This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

बालों की सही देखरेख के लिए जान लें हेयर केयर से जुड़े पुराने मिथ्स और उसके पीछे का सच

Hair care facts and myths बाल खूबसूरती को बढ़ाने का काम करते हैं जो इनकी देखरेख भी चेहरे जितनी ही जरूरी है। तो आज हम इनकी केयर से जुड़ी कुछ मिथ्स और उनके पीछे की सचाई के बारे में जानेंगे।

Priyanka SinghThu, 14 Oct 2021 07:27 AM (IST)
बालों की सही देखरेख के लिए जान लें हेयर केयर से जुड़े पुराने मिथ्स और उसके पीछे का सच

घने, मजबूत बालों की चाह में हम किसी की भी सलाह मानकर उसे फॉलो करने लगते हैं जो सही नहीं। बालों को लेकर ऐसे कई उपाय हैं जो सालों से चले आ रहे हैं लेकिन ये कितने असरदार हैं इसके बारे में स्योर नहीं? तो आज हम ऐसे ही कुछ मिथक और उनके पीछे की सच्चाई के बारे में जानने वाले हैं।

1. ज्यादा ब्रश करें

बालों को हल्के से ब्रश करने से स्कैल्प के नेचुरल ऑयल्स को अच्छी तरह बालों में डिस्ट्रीब्यूट करने में मदद मिलती है, लेकिन तेज ब्रशिंग बालों को नुकसान पहुंचाती है, जिससे वे कमजोर होकर टूटते हैं। अपने बालों को सुलझाने के लिए हमेशा बॉल-टिप ब्रिसल्स वाले ब्रश का इस्तेमाल करें।

2. ऑयली बालों को हर दिन धोएं

सुना होगा आपने कि हफ्ते में दो से तीन बार बाल जरूर धोने चाहिए लेकिन बालों को कम धोने से स्कैल्प में नेचुरल ऑयल को बचाकर रखने में मदद मिलती है। इसलिए हफ्ते में एक बार धोना काफी है।

3. बाल काटने से तेजी से बढ़ते हैं

बालों को काटने का स्किन या डर्मिस के भीतर स्थित फॉलिकल से कोई सीधा संबंध नहीं है। स्ट्रैंड्स को ट्रिम करने से अनहेल्दी बालों के टिप्स गायब हो जाएंगे, यह बालों को तेजी से बढ़ने से रोकता है। बालों के लॉक्स को नियमित रूप से ट्रिम करना उनके लिए अच्छा माना जाता है, क्योंकि यह सप्लीमेंट्स से छुटकारा पाने में मदद करता है।

4. एक सफेद बाल तोड़ने से ज्यादा निकलते हैं

सफेद बालों को तोड़ने से वास्तव में बालों के फॉलिकल को नुकसान हो सकता है, जो बालों को बढ़ने से रोकता है। एक फॉलिकल से एक हेयर स्ट्रेंड बढ़ता है, इसलिए एक के बजाय कई बालों को पॉपअप करना संभव नहीं है। सफेद बाल तब होते हैं, जब फॉलिकल में पिग्मेंट मर जाता है। बालों को स्वस्थ रखने के लिए उन्हें न तोड़ें।

(आईएलएएमईडी, दिल्ली के डर्मेटोलॉजिस्ट और एस्थैटिक फिजिशियन डॉ. अजय राणा से बातचीत पर आधारित)

Pic credit- freepik

Edited By: Priyanka Singh