शहीद ऋषि के सम्मान में उमड़ा जनसैलाब, बेगूसराय से सिमरिया तक गूंजे नारे

शनिवार को जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा से सटी अग्रिम चौकी के पास आइडी विस्फोट में शहीद लेफ्टिनेंट ऋषि कुमार का पार्थिव शरीर रविवार की रात करीब एक बजे उनके पीपरा स्थित आवास पर पहुंचा।

JagranMon, 01 Nov 2021 10:50 PM (IST)
शहीद ऋषि के सम्मान में उमड़ा जनसैलाब, बेगूसराय से सिमरिया तक गूंजे नारे

जागरण संवाददाता, बेगूसराय : शनिवार को जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा से सटी अग्रिम चौकी के पास आइडी विस्फोट में शहीद लेफ्टिनेंट ऋषि कुमार का पार्थिव शरीर रविवार की रात करीब एक बजे उनके पीपरा स्थित आवास पर पहुंचा। पटना एयरपोर्ट से सेना के जवानों ने विशेष वाहन से सड़क मार्ग से बेगूसराय लाया। पार्थिव शरीर घर पहुंचते ही मां-पिता व स्वजनों के चित्कार से माहौल गमगीन हो गया। जिलेवासियों के लिए अंतिम दर्शन को शहीद ऋषि का पार्थिव शरीर सुबह सात बजे जीडी कालेज लाया गया, जहां हजारों की संख्या में आम व खास लोगों ने श्रद्धा पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। अंतिम दर्शन के बाद फूलों से सुसज्जित वाहन से उनकी शव यात्रा सिमरिया के लिए निकली। राष्ट्रभक्ति नारों के साथ पाकिस्तान मुर्दाबाद के गगनभेदी नारों के साथ निकली अंतिम यात्रा के दौरान बेगूसराय से सिमरिया तक हर आयुवर्ग के लोग उनके अंतिम दर्शन को उमड़ते रहे। रास्ते में स्कूली बच्चों ने जहां पुष्प वर्षा कर उन्हें अंतिम विदाई दी। वहीं शहादत से स्वप्रेरित उत्साही युवाओं का हुजूम शव वाहन के साथ-साथ रास्ते भर दौड़ते रहे।

गम व शौर्य के अहसास के बीच हर कोई अंतिम दर्शन को आतुर :

शहादत के गम व शौर्य के अहसास के बीच हर कोई अंतिम दर्शन को आतुर दिखा। बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं, स्वजनों, जनप्रतिनिधियों, सामाजिक राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने जीडी कालेज पहुंच शहीद ऋषि के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें अंतिम विदाई दी। जीडी कालेज से शव यात्रा निकलते ही जहां सड़कों पर हजारों युवा राष्ट्रभक्ति से ओत प्रोत नारेबाजी करते रहे। वहीं सड़क किनारे मकानों व दुकानों की छतों पर बड़ी संख्या में शहरवासियों ने अंतिम दर्शन किया और अपने-अपने मोबाइल में गर्व के इस क्षण को कैद किया।

अपने बचपन के दोस्त व सहपाठी को यादकर भावुक हुए सुशांत :

सेंट पाल स्कूल के छात्रों ने अपने सीनियर शहीद ऋषि को भावपूर्ण विदाई दी। वहीं शहीद ऋषि के सहपाठी सुशांत ने क्लास दसवीं तक एक बैंच पर बैठकर पढ़ने व खाने पीने की बात कर भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि ऋषि शुरू से सेना में जाना चाहते थे इसके लिए लगातार मेहनत करते थे। दोनों में बहुत घनिष्ठ दोस्ती थी। पढ़ने में बहुत अच्छे थे इसलिए शिक्षकों का हमेशा चहेता रहे। कभी कोई परेशानी होती थी जरूर शेयर करते थे। पढ़ाई में बहुत मदद मिलती थी।

जब तक सूरज चांद रहेगा ऋषि तेरा नाम रहेगा :

शहीद लेफ्टिनेंट ऋषि कुमार की अंतिम यात्रा के दौरान बेगूसराय के जीडी कालेज के मैदान से लेकर सिमरिया गंगा तट तक गगनभेदी नारे गूंजते रहे। जबतक सूरज चांद रहेगा ऋषि तेरा नाम रहेगा, भारत माता की जय व वंदे मातरम के साथ युवाओं में पाकिस्तान, पाकिस्तान परस्त आतंकवाद व देश के अंदर छिपे गद्दारों के प्रति गुस्सा और उबाल दिखा।

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह व उद्योग मंत्री शाहनवाज पहुंचे जीडी कालेज :

शहीद ऋषि के शहादत को नमन करने केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह व सूबे के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन जीडी कालेज पहुंचे और पाकिस्तान व पाकिस्तान परस्त आतंकवाद पर जमकर प्रहार किया। शहीद के पार्थिव शरीर पर श्रद्धा सुमन अर्पित करने के बाद मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा कि सरकार सब कुछ देख रही है, मोदी सरकार कड़ी कार्रवाई कर रही है। देश के लिए सर्वोच्च शहादत देने वाले लेफ्टिनेंट ऋषि की शहादत को कभी भुलाया नहीं जा सकता। सरकार पाकिस्तान व पाकिस्तान परस्त आतंकवाद का जल्द सफाया करेगी। शहीद ऋषि पर सिर्फ बेगूसराय ही नहीं, बिहार और पूरे देश को नाज है। इस दौरान विधायक कुंदन कुमार, विधायक रामरतन सिंह, पूर्व विधान पार्षद रजनीश कुमार, सांसद प्रतिनिधि अमरेंद्र कुमार अमर, जदयू नेता सुदर्शन सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष राजकिशोर सिंह, जदयू जिलाध्यक्ष रूदल राय, प्राचार्य राम अवधेश कुमार, पूर्व जिलाध्यक्ष भूमिपाल राय, पूर्व मेयर उपेंद्र प्रसाद सिंह, पूर्व मेयर संजय सिंह, पूर्व विधायक बोगो सिंह, शिक्षक नेता सुरेश राय, जदयू नेता मुकेश जैन, भाजपा नेता मृत्युंजय कुमार वीरेश, इनसेट:

छह जगहों पर तैनात किए गए दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारी

जागरण संवाददाता, बेगूसराय : लेफ्टिनेंट ऋषि की शहादत की खबर फैक्स द्वारा बेगूसराय जिला प्रशासन को दी गई। लेफ्टिनेंट कर्नल हिरेंद्र शर्मा द्वारा फैक्स से सूचना मिलने के बाद डीएम अरविद कुमार वर्मा व एसपी अवकाश कुमार ने संयुक्त आदेश जारी कर शहीद के बेगूसराय पीपरा स्थित आवास से लेकर सिमरिया घाट तक कुल छह जगहों पर दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी व लाठीधारी पुलिस बल को तैनात किया गया था।

जीडी कालेज में अंतिम दर्शन को उमड़ने वाली भीड़ व अंतिम यात्रा के दौरान भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सदर एसडीओ रामानुज प्रसाद सिंह, सदर डीएसपी अमित कुमार के नेतृत्व में छह जगहों पर दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारी व पुलिस बल की तैनाती की गई। शहीद के पीपरा स्थित आवास पर बीडीओ सुदामा प्रसाद, नगर थाना के पुअनि वरूण कुमार समेत 30 लाठी बल, जीडी कालेज मैदान में जिला योजना पदाधिकारी उमानाथ झा, नगर थाना के पुअनि ज्योति कुमार समेत 30 लाठी बल, हरहर महादेव चौक पर पथ प्रमंडल के सहायक अभियंता सत्येन्द्र पाठक, पुलिस केंद्र से पुअनि सुरेश रजक समेत 10 लाठी बल, जीरोमाइल में ग्रामीण कार्य विभाग के कनीय अभियंता अनुज कुमार सिंह, जीरोमाइल ओपी के पुअनि उदय शंकर कुमार समेत 15 लाठी बल, सिमरिया एनएच-31तीन मुहानी पर ग्रामीण कार्य विभाग के कनीय अभियंता सुधीर कुमार, पुलिस केंद्र से पुअनि मेराज अहमद समेत 10 लाठी बल, सिमरिया घाट पर बरौनी सीओ सुजीत सुमन, बीहट नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी मो. नसीउद्दीन खां, चकिया ओपीध्यक्ष पुअनि दिवाकर प्रसाद सिंह समेत 30 लाठी बल की तैनाती की गई।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.