कार दुर्घटना में एक साथ पांच लोगों की मौत से पसरा मातमी सन्नाटा

अररिया । पलासी प्रखंड क्षेत्र की पकरी पंचायत अंतर्गत डाला मोड़ के समीप मंगलवार अहले सुबह हु

JagranTue, 21 Sep 2021 07:22 PM (IST)
कार दुर्घटना में एक साथ पांच लोगों की मौत से पसरा मातमी सन्नाटा

अररिया । पलासी प्रखंड क्षेत्र की पकरी पंचायत अंतर्गत डाला मोड़ के समीप मंगलवार अहले सुबह हुंडई कार दुर्घटना में हुई पांच लोगों की मौत को लेकर क्षेत्र में सनसनी फैल गयी है। साथ ही मौत को लेकर गांव सहित मृतकों के स्वजनों में मातमी सन्नाटा पसर गया है। इस दौरान सांत्वना देने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी है। मझुआ गांव के मृतक सुनील मंडल की माता कौशल्या देवी व पिता राजकुमार मंडल अपने पुत्र की शादी के लिए तरह-तरह के सपने संजोए हुए थे। लेकिन क्या पता था कि अनंत पूजा का मेला देखने गया, उनका पुत्र अब लौट कर नहीं आयेगा? अब कौन बनेगा उनके बुढ़ापे का सहारा। अब मात्र एक पुत्री ही शेष है। बुढ़ापे की चिता ने उन्हें मानो संज्ञा शून्य कर दिया हो। रोते-रोते उनके मुंह से बोल ही नहीं निकल पा रहा है। लेकिन उनकी आंखें हर आने वाले को टकटकी निगाह से देख रही हैं। जैसे उनका पुत्र अभी आ जायेगा? वहीं लोखड़ा गांव के मृतक कलानंद मंडल दो भाई व दो बहनों में बड़ा था। उनकी माता शंभा देवी व पिता दयानंद मंडल भी अपने पुत्र के लिए अच्छी दुल्हन लाने की मंशा पाले हुए थे। उन्हें लग रहा था कि अब उनका पुत्र परिवार की जिम्मेदारी संभाल लेगा? लेकिन माता - पिता को क्या पता था कि पुत्र के शव का भार उन्हें ही संभालना होगा? जिससे उन्हें तोड़ कर रख दिया है। माता रोते हुए बस एक ही बात कहती है कि हे ऊपर वाला हमनें तेरा क्या बिगाड़ा, जो हमसे हमारा बेटा छीन लिया।

दो बहनों में अकेला भाई था सुनील

गेराड़ी मुंडमाला के मृतक सुनील करदार दो बहनों में अकेला भाई था। जो अपने पीछे पत्नी पूजा देवी सहित एक पुत्र व एक पुत्री पीछे छोड़ गया है। उनकी मौत से पत्नी के अलावे माता प्रभा देवी व पिता जगत लाल करदार के रोने - धोने का सिलसिला बदस्तूर जारी है। इस क्रम में पत्नी व माता रोते - रोते बेहोश हो जाती है। पुन: अपने पति व बेटे को याद कर बिलख पड़ती है।

अधूरा रह गया पिता का सपना चौरी गांव के राजेन्द्र प्रसाद साह व बसंती देवी के पुत्र (मृतक) धनंजय कुमार साह व (मृतक) दामाद नवीन कुमार साह की मौत ने मानों उनकी कमर ही तोड़ दी है। खासकर बेटे को दूल्हा के रूप में देखने का सपना टूटने व अपनी पुत्री के भविष्य की चिता ने उन्हें झकझोर कर रख दिया है। इस दौरान मृतकों के स्वजनों को सांत्वना देने के लिए लोगों की आवाजाही लगातार जारी है। वहीं इस बाबत डाला गांव के पूर्व सरपंच दयानंद मंडल, पकरी पंचायत के पूर्व मुखिया राजेश मौआर, जदयू जिला महासचिव मोबीन अख्तर, अमर कुमार सिंह, युवा नेता रंजीत यादव आदि ने मृतक के स्वजनों को सांत्वना दी ।साथ ही उक्त सबों ने प्रशासन से मृतक के स्वजनों को अविलंब मुआवजा उपलब्ध कराने की मांग की है।

पलासी का दर्द से रहा है रिश्ता पुराना संसू, पलासी (अररिया): पलासी प्रखंड क्षेत्र के मैना- कलियागंज पथ पर डाला मोड़ के समीप मंगलवार अल सुबह कार दुर्घटना में पांच लोगों की हुई मौत ने लोगों को झकझोर कर रख दिया है। हालांकि इस तरह के दर्द से पलासी के लोगों का रिश्ता पुराना है। इससे पूर्व बीते वर्ष 2009 के 31 दिसंबर की रात्रि पिकनिक की तैयारियों में लगे पांच युवकों की बिहारी गांव के समीप चार चक्का वाहन दुर्घटना में मौत हो गयी थी। जिसमें बोलेरो गाड़ी बिहारी गांव के समीप अनियंत्रित होकर सड़क किनारे गहरे गड्ढ़े में पलट गयी थी। जिस पर सवार सभी पांचों युवकों की मौत हो गयी थी। सभी मृतक युवक भाजपा के युवा नेता रंजीत यादव के रिश्तेदारों में से थे। मृतकों में अनिल यादव, अशोक यादव, गुड्डू कुमार, मिथिलेश कुमार व राजीव कुमार शामिल थे। उक्त घटना ने पांच परिवारों के आंगन को ही सुना नहीं किया था, बल्कि नव वर्ष की खुशियां छीन ली थी। कई दिनों तक मृतकों के यहां चूल्हा भी नहीं जला था। उस घावों को वक्त ने भर दिया था। पुन: आज की इस दिल दहला देने वाली घटना ने लोगों की याद ताजा कर दी। जिन घरों में आने वाले समय में स्वजन शहनाई की धुन सुनने की उम्मीद पाल रहे थे, वहां मातमी सन्नाटा पसर गया। आमजनों के मुंह से बस एक बात निकल रही है कि हे ईश्वर ऐसे दिन दोबारा न दिखावें। जिसमें अपनों के बिछरड़ने का गम लोगों को तोड़ कर रख देता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.