Bhagalpur Weather Forecast : तापमान में उतार-चढ़ाव का दौर रहेगा जारी, फिलहाल बारिश के आसार नहीं

Bhagalpur Weather Forecast : मौसम में उतार-चढ़ाव का दौर जारी रहेगा।

Bhagalpur Weather Forecast मौसम में उतार-चढ़ाव का दौर जारी रहेगा। इस दौरान अधिकतम तापमान में एक से दो डिग्री तक की बढ़ोतरी हो सकती है। वहीं न्यूनतम तापमान स्थिर रहेगा। किसान गेहूं आदि की कटाई कर गर्मा फसल जैसे मूंग आदि लगा सकते हैं।

Abhishek KumarFri, 09 Apr 2021 09:41 AM (IST)

जागरण संवाददाता, भागलपुर। Bhagalpur Weather Forecast : आने वाले कुछ दिनों तक मौसम में इसी तरह का उतार-चढ़ाव का दौर जारी रहेगा। फिलहाल बारिश के आसार नहीं है। इस दौरान अधिकतम तापमान में एक से दो डिग्री तक की बढ़ोतरी हो सकती है। वहीं, न्यूनतम तापमान स्थिर रहेगा।

बिहार कृषि विवि के पूर्वानुमान के अनुसार यह मौसम किसानों के अनुकूल है। किसान गेहूं आदि की कटाई कर गर्मा फसल, जैसे मूंग आदि लगा सकते हैं। इसके लिए बोआई से पहले वे अपने खेतों का पटवन कर सकते हैं। इससे खेत में नमी की मात्रा बढ़ जाएगी। साथ ही जरूरत पडऩे पर मूंग की फसल में भी पटवन दे सकते हैं। वहीं, जो लोग सब्जी की खेती कर रहे हैं, उनके लिए भी मौसम अनुकूल है। जरूरत अनुसार वे अपने फसलों की सिंचाई करें।

मौसम की तल्खी ने बढ़ाई लोगों की परेशानी

जागरण संवाददाता, सुपौल : अप्रैल चढ़ते ही गर्मी बढऩे लगी है। मौसम की तल्खी से लोगों की परेशानी बढऩे लगी है। घरों और दफ्तरों में एसी और पंखे ऑन होने लगे हैं। बाजार में एसी, कूलर, रेफ्रीजरेटर, फ्रिजर आदि की बिक्री बढ़ गई है। ग्रामीण क्षेत्रों में अब पेड़ों के नीचे चौपाल जमने लगे हैं। किसान गेहूं की कटनी में तेजी ला रहे हैं, गर्मी के कारण सुबह के समय ही खेतों में गेहूं कटनी के लिए मजदूर पहुंच जाते हैं।

गर्मी शुरू होते ही बाजार भी उसी रंग में ढल जाता है। बाजार में इन दिनों ठंडा पेय पदार्थ और फलों की बिक्री बढ़ गई है। पेय पदार्थों की नई-नई दुकानें खुलने लगी हैं। कई नए ब्रांड के कोल्ड ङ्क्षड्रक्स भी बाजार में दिखने लगे हैं। ठेलों पर खीरा, तरबूज, ककड़ी, बतिया जगह-जगह बिकते दिखाई देते हैं। एक तो गर्मी बढ़ गई है ऊपर से शादी-विवाह का लगन शुरू होने वाला है। ऐसे में बाजार में पंखा, एसी, कूलर, रेफ्रीजरेटर आदि की डिमांड देखी जा रही है। कई स्थानों पर ये सामान किस्त पर भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं। यह अलग बात है कि बिजली कम कटती है लेकिन थोड़ी देर के लिए भी कटती है तो लोग परेशानी महसूस करने लगते हैं। सबसे परेशानी यात्रा के समय ट्रेन और बसों में होती है। भीड़ के कारण लोग परेशान हो जाते हैं।

इधर दो दिनों से बादल छाए रहने के कारण धूप तो तेज नहीं रहती लेकिन पूरवा हवा के कारण उमस महसूस होती है। ग्रामीण क्षेत्रों में इन दिनों गेहूं की कटनी तेजी से चल रही है। इधर कटनी हुई कि खेतों पर थ्रेसर से तैयारी भी की जा रही है। बादल छाए रहने से किसानों को इस बात की ङ्क्षचता सताते रहती है कि कहीं आंधी-पानी ना आ जाए। इस मौसम में इसकी संभावना अधिक रहती है। गेहूं काटने के लिए खेतों में मजदूर अल सुबह पहुंच जाते हैं। सुबह दस के बाद गर्मी के कारण गेहूं काटना संभव नहीं हो पा रहा है। गेहूं कटने के बाद किसान भले ही मूंग की बोआई के लिए बारिश का इंतजार करें लेकिन फिलहाल तो बादल देखकर किसानों की सांसें अटकी रहती हैं। एक साथ गेहूं की कटनी शुरू होने से किसानों को मजदूर कम पड़ रहे हैं कटनी में यह सबसे बड़ी समस्या बन रही है।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.