बैंकों में लटके रहे ताले, 50 करोड़ का कारोबार प्रभावित

बैंकों में लटके रहे ताले, 50 करोड़ का कारोबार प्रभावित

बांका। केंद्रीय ट्रेड यूनियन के आह्वान पर देश व्यापाी हड़ताल के तहत गुरुवार को बांका जिले में विभिन्न संगठनों ने हड़ताल को सफल होने का दावा किया है।

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 09:42 PM (IST) Author: Jagran

बांका। केंद्रीय ट्रेड यूनियन के आह्वान पर देश व्यापाी हड़ताल के तहत गुरुवार को बांका जिले में विभिन्न संगठनों ने हड़ताल को सफल होने का दावा किया है। महासंघों के आह्वान पर डाकघर एवं उपडाकघर बद रहे। स्टेट बैंक को छोड़ सभी बैंकों के बंद रहने से करीब 50 करोड़ का कारोबार बाधित रहा। इससे दौरान लोगों को काफी परेशानी हुई।

इंटक के जिलाध्यक्ष विनय कापरी के नेतृत्व में पार्टी कार्यालय से गांधी चौक होते हुए समाहरणालय के समक्ष विरोध प्रदर्शन किया। मौके पर महिला जिलाध्यक्ष रेखा सोरेन, चंदन सिंह, बालेश्वर ठाकुर, मनीष घोष, मुरारी साह, अंजनी सिंह, गीता देवी सहित अन्य लोग शामिल हुए। इधर अखिल भारतीय ग्रामीण डाक संघ के अध्यक्ष दीपक कुमार सिंह, अंजनी कुमार सिंह, राजेश कुमार रंजन, मु. सलीम अंसारी, सुनील झा, सुबोध कुमार पंडित आदि ने भाग लिया। पुराना अस्पताल परिसर गांधी चौक के पास बिहार चिकित्सा एवं जनस्वास्थ्य संघ ने प्रदर्शन किया। संघ के जिला मंत्री अजय कुमार चौहान, महासंघ के जिलामंत्री सनत कुमार ठाकुर, चित्रधर सिंह, सुबोध यादव, उपेंद्र यादव, रीना कुमारी, सोमी कुमारी व मनोज कुमार आदि शामिल हुए।

ग्रामीण डाक संघ के अध्यक्ष दीपक कुमार सिंह ने बताया कि हमलोग अपनी नौ सूत्री मांग को लेकर एक दिवसीय हड़ताल पर है। उन्होंने बताया कि हमारी प्रमुख मांग ग्रामीण डाक सेवकों का विभागीय करण की जाए,समय पर क्रमश: 12, 24 एवं 36 वर्षों पर प्रोन्नित, जीडीएस को 180 दिनों की छुट्टी जमा कर अवकाश प्राप्ति पर भुगतान, ग्रामीण डाक सेवकों को स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करना, कर्मचारियों को बंद डीए और डीआर को पुन: चालू किया जाए, समूह बीमा योजना को बढ़ाकर पांच लाख करने सहित अन्य मांगें शामिल है।

प्रधान डाकपाल ने कहा कि केंद्र सरकार की नीती कर्मचारी विरोधी है। यदि हमारी मांगों को अविलंब नहीं माना गया तो हमलोग अनिश्चित कालीन हड़ताल करेंगे। इस दौरान उन्होंने पीएम और वित्त मंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान प्रधान डाकघार के सभी कर्मचारी मौजूद थे।

--------

बैंक बंद रहने से कामकाज रहा बाधित

सरकार के बैंकिग नीति के विरोध में बैंक कर्मचारी संघ हड़ताल पर रहे। स्टेट बैंक हड़ताल से अलग रहा। जिले के लगभग सभी बैंक एवं डाक घर बंद रहने से लोगों को काफी परेशानी हुई। एलडीएम आरएन चौधरी ने बताया कि बैंक बंद रहने से जिले में लगभर 50 करोड़ रुपये से अधिक का कारोबार प्रभारित हुआ है।

--------

राजद कार्यकर्ताओं ने शहर में निकाला जुलूस

संघ के समर्थन में राजद कार्यकर्ता ही कुछ देर के लिए सड़क पर दिखाई दिए। बैंक कर्मियों ने भी शाखा को बंद रख कर बाहर मांगों को लेकर प्रदर्शन किया। राजद जिलाध्यक्ष अर्जुन ठाकुर की अगुआई में करीब एक दर्जन कार्यकर्ताओं ने पूरे शहर में प्रदर्शन किया। जिलाध्यक्ष ने बताया कि सरकार के किसान विरोध कानून में किसानों के लिए कई समस्याएं है। सरकार को अविलंब इस कानून को खत्म करना चाहिए। बैंक कर्मी मीनेश कुमार ने बताया कि सरकार को नई पेंशन योजना को खत्म करना चाहिए। साथ ही बैंक का निजीकरण किसी भी सूरत में करना नहीं चाहिए। राजद के युवा जिलाध्यक्ष विशाल यादव ने कहा कि सरकार अपनी मनमानी पर है। परवेज अहमद, हीरा बाबू, होरिल यादव, गौरव झा, मदन कुमार यादव, नितिन कुमार, बिट्टू कुमार, गौतम गोरे व बैंक कर्मी श्रवण महोली, निकिता आनंद, पूजा, अंकित, शंभू कुमार साह, रूपलाल मंडल, बांके बिहारी, शंभू रजक सहित अन्य मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.