बच्चे देश के भविष्य, इन्हें बेहतर तालीम व तरबियत दें: शाहनवाज आलम

संसू अररिया बच्चे देश के भविष्य होते हैं। ऐसे में जरूरी है कि उन्हें बेहतर से बेहतर त

JagranMon, 13 Sep 2021 12:03 AM (IST)
बच्चे देश के भविष्य, इन्हें बेहतर तालीम व तरबियत दें: शाहनवाज आलम

संसू, अररिया: बच्चे देश के भविष्य होते हैं। ऐसे में जरूरी है कि उन्हें बेहतर से बेहतर तालीम और अच्छे ढंग से उसकी तरबियत करें। जिन बच्चों की बुनियादी तालीम बेहतर और मजबूत होगी उसे आगे चलकर कोई दिक्कत नही होगी। ये बातें बतौर मुख्य अतिथि जोकीहाट के युवा विधायक शाहनवा•ा आलम ने कही। वे शनिवार की देर शाम मदरसा जामिया आयशा सिद्दीका उमर नगर बोआरीबाद वार्ड नंबर सात अररिया में मदरसा के उद्घाटन के मौके पर कही। विधायक शाहनवाज आलम ने कहा कि सभी लोग अपने बेटा और बेटी दोनों को समान रूप से तालीम दें। इसके अलावा बच्चों को दिनी, दुनियावी, आधुनिक और तकनीकी शिक्षा दें। आज इसकी जरूरत है।सिर्फ डिग्री वाली शिक्षा ही आज बेरोजगारी का कारण बना हुआ है। उन्होंने कहा तालीम के बगैर इंसान नमोकम्मल है।तालीम से तरक्की के सभी दरवा•ो खुलते है। आज सुदुर ग्रामीण और पिछड़े इलाकों में मदरसा ही तालीम देकर गरीब बच्चों को मुख्य धारा से जोड़ रही है। आज वही कौम और मुल्क विकसित है जहां शिक्षा है।इसीलिए सभी लोग शिक्षा को अपनी पहली प्राथमिकता में शामिल करें। मौके पर उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करते हुए मदरसा दारुल उलूम रहमानी •ाीरो माइल के ना•िाम मु़फ्ती अलीम उद्दीन ने कहा कि आज तालीम वक्त की सबसे अहम जरूरत बन चुकी है।तालीम के बगैर इंसान अंधा के मानिद है।उन्होंने कहा आज हमारे छोटे छोटे बच्चे गलत नशा की चपेट में आ गए है।।ऐसे में बच्चों के माता पिता को इसपर खास तौर से ध्यान देने की जरूरत है।वरन हम अपने बच्चे के भविष्य को बर्बाद करने के •िाम्मेदार खुद होंगे।आज सबसे •ा्यादा नशा के खिलाफ मुहिम चलाकर काम करने की जरूरत है।मदरसा के संस्थापक और भूमिदाता एमआईएम के जिला अध्यक्ष मीर राशिद अनवर ने बताया कि बोआरीबाद बिल्कुल नया मुहल्ला बसा है।जहां •ा्यादातर गरीब और मजदूर लोग रहते हैं ।यहां पर कोई सरकारी स्कूल भी अभी नहीं है।ऐसे में इन गरीब बच्चों को शिक्षा मिल जाए इसको लेकर मैंने इस मदरसा की स्थापना की है।मौके पर सामाजिक कार्यकर्ता अररिया का मुद्दा के संस्थापक फैसल जावेद यासीन ने राशिद अनवर को इस नेक काम के लिए बधाई दी और कहा कि जबतक इस मदरसे में बच्चे तालीम हासिल करेंगे निश्चित रूप से इन नेक काम का सवाब राशिद भाई और उनके परिवार को मिलता रहेगा।मौके पर काफी तादाद में लोग शामिल थे। मु़फ्ती अलीमउद्दीन साहब की दुआ के बाद प्रोग्राम संपन्न हो गया ।मंच संचालन मौलाना जशीमउद्दीन ने किया। मदरसा बनने से मुहल्ला के लोगों में काफी खुशी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.