भारत की पहली इलेक्ट्रिक फ़्लाइंग कार आई सामनें, जानें कब होगी पेश

नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक बयान में प्रसन्नता व्यक्त की। उसने कहा Vinata AeroMobility की युवा टीम द्वारा तैयार की जाने वाली एशिया की पहली हाइब्रिड फ्लाइंग कार के कॉन्सेप्ट मॉडल से परिचित होने की खुशी है।

BhavanaThu, 23 Sep 2021 10:59 AM (IST)
इस उड़ने वाली कार को नागरिक उड्डयन मंत्री दुनिया के सामने पेश करेंगे।

नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। India's First Flying Car:  दुनिया भर में फ्लाइंग कारों को लेकर टेस्टिंग चल रही है, कई देश इस दिशा में आगे बढ़ते हुए कॉन्सेप्ट मॉडल से प्रोडक्शन मॉडल क तरफ रुख कर चुके हैं। लेकिन भारत अभी काफी पीछे है, हालांकि भविष्य में हम निजी उड़ने वाले वाहनों को देख सकते हैं। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं,क्योंकि चेन्नई स्थित एक भारतीय स्टार्ट-अप ने एशिया की पहली उड़ने वाली कार का निर्माण किया है, और इस उड़ने वाली कार को नागरिक उड्डयन मंत्री दुनिया के सामने पेश करेंगे।

The Helitech Expo 2021 में होगी पेश

इस कार का निर्माण करने वाली कंपनी विनता एरोमोनिलिटी, चेन्नई, तमिलनाडु में स्थित एक स्टार्ट-अप है,जो वैश्विक स्तर पर अपनी पहली स्वायत्त हाइब्रिड फ्लाइंग कार को पेश करेगी। विनता लंदन में सबसे प्रतिष्ठित प्रदर्शनियों में से एक - एक्सेल में the Helitech Expo 2021 इस वाहन का अनावरण करेगी। बता दें, दो दिवसीय प्रदर्शनी कार्यक्रम में स्टार्ट-अप उड़ने वाले वाहन को पूरी तरह से पेश करती नजर आएगी।

एक बार में 60 मिनट तक का सफर कर सकती है तय

इस उड़ने वाली कार का वजन केवल 1,100 किलोग्राम है, और यह 1,300 किलोग्राम वजन उठा सकती है। इसमें एक इलेक्ट्रिक बैटरी मिलती है और इसमें हाइब्रिड इलेक्ट्रिक वीटीओएल या वर्टिकल टेक-ऑफ और लैंडिंग एयरक्राफ्ट भी मिलता है। यह कार 100-120 किमी/घंटा की रफ्तार से क्रूज करने में सक्षम होगा। जिसका अधिकतम उड़ान समय 60 मिनट तक हो सकता है विनाटा एरोमोबिलिटी का दावा है कि हाइब्रिड पावर्ड फ्लाइंग कार अधिक टिकाऊ है क्योंकि यह जैव ईंधन का उपयोग करती है।

अर्बन एयर मोबिलिटी या UAM के जल्द ही संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय देशों में एक व्यावसायिक वास्तविकता बनने की उम्मीद है। बोइंग और एयरबस जैसे स्थापित खिलाड़ियों ने जापान में फ्लाइंग टैक्सियों को वास्तविकता बनाने के लिए हाथ मिलाया है। जबकि लॉकहीड मार्टिन और उबर भी तकनीक को बाजार में लाने के लिए मिलकर काम कर रहे हैं।

इस विषय पर नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक बयान में प्रसन्नता व्यक्त की। उसने कहा, " Vinata AeroMobility की युवा टीम द्वारा तैयार की जाने वाली एशिया की पहली हाइब्रिड फ्लाइंग कार के कॉन्सेप्ट मॉडल से परिचित होने की खुशी है। इसके शुरू होने के बाद, उड़ने वाली कारों का इस्तेमाल लोगों और कार्गो के परिवहन के साथ-साथ चिकित्सा आपातकालीन सेवाएं प्रदान करने के लिए किया जाएगा। सिंधिया ने यह भी कहा कि उन्हें उम्मीद है कि लोगों और कार्गो के परिवहन में उड़ने वाली कार का इस्तेमाल हो रहा है। वहीं आने वाले समय में उन्होंने आपातकालीन सेवाओं में इस तरह की कार देखने की भी उम्मीद जताई है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.