जाली नोट बरामदगी मामले में केस दर्ज

जाली नोट बरामदगी मामले में केस दर्ज

संसू सिकटी (अररिया) जाली नोट बरामदगी प्रकरण में एसएसबी की 52 वी बटालियन के लेटी बीओप

JagranMon, 01 Mar 2021 01:12 AM (IST)

संसू, सिकटी (अररिया): जाली नोट बरामदगी प्रकरण में एसएसबी की 52 वी बटालियन के लेटी बीओपी के जवानों द्वारा गुरुवार की देर संध्या जाली नोट के साथ गिरफ्तार युवक के विरुद्ध सिकटी थाना में दर्ज प्राथमिकी के तहत आरोपित को न्यायिक हिरासत में भेजा दिया गया ।पुलिस द्वारा गहन पूछताछ के क्रम में नेपाल से ला कर भारतीय क्षेत्र में खपाने में कुछ सीएसपी संचालक की भी संलिप्तता उजागर हो रही है ।इस मामले में आरोपी युवक के निशानदेही पर तीन सीएसपी संचालक को हिरासत में ले कर पूछताछ के लिए अररिया ले जाया गया।जिसकी संलिप्तता का जांच किये जाने की बात चर्चा में है।लेटी बीओपी से प्राप्त जानकारी अनुसार विगत गुरुवार की संध्या गुप्त सूचना पर भारत नेपाल अंतरराष्ट्रीय सीमा के पिलर स0 162/2 के समीप नाका लगा कर इंतजार करने के उपरांत वह समय भी आया जब एक व्यक्ति बाइक से नेपाल से भारतीय क्षेत्र में घुसा नजदीक आने पर जवानों को देख उल्टे पॉव भागने का प्रयास किया।जिसको जवानों ने विफल करते हुए खदेड़ कर पकड़ा जबकि उसकी पहचान सिकटी थाना क्षेत्र केआमगाछी पंचायत के वार्ड नं0 13 लेटी निवासी मो0 हातिम के पुत्र मो0 परवे•ा आलम के रूप में हुई थी। सिकटी थाना पुलिस द्वारा गहन पुछताछ के दौरान उनकी बात से तीन सीएसपी संचालक की संलिप्तता सामने आयी है परंतु अनुसंधान में कोई व्यवधान उपस्थित न हो इस कारण तीनो संचालक का नाम अभी तक उजागर नही किया गया है।मिली जानकारी के अनुसार जब्त किए गए नोट छूने व देखने मे जाली नही बुझाता है जिससे यह नोट आसानी से सीमावर्ती क्षेत्रों में खप जाता है परंतु जाली नोट पकड़ने की मशीन जो सरकार द्वारा सुरक्षा कारणों से एसएसबी को उपलब्ध कराया जाता है, उसके माध्यम से जांच के क्रम में यह पकड़ में पाया है।इस घटना के बाद एक बार फिर सीमावर्ती क्षेत्र मे जाली नोट के धंधेबाज के पैर पसारने की बात सामने आ रही है।लोगों को क्षेत्र मे जाली नोट के फैलने का अंदेशा भी सताने लगा है। ये कहां तक पसरा है ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.