत मे सरसों का साग मिलता है। सरसों के साग में पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम होता है इसे आहार मे सामिल कर कैल्शियम की कमी को दूर किया जा सकता है।

सफेद तिल

सफेद तिल को कैल्शियम का अच्छा सोर्स माना जाता है। सर्दियों में तिल के लड्डू, तिल की चिक्की आसानी से बाजार में मिलता है। तिल को डाइट में शामिल कर कैल्शियम की कमी को पूरा कर सकते हैं।

संतरा

संतरा एक मौसमी फल है जो सर्दियों में आता है।संतरे को विटामिन सी ही नहीं बल्कि कैल्शियम का भी अच्छा सोर्स माना जाता है।संतरे को डाइट में शामिल कर कैल्शियम की कमी को पूरा और इम्यूनिटी को मजबूत बनाया जा सकता है।

अंडा

ठंड के मौसम में अंडे का सेवन सेहत के लिए अच्छा माना जाता है।अंडे को प्रोटीन का अच्छा सोर्स माना जाता है।असल में ये सिर्फ प्रोटीन ही नहीं कैल्शियम और विटामिन डी का भी अच्छा सोर्स है जो, हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.