दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

बारिश से पूरे जिले की बिजली व्यवस्था ठप

बारिश से पूरे जिले की बिजली व्यवस्था ठप

बेगूसराय। बुधवार को हुई जोरदार बारिश से पूरे जिले की जनजीवन अस्तव्यस्त हो गई। सड़कों पर जलजमाव हो गया है। जिले की बिजली व्यवस्था ठप हो गई।

JagranWed, 12 May 2021 11:04 PM (IST)

बेगूसराय। बुधवार को हुई जोरदार बारिश से पूरे जिले की जनजीवन अस्तव्यस्त हो गई। सड़कों पर जलजमाव हो गया है। जिले की बिजली व्यवस्था ठप हो गई। कई जगहों पर पोल उखड़ गया। परंतु, फसलों को बारिश से फायदा हुआ है।

बछवाड़ा : प्रखंड क्षेत्र में बुधवार को हुई बारिश से ग्रामीण सड़कों समेत निचले इलाकों में पानी जमा होने से आवागमन में लोगों को परेशानी हुई। एनएच 28 मल्लिक ढाला से चमथा दियारा को जोड़ने वाली सड़क पर कीचड़ जमा होने से लोगों को आवाजाही में भारी कठिनाई झेलनी पड़ी। एनएच 28 से झमटिया पुल होकर श्रवण टोल गांव तक संपूर्ण सड़क पर कीचड़ जमा रहने से लोग गिरकर घायल हो रहे हैं। एक बोलेरो फिसल कर गड्ढे में चली गई। इस घटना में तीन व्यक्ति घायल हो गए। ग्रामीणों की तत्परता से ट्रैक्टर की मदद से बोलेरो को बाहर निकाला गया एवं बोलेरो में फंसे लोगों को तत्काल ग्रामीण चिकित्सक से उपचार करवा कर घर भेज दिया गया।

मंझौल : घंटे भर की बारिश में अनुमंडल मुख्यालय मंझौल की कई सड़कों पर जलजमाव हो गया। मंझौल मुख्य बाजार, पंचमहला टोला से नित्यानंद चौक जाने वाली सड़क और नित्यानंद चौक से खुटन टोला, पुस्तकालय से संगत चौक एवं पबरा घाट से मुर्गी फॉर्म जाने वाली सड़कों पर जलजमाव हो गया है। जलनिकासी की मुक्कलमल व्यवस्था के अभाव में लोगों को पानी से होकर ही आने जाने की नौबत है। जलजमाव का मुख्य कारण एसएच 55 के दोनों ओर बने नाला का उड़ाही नहीं होना बताया जाता है। मंझौल और पबरा की आबादी लगभग एक लाख होने के बाद भी नगर निकाय नहीं बनना इसका मुख्य कारण है। अनुमंडल बनने के 30 वर्षों बाद भी यहां का अपेक्षित विकास नहीं हो पाया है।

गढ़पुरा : करीब आधे घंटे तक तेज हवा के साथ हुई मूसलाधार बारिश से कुछ देर के लिए जनजीवन ठप हो गया। गली-मोहल्ले में पानी के बहाव की व्यवस्था नहीं रहने से सड़कों पर बारिश का पानी जमा हो गया है। स्थानीय लोगों का कहना है कि सरकार की सात निश्चय योजना के तहत गली नाली के काम में स्थानीय अधिकारियों ने लापरवाही बरती। इससे योजना सफल नहीं हुई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.