नौकरी का झांसा देकर 31 लाख की ठगी

नौकरी का झांसा देकर 31 लाख की ठगी

रेलवे में नौकरी लगाने के नाम पर तीन छात्रों से 3161800 रुपए की ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है।

JagranMon, 19 Apr 2021 12:18 PM (IST)

संस, नाथनगर। रेलवे में नौकरी लगाने के नाम पर तीन छात्रों से 3161800 रुपए की ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है। लखीसराय के पीड़ीबाजार के काशीचक के निवासी छात्र पंकज कुमार व उसके साथियों ने ठगी का आरोप मधुसूदनपुर थाना क्षेत्र के कौवाकोली रोड के काली स्थान के पास रहने वाले जयशंकर प्रसाद व उसकी पत्नी कुमारी ज्योति पर लगाया है। छात्रों ने इसकी शिकायत मार्च महीने में ही डीआइजी व एसएसपी से भी की। डीआइजी ने सिटी एएसपी को मामले की जांच कर आवश्यक कार्रवाई का निर्देश दिया है। छात्रों का आरोप है कि डीआइजी के निर्देश के बाद मधुसूदनपुर व नाथनगर थाने में भी आरोपित के खिलाफ लिखित शिकायत की गई, लेकिन पुलिस अबतक कार्रवाई के नाम पर टालमटोल कर रही है। छात्र पंकज का कहना है कि आरोपियों ने उससे, उसके भाई व उसके एक मित्र के अलावा अन्य 50 छात्रों से भी नौकरी का झांसा देकर लाखों की ठगी कर चुका है। उसने बताया कि विश्वविद्यालय के साहबेगंज इलाके में वह, अपने भाई प्रदीप कुमार व दोस्त सपन कुमार के साथ लॉज में रहकर कम्पीटीशन की तैयारी करता है। पास में किराये के मकान में रह रही आरोपित कुमारी ज्योति ने उन्हें कहा कि रेलवे में नौकरी चाहते हो तो मेरे पति जयशंकर प्रसाद से मिलो। वे कई छात्रों को रेलवे में नौकरी लगा चुके हैं। उसने अपने सुधांशु शेखर नामक भांजा से मिलाते हुए कहा कि इसे भी मेरे पति ने नौकरी लगवाई है। सुधांशु द्वारा जॉब संबंधित सारे कागजात दिखाए गए तो वे लोग उसके झांसे में आ गए। इसके बाद ज्योति ने अपने पति जयशंकर से मिलवाया। उसने रेलवे के ग्रुप सी में 15 लाख व ग्रुप डी में नौकरी के लिए 10 लाख देने की बात कही। आरोपित ने कोलकाता डिविजन में वेकेंसी होने की बात कहकर रुपए का इंतजाम करने को कहा। इसके बाद तीनों छात्रों से कोलकाता डिवीजन में फॉर्म भरवाया गया। मेडिकल, रिपोर्टिंग व पुलिस वेरीफिकेशन के बाद अपने रिश्तेदार के एकाउंट में रुपए भेजने का डिमांड किया। झांसे में आये तीनों छात्रों ने बारी-बारी 10-10 लाख रुपए करके कुल 3161800 रुपए चेक व आरोपित के बताए एकाउंट में ट्रांसफर किए। पैसे लेने के बाद आरोपित ने छात्रों को ट्रेनिग के नाम पर धनबाद के भुली ट्रेनिग सेंटर में भेज दिया। वहां कोई रिकॉर्ड नहीं रहने के कारण छात्रों को घर वापस भेज दिया गया। पंकज ने बताया कि ट्रेनिग सेंटर से वापस आने पर जब वे लोग आरोपित से पैसे वापस करने की मांग की तो आरोपियों ने जान से मारने की धमकी देते हुए उनके साथ मारपीट कर भगा दिया। उसका कहना है कि छात्रों से ठगी किए गए रुपए से ही आरोपित ने नाथनगर के कौवाकोली रोड में जमिन खरीदकर घर बना लिया है। मामले में मधुसूदनपुर थाना प्रभारी मिथिलेश कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। इसके बाद एफआइआर दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.