मोतिहारी से आया था दिव्यांग, गढ़वा स्टेशन पर शौचालय में कपड़ा बदलने पर ऐसा हुआ बर्ताव कि जानकर रह जाएंगे दंग

Ranchi News भारतीय रेल प्रशासन दिव्यांगों को समुचित सुविधा उपलब्ध कराने का दावा करता है। यात्रा के क्रम में ट्रेन व रेलवे स्टेशनों पर दिव्यांगों को परेशानी से बचाने की एक हद तक व्यवस्था भी कर रखी है।

Madhukar KumarPublish: Mon, 13 Dec 2021 02:46 PM (IST)Updated: Mon, 13 Dec 2021 02:46 PM (IST)
मोतिहारी से आया था दिव्यांग, गढ़वा स्टेशन पर शौचालय में कपड़ा बदलने पर ऐसा हुआ बर्ताव कि जानकर रह जाएंगे दंग

रांची, जागरण संवाददाता। भारतीय रेल प्रशासन दिव्यांगों को समुचित सुविधा उपलब्ध कराने का दावा करता है। यात्रा के क्रम में ट्रेन व रेलवे स्टेशनों पर दिव्यांगों को परेशानी से बचाने की एक हद तक व्यवस्था भी कर रखी है। यहां तक कि दिव्यांगो के लिए आरक्षण व किराया में छूट भी दी है। बावजूद इसके कई स्टेशनों पर दिव्यांगों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया जाता है।

इसी तरह का एक मामला पलामू जिले के गढंवा रोड जंक्शन पर देखने को मिला। रात के करीब 9 बजे बिहार के मोतिहारी निवासी दिव्यांग युवक आदित्य श्रीवास्तव स्टेशन पर पहुंचा। उससे केवल कपड़ा बदलने के लिए गढ़वा रोड स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर बने सार्वजनिक शौचालय में रूपए देने पड़े। वो भी उस समय जब उसने एक बूंद पानी का भी उपयोग नहीं किया।

रविवार रात के 9 बजे दिव्यांग युवक आदित्य गढ़वा रोड स्टेशन आया था। उन्होंने बताया कि कपड़े गंदे हो गए थे। इसे बदलने के लिए प्लेटफार्म एक पर बने सार्वजनिक शौचालय पहुंचे। यहां एक बूंद पानी का भी उपयोग नहीं किया बावजूद उससे सुविधा शुल्क के नाम पर 10 रुपए वसूले गए। इस संबंध में दिव्यांग युवक ने कोई शिकायत या चर्चा रेलवे विभाग के अधिकारी या कर्मचारी से नहीं की गई। बावजूद पास खड़े लोगों को कार्यशैली पसंद नहीं आई। पास खड़े आहत लोगों ने इसकी सूचना स्टेशन प्रबंधक सतीश कुमार को दी। इसी गंभीरता से लेते हुए प्रबंधक के द्वारा दिव्यांग युवक को राशि वापस कराई गई।

Edited By Madhukar Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept