शहीद लेफ्टिनेंट ऋषि की श्रद्धांजलि सभा में जुटे आम व खास

बेगूसराय। देश सेवा व रक्षा के लिए समर्पित परिवार के इकलौते चिराग शहीद लेफ्टिनेंट ऋषि कुमार की शहादत बेकार नहीं जाएगी। उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि देने के लिए दलगत व जातीय भावना से ऊपर उठकर एकजुट होना होगा। शहीद के नाम पर सिर्फ सड़क का ही नामकरण नहीं होगा बल्कि जीडी कालेज के समीप स्थित चौक शहीद ऋषि के नाम से होगा।

JagranSat, 13 Nov 2021 07:46 PM (IST)
शहीद लेफ्टिनेंट ऋषि की श्रद्धांजलि सभा में जुटे आम व खास

बेगूसराय। देश सेवा व रक्षा के लिए समर्पित परिवार के इकलौते चिराग शहीद लेफ्टिनेंट ऋषि कुमार की शहादत बेकार नहीं जाएगी। उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि देने के लिए दलगत व जातीय भावना से ऊपर उठकर एकजुट होना होगा। शहीद के नाम पर सिर्फ सड़क का ही नामकरण नहीं होगा बल्कि जीडी कालेज के समीप स्थित चौक शहीद ऋषि के नाम से होगा। इसके साथ ही शहर के टेढीनाथ मंदिर के समीप स्थित शहीद स्थल में भी उनका नाम जोड़ा जाएगा। उक्त बातें कालीनगर रतनपुर में आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए ग्रामीण विकास व पंचायती राज मंत्री सह सांसद गिरिराज सिंह ने संबोधन में कहीं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीते सात साल से सेना के सम्मान व उनका मनोबल बढ़ाने के लिए ना सिर्फ उनके साथ दीपावली मना रहे हैं बल्कि सेना को आधुनिक तकनीक से भी लैस कर रहे हैं। अवकाश प्राप्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश दिनेश कुमार की अध्यक्षता में आयोजित इस श्रद्धांजलि सभा में बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने शहीद के तैलचित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। उन्होंने कहा कि देश की सीमा पर शहादत देने वाले वीरों की बदौलत ही देशवासी अपने घरों में चैन की नींद सोते हैं। ऋषि की शहादत से देश गौरवांवित है। देश व समाज के लिए समर्पित होने वाले शहीदों के परिवार के प्रति सम्मान कायम रखना हम सबकी जिम्मेदारी है। जदयू संसदीय दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने ऋषि की शहादत को नमन करते हुए कहा कि यह क्षण दुख और गौरव दोनों का है। शहीद ऋषि देश वासियों व युवाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत बने रहेंगे। पूर्व सांसद सह माध्यमिक शिक्षक संघ के राज्याध्यक्ष शत्रुघ्न प्रसाद सिंह ने कहा कि आतंकवाद के खात्मे को राष्ट्रीय नीति बनाना ही शहादत के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। निवर्तमान मेयर उपेंद्र प्रसाद सिंह ने शहीद को नमन करते हुए कहा कि सरकार शहादत का बदला गिन-गिन कर लेगी। पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने शहादत को गर्व का विषय बताते हुए शोकसंतप्त परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की। पूर्व मेयर सह आयोजन समिति के अध्यक्ष संजय कुमार ने कहा कि 30 अक्टूबर की मनहूस शाम को शहादत की खबर मिलते दुख व गौरव की अनुभूति होने लगी और 22 किलोमीटर की अंतिम यात्रा में युवा दौड़ते रहे। विधान पार्षद रजनीश कुमार ने कहा कि स्वतंत्रता की लड़ाई से लेकर अब तक जिलेवासियों ने शहादत देने का काम किया। श्रद्धांजलि सभा को जहानाबाद के पूर्व सांसद अरुण कुमार, मटिहानी विधायक राजकुमार सिंह, लखीसराय के पूर्व विधायक फुलेना सिंह, लोजपा जिलाध्यक्ष प्रेम कुमार, भाजपा जिलाध्यक्ष राजकिशोर सिंह, जदयू जिलाध्यक्ष रूदल राय, प्रोफेसर अंजनी कुमार, जवाहर लाल भारद्वाज, विष्णुदेव सिंह, बबन कुमार पवन, मृत्युंजय वीरेश, सुमित सन्नी समेत अन्य लोगों ने संबोधित किया। मंच संचालन सांसद प्रतिनिधि अमरेंद्र कुमार अमर ने किया। मौके पर राजद नेता अशोक यादव, राजद जिलाध्यक्ष मोहित यादव समेत बड़ी संख्या में आम व खास लोगों की मौजूदगी रही। इस अवसर पर शहीद ऋषि के स्वजन मेजर अमित कुमार ने जदयू संसदीय दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा को मुख्यमंत्री के नाम पर मांग पत्र सौंपा। उन्होंने हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। मांग पत्र में स्वजन को सरकारी नौकरी व अन्य मदद की घोषणा करने की बात कही गई है। समारोह स्थल पर संत जोसेफ की छात्राओं ने रंगोली के माध्यम से अपनी भावनात्मक कल्पनाशीलता उकेर कर शहीद को श्रद्धांजलि दी। वहीं कलाकारों द्वारा शहीद के सम्मान में कई कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.