Asaduddin Owaisi election meeting in Bhagalpur : बोले - राज्‍य में विकास के ज्‍यादा पिछड़ेपन का ग्राफ बढ़ा

भागलपुर के नाथनगर के चर्च मैदान में एआइएमआइएम सुप्रीमो असदुद्दीन ओवैसी की सभा।
Publish Date:Fri, 30 Oct 2020 04:47 PM (IST) Author: Dilip Kumar Shukla

भागलपुर, जेएनएन।  Asaduddin Owaisi election meeting in Bhagalpur : बीते 30 वर्षो से राज्य की जनता हासिए पर है। विकास के बजाय यह राज्य लगातार पिछड़ता चला जा रहा है। सबने सुबे के लोगों को ठगने का काम किया है। उक्त बातें शुक्रवार को नाथनगर के चर्च मैदान में एआइएमआइएम सुप्रीमो असदुद्दीन ओवैसी ने भागलपुर विधानसभा से रालोसपा प्रत्याशी, नाथनगर विधानसभा से बसपा प्रत्याशी  के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कही। ओवैसी की सभा में हजारों की संख्या में लोग उपस्थित थे।

उन्होंने कहा कि भागलपुर की सरजमीं पर इतनी बड़ी तादात में नौजवान आए हैं, उन्हें हम बताना चाहते हैं कि एक बार गैर सेक्युलर गठबंधन के प्रत्याशियों को वोट देकर जीताएं। राज्य विकास की ओर आगे बढ़ेगा। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस, राजद और भाजपा पर जमकर जुबानी प्रहार किया। 1989 के दंगे का जिक्र करते हुए ओवैसी ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। कहा, कांग्रेस ने अपने शासन में बहुत जुर्म किया था। आज भागलपुर के खेतों में हजारों लाशें अब भी दफन है, जिन्हेंं इंसाफ नहीं मिला। तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने तत्कालीन एसपी द्विवेदी साहब को ससपेंड कर दिया और फिर संघ परिवार के दबाव में उनका सस्पेंशन वापस ले लिया गया। उसके बाद जो यहां दंगा-फसाद और नंगा नाच हुआ, एक हजार से पंद्रह सौ लोगों को कत्लेआम कर खेतों में दफना दिया गया। उस वक्त केंद्र और राज्य में कांग्रेस की ही सरकार थी। पर आज तक दंगा पीडि़तों को इंसाफ नहीं मिला। वहीं, जब राज्य में राजद की सरकार आई तो उन्होंने भी दंगा के आरोपितों पर कोई कार्रवाई नहीं की, क्योंकि वो सब उनके अपने खास लोग थे।

नीतीश कुमार के राज में दंगे के समय के तत्कालीन पुलिस कप्तान एस के द्विवेदी को बिहार का डीजीपी बना दिया। नीतीश के पंद्रह साल के कार्यकाल पर तंज कसते हुए ओवैसी ने कहा कि इन्होंने बिहार को बदहाली की ओर धकेल दिया। जबकि, कांग्रेस और उसके नेतृत्व को नाकाम बताते हुए केंद्र की मोदी सरकार को आगे बढ़ाने का आरोप लगाया। कांग्रेस के वोटर मोदी भक्ति में लीन होकर भाजपा को वोट करते हैं। उन्होंने कहा कि जब अकलियतों की बात आती है, तो इस हमाम में सब नंगे हैं। जदयू और राजद के 30 साल के कार्यकाल ने बिहार की जनता को हासिए पर लाकर खड़ा कर दिया।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.