प्रेमी के प्‍यार में पागल महिला ने अपने पति को मरवा डाला, मंशा जानकर सिहर जाएंगे आप

पत्नी ने ही रेलकर्मी पति सन्नी की सुपारी देकर करवाई थी हत्या

22 दिसंबर की रात सुल्तानगंज से रेलकर्मचारी सन्‍नी कुमर मिश्र का अपहरण हुआ था। उसकी हत्‍या खगड़िया के परबत्ता में कर दी गई थी। गिरफ्तार अपराधी कुणाल कन्हैया ने पुलिस के समक्ष अपना अपराध कबूल किया है। जिसमें उसने उसकी पत्‍नी के बारे में कई राज खोले हैं।

Publish Date:Wed, 20 Jan 2021 11:55 AM (IST) Author: Dilip Kumar shukla

जागरण संवाददाता, खगड़िया/भागलपुर। भागलपुर के बाथ थाना क्षेत्र स्थित कुमैठा गांव निवासी और कर्नाटक में रेलवे की नौकरी करने वाला सन्नी कुमार मिश्र की निर्मम हत्या उसकी पत्नी ने ही अपने ब्याय फ्रेंड व उसके साथियों को सुपारी देकर करवायी थी। सन्नी को जीजा कहकर उसके रिश्ते में लगने वाला साला ने ही सुल्तानगंज के तिलकपुर उर्फ तिलकनगर से पिस्तौल की नोक पर उठाया था। उसे नशीला दवा पिलाकर परबत्ता थाना क्षेत्र लाया था और उसकी गोली मारकर हत्या कर दी थी। 23 दिसंबर को युवक का शव मिलने से परबत्ता थाना क्षेत्र में सनसनी फैल गई। बाद में उसकी पहचान बाथ थाना क्षेत्र के कुमैठा निवासी सन्नी के रूप में की गई।

एसपी अमितेश कुमार द्वारा परबत्ता थानाध्यक्ष प्रियरंजन को इस घटना के पर्दाफाश करने के लिए टास्क दिया गया था। थानाध्यक्ष गहन व तकनीकी जांच बाद के बाद असल अपराधियों तक पहुंचने में कामयाब रहे। इस घटना में शामिल परबत्ता थाना के नयाटोला- सतखुटी के कुणाल कन्हैया को दबोच लिया। पुलिस पकड़ में आने के बाद कन्हैया टूट गया और उसने स्वीकारोक्ति बयान में कबूल किया कि मृतक रेलकर्मी सन्नी की पत्नी ने ही दो लाख में पति की हत्या की सुपारी दी थी। उसने कबूल किया कि घटना में सात अपराधी शामिल थे। पुलिस सूत्रों की माने तो 2017 में सन्नी कुमार मिश्र की शादी नवगछिया के गौरीपुर की एक युवती से हुई थी। युवती के पिता का भागलपुर में भी मकान है। उसने कबूल किया कि केशव कुमार सिंह उर्फ सिक्सर, राहुल समेत अन्य साथ शराब पीते थे। केशव का दोस्त छोटू कुमार गौरीपुर का ही रहने वाला है। उसने बताया कि केशव का ननिहाल गौरीपुर ही है और शादी से पहले ही सन्नी की पत्नी से उसे प्रेम प्रसंग चल रहा था। उसने कबूल किया कि छह बीघा जमीन पर कब्जा को लेकर सभी दोस्त बराबर एक साथ होते थे। बताया जाता है कि गिरफ्तार अपराधी ने कबूल किया कि छोटू ने केशव को बताया कि हमारी एक बहन है, उसे पति परेशान करता है।

जघन्य हत्याकांड के उलङो मामले को सुलझा लिया गया है। जल्द ही घटना में शामिल अन्य अपराधियों को गिरफ्तार किया जाएगा। - अमितेश कुमार, एसपी, खगड़िया

जेल में बंद रोहित को पुलिस लेगी रिमांड पर

भागलपुर के रेलकर्मी की गोली मारकर हत्या मामले के पर्दाफाश के बाद जेल में बंद रोहित को रिमांड पर लेने की पुलिस ने कवायद आरंभ कर दी है। इस घटना से उसका तार जुड़ने के बाद से पुलिस सक्रिय हो उठी है। पुलिस उस बोलेरो की तलाश में भी जुट गई है जिसे अपहरण व हत्या में प्रयोग किया गया था। परबत्ता थानाध्यक्ष प्रियरंजन ने बताया कि हत्या की गुत्थी सुलझा ली गई है।

पत्नी ने ही दी थी पति के घर आ जाने की जानकारी

रेल में पति की जगह नौकरी पाने व शादी से पहले चल रहे प्रेम प्रसंग को जिंदा रखने को लेकर रेलकर्मी सन्नी कुमार मिश्र के घर आने की सूचना अपराधियों को पत्नी ने ही दी थी। गिरफ्तार कुणाल कन्हैया को पुलिस द्वारा न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। न्यायालय के आदेश पर उसे जेल भेज दिया गया। गिरफ्तार कुणाल ने कबूल किया कि किलर को सन्नी की पत्नी ने ही जानकारी दी थी कि वह आने वाला है। सूत्रों की माने तो 22 दिसंबर को केशव सिंह, राहुल, रोहित व कुणाल कन्हैया नौका से सुल्तानगंज पहुंचा था और मंजीत, छोटू व अभिजीत बोलेरो से वहां पहुंचा। बोलेरो से गए छोटू व अन्य सीधे तिलकनगर पहुंचे। चौक पर एक व्यक्ति को घूमते देखकर छोटू जीजा-जीजा कहते उसमें सट गया और पिस्तौल का भय दिखाकर उसे बोलेरो पर चढ़ा लिया। कबूल किया है कि उसे नशे की दवा पिलाई गई और उसे भागलपुर होते हुए बिहपुर लाया गया। वहां छोटू व अन्य उतर गया। केशव को फोन कर बुलवाया और सन्नी की गोली मारकर हत्या कर दी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.