अब्दुलबारी सिद्दीकी बने बिहार बैडमिंटन एसोसिएशन के अध्यक्ष, पांच उपाध्यक्ष व तीन एसोसिएट उपाध्यक्ष भी मनोनीत

राजद नेेता अब्दुलबारी सिद्दीकी पहुंचे भागलपुर। साथ ही स्‍थानीय नेता।

बिहार बैडमिंटन एसोसिएशन कमेटी में पांच उपाध्यक्ष तीन एसोसिएट उपाध्यक्ष एक जनरल सचिव दो सचिव एक ट्रेजरर दो संयुक्त सचिव और 10 कार्यकारी सदस्य बनाए गए। भागलपुर के सत्यजीत सहाय सचिव (इवेंट) और राजेश नंदन बनाए गए कार्यकारी सदस्य। अब्दुलबारी सिद्दीकी ने एनडीए सरकार की आलोचना की।

Dilip Kumar ShuklaMon, 12 Apr 2021 03:12 PM (IST)

जागरण संवाददाता, भागलपुर। बिहार बैडमिंटन एसोसिएशन की नई कमेटी रविवार को घोषित कर दी गई। नई कमेटी का अध्यक्ष अब्दुल बारी सिद्दीकी को बनाया गया है। कमेटी में पांच उपाध्यक्ष, तीन एसोसिएट उपाध्यक्ष, एक जनरल सचिव, दो सचिव, एक ट्रेजरर, दो संयुक्त सचिव, और 10 कार्यकारी सदस्य बनाए गए हैं। 

उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी जेड अहमद, गया के राजद सिजौर, कटिहार के डॉ. जीएस अहमद, जमुई के डॉ. मनोज कुमार सिन्हा, समस्तीपुर के पंकज कुमार को मिली है। एसोसिएट उपाध्यक्ष के रूप में पटना के सेवानिवृत आइपीएस उपेंद्र कुमार सिन्हा, पूर्णिया के रमेश चंद्र अग्रवाल, औरंगाबाद के लक्ष्मी गुप्ता होंगे। सचिव की जिम्मेवारी केएन जायसवाल को मिली है। 

सचिव (इवेंट) भागलपुर के सत्यजीत सहाय होंगे। सचिव (कोचिंग) के रूप में समस्तीपुर के नवीन कुमार सिंह होंगे। टे्रजरर गोपालगंज के विजय कुमार राय को बनाया गया है। तकनीकी सलाहकार का चुनाव नहीं हो सका। संयुक्त सचिव के रूप में मुजफ्फरपुर के अमिताभ सिन्हा, इस्ट चंपारण के त्रिलोक कुमार होंगे। 

कार्यकारी सदस्य के रूप में मधुबनी के सुरेश भारोलिया, मुंगेर के बिरेंद्र भारती, सिवान के सुभाष सिन्हा, वैशाली के जय प्रकाश, जहानाबाद के विनोद कुमार सिंह, कटिहार के संजीव कुमार सिंह, नालंदा के मासूम हसन, दरभंगा के विजय कुमार झा, भागलपुर के राजेश नंदन और खगडिय़ा के जैनेन्द्र नाहर होंगे। 

एनडीए के कार्यकाल में महंगाई और बेरोजगारी बढ़ी

रोजगार के नाम पर ठगा जा रहा है लोगों को बैडमिंटन संघ के चुनाव में भागलपुर पहुंचे राजद के राष्ट्रीय प्रधान सचिव सह संघ के प्रदेश अध्यक्ष अब्दुलबारी सिद्दिकी ने कहा कि एनडीए की सरकार में महंगाई चरम पर है। रोजगार के नाम पर नौजवानों को ठगा जा रहा है। बेरोजगारों की संख्या काफी बढ़ी है। सिद्दिकी रविवार को शहर के एक होटल में संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे। पीएम पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि सरकारी संस्थानों को पूंजीपतियों के हाथों में बेचा जा रहा है। देश आर्थिक संकट की दौर से गुजर रहा है। रसोई गैस, डीजल, पेट्रोल और खाद्य पदार्थ की कीमत में काफी इजाफा हो गया है। उन्होंने कहा कि राजद गरीबों की पार्टी है। उनकी पार्टी चुप नहीं रहेगी। उन्होंने कहा कि किसान कई माह से आंदोलन कर रहे हैं, इसके बाद भी केंद्र की सरकार कोई उपाय नहीं कर रही है। सूबे में अपराध का ग्राफ काफी तेजी से बढ़ गया है। सुशासन की सरकार अपराध रोकने में विफल साबित हो रही है। शराबबंदी कानून पूरी तरफ फेल है। पंचायत स्तर पर शराब की धड़ल्ले से कालाबाजारी हो रही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कार्यकाल में विधानसभा में विधायकों से मारपीट की घटना काफी दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं से भी रणनीति पर चर्चा की। इस मौके पर राजद के प्रदेश महासचिव डॉ. चक्रपाणि हिमांशु, सुनील सिंह और गौतम बनर्जी मौजूद थे। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.