This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

WhatsApp: प्राइवेसी पॉलिसी पर व्‍हाट्सएप ने लगाई रोक, रांची के लोगों में उत्‍साह; कहा- करते रहेंगे इस्‍तेमाल

WhatsApp Privacy Policy Jharkhand News एंड टू एंड इंक्रिपटेड होने के कारण ज्यादातर लोग वाट्सएप इस्तेमाल करते हैं। कंपनी के फैसले पर रांची के लोगों ने संतोष जताया। वर्तमान में वाट्सएप के साथ इंडियन मैसेजिंग एप टेलीग्राम काफी लोकप्रिय हुआ है।

Sujeet Kumar SumanSun, 11 Jul 2021 08:50 AM (IST)
WhatsApp: प्राइवेसी पॉलिसी पर व्‍हाट्सएप ने लगाई रोक, रांची के लोगों में उत्‍साह; कहा- करते रहेंगे इस्‍तेमाल

रांची, जासं। निजता के सवाल पर वाट्सएप को आखिरकार झुकना पड़ा। वाट्सएप की नई प्राइवेसी पाॅलिसी को लेकर जो केस दिल्ली हाई कोर्ट में चल रहा था, उसमें वाट्सएप ने दिल्ली हाई कोर्ट में कहा है कि वह तब तक भारत में अपनी नई प्राइवेसी पाॅलिसी लागू नहीं करेगी, जब तक डाटा प्रोटेक्शन बिल नहीं आ जाता। कंपनी ने कोर्ट में कहा कि वो अपने ग्राहकों को तब तक इस पाॅलिसी को स्वीकार करने के लिए बाध्य नहीं करेगा, जब तक विधेयक या संसद से उसे स्वीकृति नहीं मिल जाती है। कंपनी के इस बयान से रांची के वाट्सएप ग्राहकों में बड़ा उत्साह है। लोगों का कहना है कि वे वाट्सएप एंड टू एंड इंक्रिपटेड होने के कारण इस्तेमाल करते थे। उन्हें पूरी उम्मीद है कि उनकी निजता की रक्षा होगी। ऐसे में उन्हें सोशल मैसेजिंग के लिए किसी दूसरे प्लेटफाॅर्म पर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

सुरक्षित है आपका डाटा

आइटी एक्सपर्ट प्रकाश दूबे बताते हैं कि वाट्सएप बड़ी और जिम्मेदार मैसेंजर कंपनी है। ऐसे में इसकी मंशा पर शक नहीं किया जा सकता है। हम इंटरनेट के ऐसे युग में रह रहे हैं, जहां हम पल-पल के लिए इससे जुड़े इंस्टैंट मैसेजिंग एप पर आश्रित हैं। ऐसे में वाट्सएप के द्वारा निजता से जुड़ी पाॅलिसी से लोगों की निजी जिंदगी पर फर्क नहीं पड़ेगा। कंपनी ने हाल ही में स्पष्ट किया था कि उसकी नई पाॅलिसी से आम लोगों की निजता पूरी तरह से सुरक्षित रहेगी। कंपनी के अनुसार आपका पूरा डाटा यहां सुरक्षित है।

संतुष्ट नहीं तो और हैं विकल्प

आइटी एक्सपर्ट अंकित कुमार सिंह बताते हैं कि वाट्सएप के कारण लोगों की निजता को फिलहाल कोई खतरा नहीं है। फिर भी अगर लोगों के मन में सवाल या एप के इस्तेमाल में कोई परेशानी है तो उनके लिए कई विकल्प मौजूद हैं। वर्तमान में वाट्सएप के साथ इंडियन मैसेजिंग एप टेलीग्राम काफी लोकप्रिय हुआ है। इसकी सर्विस और यूजर एरिया वाट्सएप से ज्यादा है। इसके साथ ही गूगल का मीट एप, जूम, वाइबर आदि का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

क्या कहते हैं लोग

लंबे समय से वाट्सएप का इस्तेमाल कर रहा हूं। मगर निजता के सवाल पर काफी शंका हो रही है। हालांकि कंपनी के इस बयान से संतोष है। -शुभांकर, रांची।

हमें डर है कि कहीं हमारे फोटो और पर्सनल चैट सार्वजनिक न हो जाएं। ऐसे में वाट्सएप से अब भरोसा उठता जा रहा है। मैं अभी से विकल्प देख रही हूं। -शिल्पी सिंह, रांची।

इंटरनेट वर्ल्‍ड में निजता का खतरा काफी ज्यादा है। कोई आपके डाटा को हैक करके इसका गलत इस्तेमाल कर सकता है। आए दिन बड़ी कंपनियों के ऐसे डाटा लीक की खबर आती रहती है। ऐसे में पाॅलिसी ही नहीं होनी चाहिए। -प्रिंस, रांची।

Edited By: Sujeet Kumar Suman

रांची में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!