जोगबनी से पटना के लिए इंटरसिटी एक्सप्रेस चलाने की उठ रही मांग

संवाद सूत्र, फुलकाहा (अररिया): अररिया सांसद प्रदीप सिंह 15 अप्रैल 2021 को लोकसभा में कटिहार पटना इंट

JagranFri, 17 Sep 2021 12:40 AM (IST)
जोगबनी से पटना के लिए इंटरसिटी एक्सप्रेस चलाने की उठ रही मांग

संवाद सूत्र, फुलकाहा (अररिया): अररिया सांसद प्रदीप सिंह 15 अप्रैल 2021 को लोकसभा में कटिहार पटना इंटरसिटी एक्सप्रेस को जोगबनी से चलाने की मांग उठा चुके हैं। सांसद प्रदीप सिंह ने लोकसभा में कहा पटना बिहार की राजधानी है अनेकों काम से जिले वासियों को पटना आना जाना पड़ता है। पटना के लिए स्पेशल कोई ट्रेन नहीं हैं। यदि इंटरसिटी एक्सप्रेस जो कटिहार से पटना जाती है उसे जोगबनी से चलाया जाए तो लोगों को राहत मिलेगी। जोगबनी जो नेपाल सीमा पर अवस्थित है जो पर्यटकों के लिए महत्वपूर्ण है। नेपाल से हमारा बेटी रोटी का संबंध रहा है। सामरिक ²ष्टिकोण से भी महत्वपूर्ण है। अम्रपाली एक्सप्रेस जो कटिहार से अमृतशहर जाती हैं जोकि 11 घंटे कटिहार में खड़ी रहती है। उसे 110 किलोमीटर पीछे करने और जोगबनी से चलाने की बात भी कही। अररिया जिले से पटना के लिए कोई ट्रेन नहीं होने के कारण छात्रों को पटना जाने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता हैं। यहां तक कि पुर्णिया से भी एक मात्र ट्रेन हैं जोकि रात दो बजें पटना के लिए खुलती हैं। दो बजें रात में होने के कारण अररिया जिला के छात्रों को पुर्णिया से भी पटना जाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं। ज्ञातव्य हो कि हजारों छात्र-छात्राएं पटना में रहकर प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करते हैं। यहां तक कि अन्य नागरिकों का भी राजधानी पटना आना-जाना लगा रहता हैं। सरकार भी हर जिले को राजधानी से जोड़ने की बात करते हैं। लेकिन अभी तक सीमावर्ती क्षेत्र के अररिया जिला से पटना के लिए ट्रेन नहीं होना असंतोषजनक है। यहां के नागरिक बस से सफर करने को मुश्किल है। पेट्रोल डीजल के कीमत लगातार बढ़ने के कारण बस के किराया हर महीनें बढ़ रहे हैं। यदि लाकडाउन से पहले और लाकडाउन के बाद की ही बात किया जाए तो किराया में दोगुना वृद्धि हुई हैं। यदि अररिया जिला(जोगबनी) से पटना के लिए ट्रेन का शुरू हों जाए तो छात्रों के हित में एक सराहनीय कदम होगा। ट्रेन नहीं होने के कारण बस से सफर करना खतरों से खाली नहीं हैं। आये दिन पटना जाने वाली या पटना से आने वाली बस दुर्घटना की खबर सुनते रहते हैं। कभी कभी बस में आग लगने की घटना भी सुनने को मिलती हैं। अब ठंड का मौसम आने वाला हैं,कुहासे के कारण बस एक्सीडेंट की संख्या में वृद्धि हो जाएगी।

पूर्व रेलमंत्री लालू यादव भी कर चुके हैं घोषणा

केंद्रीय रेलमंत्री व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद 15 मार्च 2009 में रानीगंज स्थित वाईएनपी कालेज मैदान में अररिया-सुपौल नई रल लाइन के शिलान्यास के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने वीरपुर से नरपतगंज होते हुए बनमनखी तक नई रल लाइन का सर्वेक्षण कराने की घोषणा की। जनप्रतिनिधियों तथा जनता की मांग पर सीमांचल एक्सप्रेस को पांच दिन के बजाय रो चलाने तथा जोगबनी-पटना इंटरसिटी एक्सप्रेस देने की भी घोषणा की थीं।

फारबिसगंज विधायक विद्यासागर केसरी इंटरसिटी जोगबनी से चलाने की कर चुके मांग

सितबर 2019 को फारबिसगंज विधायक विद्या सागर केसरी कटिहार रेलखंड पर डीएमयू ट्रेनों के परिचालन से यात्रियों को हो रही परेशानियों एवं इंटरसिटी एक्सप्रेस को जोगबनी से चलाने समेत विभिन्न मांगों को लेकर विधायक डीआरएम से कर चुके हैं मुलाकात।

2012 में जिला भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी इंटरसिटी चलाने के लिए किया था आंदोलन

कटिहार से दिल्ली तथा पटना तक जाने वाली आम्रपाली एक्सप्रेस तथा इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेनों का विस्तार जोगबनी रेलवे स्टेशन तक करने की मांग को लेकर जिला भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा 5 मार्च 2012 में फारबिसगंज रेलवे स्टेशन पर एक दिवसीय धरना का आयोजन किया था।भाजपा पूर्व जिलाध्यक्ष आलोक कुमार भगत के नेतृत्व में आयोजित शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन में फारबिसगंज नगर परिषद की मुख्य पार्षद वीणा देवी भी शामिल थीं।

जब इस संदर्भ में फुलकाहा निवासी छात्र नीतीश कुमार ने बताया कि हमलोगों ने इंटरनेट मीडिया के माध्यम से अररिया सांसद और नरपतगंज विधायक को अवगत करवाया और पत्र लिखकर भी ट्रेन शुरू करने का मांग किया। उसने बताया कि जोगबनी से पटना के लिए इंटरसिटी एक्सप्रेस शुरू हो जाए तो छात्रों के लिए वरदान साबित होगा। उसने बताया कि मुझे उम्मीद हैं वर्तमान रेलमंत्री हम छात्रों के हित में सोचेंगे और जल्द ट्रैन शुरू करवाने की कृपा करेंगे।

जब इस संदर्भ में अररिया सांसद प्रदीप कुमार सिंह से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि बिल्कुल छात्रों के साथ साथ अन्य नागरिकों को राजधानी जाने में काफी परेशानी होतीं हैं। जोगबनी से पटना ट्रैन शुरू करवाने के लिए हमलोग लगातार प्रयासरत हैं। जल्द शुरू होने की उम्मीद है। साथ ही जोगबनी से दिल्ली के लिए विधुत संचालित ट्रैन देने की भी मांग किये हैं। उन्होंने बताया कि 2022 तक फारबिसगंज से सहरसा के लिए भी ट्रेन शुरू हो जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.