गंगा में स्नान के दौरान डूबने से अधेड़ समेत दो की मौत

बेगूसराय। दो अलग-अलग थाना क्षेत्र में स्नान के दौरान डूबने से एक अधेड़ व एक किशोर की मौत हो गई। शुक्रवार की अलसुबह बछवाड़ा थाना क्षेत्र के रसीदपुर निवासी रामाश्रय चौधरी के 47 वर्षीय पुत्र पप्पू चौधरी नदी में स्नान के दौरान डूब गए। वहीं साहेबपुर कमाल थाना क्षेत्र के फुलमलिक में नाना के श्राद्धकर्म के दौरान गंगा की उपधारा में स्नान के दौरान 15 वर्षीय निशांत की डूबने से मौत हो गई। स्थानीय लोगों ने तैराकों की मदद से दोनों शव को बाहर निकाला। घटना की जानकारी मिलते ही स्वजनों में कोहराम मचा है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा स्वजनों को सौंप दिया है।

JagranFri, 24 Sep 2021 06:26 PM (IST)
गंगा में स्नान के दौरान डूबने से अधेड़ समेत दो की मौत

बेगूसराय। दो अलग-अलग थाना क्षेत्र में स्नान के दौरान डूबने से एक अधेड़ व एक किशोर की मौत हो गई। शुक्रवार की अलसुबह बछवाड़ा थाना क्षेत्र के रसीदपुर निवासी रामाश्रय चौधरी के 47 वर्षीय पुत्र पप्पू चौधरी नदी में स्नान के दौरान डूब गए। वहीं साहेबपुर कमाल थाना क्षेत्र के फुलमलिक में नाना के श्राद्धकर्म के दौरान गंगा की उपधारा में स्नान के दौरान 15 वर्षीय निशांत की डूबने से मौत हो गई। स्थानीय लोगों ने तैराकों की मदद से दोनों शव को बाहर निकाला। घटना की जानकारी मिलते ही स्वजनों में कोहराम मचा है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा स्वजनों को सौंप दिया है।

रोज की तरह स्नान करने गए थे पप्पू चौधरी :

बछवाड़ा थाना क्षेत्र के रसीदपुर निवासी पप्पू चौधरी शुक्रवार की अलसुबह रोज की तरह नदी में स्नान करने गए थे। स्नान करने के क्रम में उनका पांव फिसल गया और वे गहरे पानी में चले गए। घंटों बाद तक घर नहीं लौटने पर स्वजनों ने उनकी खोजबीन की। पानी में शव मिलते ही ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। ग्रामीणों ने काफी मशक्कत के बाद शव को गहरे पानी से बाहर निकाला। मृतक अपने घर के एकमात्र कमाने वाले सदस्य थे। उनके निधन से पत्नी, दो पुत्र एवं एक पुत्री के जीवन यापन पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। स्वजनों को आपदा विभाग द्वारा मुआवजा की राशि मिलेगी। नाना के श्राद्धकर्म में शामिल होने आया था निशांत :

दनौली फलवड़िया के जगदीशपुर निवासी ढोकन राय के 15 वर्षीय पुत्र निशांत कुमार अपने नाना के श्राद्ध कर्म में फुलमलिक गांव स्थित अपने ननिहाल आया था। शुक्रवार की सुबह वह स्वजनों के साथ फुलमलिक घाट पर गंगा की उपधारा में स्नान करने गया था। स्नान के दौरान पैर फिसल जाने से वह गहरे पानी में चला गया और डूबने से उसकी मौत हो गई। गोताखोरों के अथक प्रयास के बाद उसका शव बाहर निकाला गया। तत्काल उसे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। घटना से स्वजनों में कोहराम मचा रहा। एसडीआरएफ की टीम ने 24 घंटे बाद निकाला शव

बखरी। गुरुवार को बहुआरा गांव निवासी मुंशी सहनी के 45 वर्षीय पुत्र की मौत परिहारा के पास बूढ़ी गंडक नदी में डूबने से हो गई थी। घटना के 24 घंटे बाद एसडीआरएफ की टीम ने नदी से शव को निकाला। गुरुवार की शाम पांच बजे शाम तक स्थानीय गोताखोरों के सहयोग से शव की खोजबीन की गई थी। परंतु, शव नहीं निकाल पाया। मौके पर पहुंचे सीओ शिवेंद्र कुमार तथा प्रखंड उप प्रमुख अमित देव ने सिमरिया से एसडीआरएफ की टीम को बुलवाई। शुक्रवार की दोपहर ज्ञानी सहनी का शव नदी के गहरे पानी से निकाला गया। शव निकलते ही देखने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी।

बताते चलें कि गुरुवार को ज्ञानी सहनी अपने दोस्तों के साथ परिहारा के पास बूढ़ी गंडक नदी में मछली मारने गए थे। जाल बिछाने के दौरान वे गहरे पानी में चले गए और डूब गए। मौके पर पहुंचे ओपी प्रभारी सीपी महतो ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बेगूसराय भेज दिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.