जुआरियों के बीच हुए गैंगवार में दो की मौत से इलाके में दहशत

बेगूसराय। शुक्रवार की अलसुबह लोहियानगर ओपी क्षेत्र के बाघी में जुआरियों के बीच हुए गैंगवार में दो की मौत व तीन के घायल होने से क्षेत्र में सनसनी है। हत्या के 12 घंटे बाद भी मोहल्ले के लोग सहमे हैं। बीच-बीच में महंगी बाइक पर सवार बाइकर्स मोहल्ले में चहलकदमी कर रहे हैं। घटनास्थल के समीप शुक्रवार की शाम तक खून के धब्बे पर उड़ते कौए लावारिश पड़ी हवाई चप्पल इधर उधर बिखरे ताश के पत्ते व खेत में पड़ी चटाई वारदात की भयावहता को खुद बयां कर रहा है।

JagranFri, 05 Nov 2021 06:55 PM (IST)
जुआरियों के बीच हुए गैंगवार में दो की मौत से इलाके में दहशत

बेगूसराय। शुक्रवार की अलसुबह लोहियानगर ओपी क्षेत्र के बाघी में जुआरियों के बीच हुए गैंगवार में दो की मौत व तीन के घायल होने से क्षेत्र में सनसनी है। हत्या के 12 घंटे बाद भी मोहल्ले के लोग सहमे हैं। बीच-बीच में महंगी बाइक पर सवार बाइकर्स मोहल्ले में चहलकदमी कर रहे हैं। घटनास्थल के समीप शुक्रवार की शाम तक खून के धब्बे पर उड़ते कौए, लावारिश पड़ी हवाई चप्पल, इधर उधर बिखरे ताश के पत्ते व खेत में पड़ी चटाई वारदात की भयावहता को खुद बयां कर रहा है।

स्थानीय लोग बताते हैं कि बाघी वार्ड 25 के मुनि बाबा ठाकुरबाड़ी के समीप एक भूखंड में बीते एक पखवाड़े से जुआरियों का जमावड़ा लग रहा था। दीपावली की रात भी पन्हास के कुछ भू माफिया युवक जुआ पर लाखों का दांव लगा रहे थे। इसी दौरान जुआरियों के दो गुटों में हार-जीत को लेकर विवाद शुरू हुआ। एक पक्ष ने विवाद होने पर अपने पक्ष के लोगों को मौके पर बुलाया था, इसके बाद दोनों पक्ष के बीच गोलीबारी शुरू हो गई। दीपावली की रात पटाखों के बीच दोनों तरफ से दर्जनों चक्र गोलियां दागी गई। पुलिस ने मौके से अलग-अलग बोर के कारतूस भी बरामद किये है, लेकिन उनके हथियार मौके से गायब थे। पुलिस ने मृतकों की पैंट की जेब से भी कारतूस बरामद किया है। पुलिस अभी जब्ती सूची का खुलासा करने से परहेज कर रही है। डीएसपी ने की जांच पड़ताल, दिया निर्देश :

घटना की जानकारी मिलते ही सदर डीएसपी अमित कुमार ने घटनास्थल पर मामले की जांच पड़ताल की है। मुफस्सिल थानाध्यक्ष राजीव कुमार लाल, नगर थाना के दारोगा वरुण कुमार के साथ उन्होंने सदर अस्पताल पहुंच मृतक के स्वजनों व निजी अस्पताल में भर्ती घायलों का हाल भी जाना है। उन्होंने जांच पड़ताल व पूछताछ के बाद लोहियानगर पुलिस को घायलों का बयान दर्ज करने, मोबाइल डिटेल खंगालने समेत कई अन्य निर्देश दिये है। वरीय अधिकारियों का निर्देश मिलते ही लोहियानगर ओपीध्यक्ष अंबिका प्रसाद घायलों का फर्द बयान दर्ज करने व पूछताछ के आधार पर घटना में संलिप्त अन्य बदमाशों का सुराग तलाशने में लगे हैं।

रणधीर महतो गिरोह के थे दोनों मृतक :

पुलिस व स्थानीय सूत्र की मानें तो गोलीबारी में दोनों मृतक आपराधिक प्रवृति के थे। नागदह निवासी हरदेव महतो का पुत्र पंकज कुमार कुख्यात रणधीर महतो का चचेरा भाई था और उसके जेल जाने के बाद गिरोह संचालन समेत अलग-अलग जगहों से वसूली की जिम्मेदारी संभाल रहा था वहीं दूसरा मृतक संतोष शूटर है। समस्तीपुर जिले के विभूतिपुर थाना स्थित खोखसाहा निवासी संतोष तीन वर्ष पूर्व जेल से निकलने के बाद नागदह में रणधीर महतो की सरपरस्ती से रह रहा था। समस्तीपुर जिले में इसके खिलाफ आधा दर्जन के करीब आपराधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस दोनों का आपराधिक इतिहास खंगाल रही है।

सड़क पर थी गश्ती जीप व मोहल्ले में होती रही गोलीबारी:

दीपावली को लेकर लोहियानगर पुलिस रात भर गश्ती कर रही थी। स्थानीय लोग घटना का समय सुबह दो से तीन बजे के बीच बताते हैं जबकि पुलिस को हत्या की सूचना चार बजे के बाद मिली। लोहियानगर ओपीध्यक्ष अंबिका प्रसाद की मानें तो वे स्वयं सुबह चार बजे तक गश्त में थे। गश्ती से थाना लौटने पर उन्हें हत्या की जानकारी मिली, इसके बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। स्थानीय लोगों की मानें तो जुआरियों के दो गुटों के बीच जब गोलीबारी हो रही थी, लोहियानगर पुलिस की गश्ती जीप गांधी चौक व मिलन चौक के आसपास ही थी। मुख्य सड़क से घटनास्थल की दूरी मुश्किल से 500 मीटर है और पुलिस लगातार हुए दर्जनों चक्र गोलीबारी की आवाज नहीं भांप सकी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.