Tesla की इलेक्ट्रिक कार हिन्दी भाषा को करेंगी सपोर्ट, सामने आई ये जानकारी

इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी टेस्ला की कारें देश में जल्द लांच होने वाली हैं। हाल ही में टेस्ला की कार के इंफोटेनमेंट सिस्टम की कुछ तस्वीरें सामने आई हैं। जिसमें टेस्ला की कार हिन्दी लैग्वेज को सपोर्ट करते नज़र आ रही है।

Rishabh ParmarSun, 25 Jul 2021 09:17 AM (IST)
हिन्दी भाषा को सपोर्ट करेंगी टेस्ला की इलेक्ट्रिक कार

नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी टेस्ला भारत में बहुत जल्द अपनी पहली ईवी कार आधिकारिक तौर पर लांच करने जा रही है। हाल ही में टेस्ला कार के इंफोटेनमेंट सिस्टम को देखा गया है जिसमें हिंदी भाषा में कमांड लिखे हुए हैं। टेस्ला के इंफोटेनमेंट सिस्टम का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर साझा किया जा रहा है जिसमें हिंदी में कमांड लिखे हुए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इससे टेस्ला को भारत में ऐसे ग्राहकों के बीच अपनी पहुंच बनाने में अधिक मदद मिलेगी, जहां हिन्दी भाषा का प्रयोग काफी अधिक होता है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि हाल ही में टेस्ला की तरफ से भारतीय मंत्रालयों को पत्र लिखकर इलेक्ट्रिक वाहनों पर आयात करों को कम करने की मांग की गई है। अगर भारत सरकार भी कंपनी की बात मानकर इलेक्ट्रिक वाहनों पर आयात कर कम कर देती है तो इससे इलेक्ट्रिक वाहनों के दामों में भारी कमी आएगी और ये भारतीयों के लिए किफायती कीमत में उपलब्ध हो जाएंगी। वहीं भारत में भी पिछले कई सालों से इलेक्ट्रिक वाहनों को लगातार बढ़ावा दिया जा रहा है ऐसे में संभव है कि सरकार टेस्ला की बात पर विचार करे।

हालांकि ये बात भी ध्यान देने योग्य है कि यह कोई पहला मौक़ा नहीं है जब किसी कंपनी ने इलेक्ट्रिक वाहनों पर इम्पोर्ट ड्यूटी कम करने की मांग की है, इससे पहले भी कई कंपनियों ने ये मांग सरकार के सामने रखीं हैं लेकिन देश में प्रतिद्वंदियों के विरोध के चलते कंपनियों को सफलता नहीं मिली और इम्पोर्ट ड्यूटी लगभग पहले जैसी ही बनी हुई है। फिलहाल कुछ भी कहना थोड़ी जल्दबाज़ी होगी कि सरकार टेस्ला की बात पर किस तरह से गौर फरमाती है।

हाल ही में एक भारतीय ने ट्विटर पर एलन मस्क से कहा था कि वह भारत में जल्द से जल्द अपनी कारों की बिक्री शुरू करें। इस पर मस्क ने जबाव दिया कि उनकी कंपनी ऐसा करना चाहती है, लेकिन भारत में जो आयात शुल्क लगाया जाता है वह दुनिया में सबसे ज्यादा है। यहां डीजल और पेट्रोल कारों की तरह ही पर्यावरण के लिए अनुकूल कारों पर भी शुल्क लगाया जाता है। उन्होंने उम्मीद जताई कि भारत में कम से कम इलेक्‍ट्र‍िक कारों पर अस्थायी तौर पर शुल्क घटाया जाएगा। बता दें टेस्ला भारत में सबसे पहले अपनी इलेक्ट्रिक कार मॉडल 3 को लांच करने वाली है। इसे कई बार भारतीय सड़कों पर टेस्टिंग के दौरान देखा जा चुका है।  

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.