सिकटी में नूना नदी ने फिर बदली धारा, कई घर बहे

सिकटी में नूना नदी ने फिर बदली धारा, कई घर बहे
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 11:51 PM (IST) Author: Jagran

अररिया। नेपाल सहित सिकटी प्रखंड क्षेत्र में लगातार हो रही तेज बारिश से नूना नदी उफान पर है। नदी से दहगामा ईदगाह के निकट कटे तटबंध से निकली नई धारा में पड़रिया वार्ड नौ के चार परिवार फजलु, अलाउद्दीन, जैनुद्दीन और फत्ते का पक्का मकान कट गया हैं। वहीं दहगामा पंचायत के भी कई परिवार कटान से प्रभावित हुए हैं। दहगामा के माजोद्दीन का घर एवं प्रावि ईदगाह टोला का भवन नई धारा के तेज बहाव में कटने के कगार पर है। बाढ़ के कारण पड़रिया के सालगोड़ी, कठुआ, कचना, बांसबाड़ी में मुश्किल हालात हो गया है। सालगोड़ी में सैकड़ों परिवारों के घरों में पानी घुस जाने से लोग परेशान हैं। लोगों के चुल्हे नहीं जल रहे हैं। कचना की हालत कुछ इसी तरह है। लोगों के घर एवं रास्ते पर पानी फैल गया है। दहगामा में नूना की निकली नई धारा ने खोरागाछ कठुआ,बगुलाडांगी तक जल प्रलय जैसी स्थित बन गई है। पड़रिया का सिकटी से पूरी तरह संपर्क भंग हो गया है। ईदगाह टोला दहगामा के लोग तो घर से निकलकर मवि दहगामा मे शरण लिए हुए है। जहां विद्यालय के निचले सतह एवं परिसर में भी पानी भरा हुआ है। कुल मिलाकर पूर्वी भाग मे नूना नदी के कहर से पड़रिया एवं दहगामा तथा खोरागाछ पंचायत के दर्जनो गांव बाढ़ प्रभावित है। सिकटी विलायती बाड़ी सड़क कई जगह टूट चुकी है। दहगामा में नूना की नई धारा बन जाने उससे दक्षिण के इलाके में राहत है, क्योंकि नदी अस्सी से 90 फीसद पानी ईदगाह टोले के निकट सिकटी विलायती बाड़ी पथ को तोड़कर बह रही है। जिसका प्रभाव सड़क के पश्चिम पार बसे कठुआ,सालगोड़ी, कचना एवं बांबाड़ी सहित खोरागाछ के औलाबाड़ी एवं बगुलाडांगी मे ज्यादा पड़ रहा है। इधर बकरा सहित अन्य सहायक नदियां भी उफान पर है। बकरा डैनिया के वार्ड आठ एवं कौआकोह के वार्ड एक पड़रिया में कटाव कर रही है। धीरे धीरे बसावट की ओर बढ़ रही है। किनारे लगे पेड़ पौधे कटान के कारण नदी में गिर रहे हैं। लोग खुद से किसी तरह बांस बल्ली के सहारे कटाव रोकने का प्रयास कर रहे हैं। घाघी नदी का पानी बरदाहा से ढंगरी, ठेंगापुर, तीरा जाने वाली सड़क पर बने आरसीसी के ऊपर बह रही है। कॉलेज चौक ढंगरी सड़क पर भी पानी उपर से बह रहा हैं। खेतों में लगी खरीफ धान की फसल डूब कर बर्बाद हो रही है। खासकर धान की अगेती किस्म घुटराज जो पककर कटने वाली थी उसको काफी नुकसान पहुंचा है। ------

कोट

कटान प्रभावित परिवारों को तत्काल प्लास्टिक दिया गया है। बाढ़ की स्थिति की रिपोर्ट जिला में भेजी गई है। जलस्तर में बुधवार की अपेक्षा गुरुवार को कमी हो रही है। मवि दहगामा में अब लोग नही हैं। वरीय अधिकारी के निर्देशानुसार कार्य किया जाएगा। वीरेंद्र कुमार सिंह, अंचलाधिकारी, सिकटी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.