This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Indian Railwayः बाल-बाल बची रांची हावड़ा शताब्दी ट्रेन, ट्रैक पर रखी विंच मशीन से टकराई

Indian Railwayः रांची हावड़ा-शताब्दी ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त होने से बाल-बाल बची। गंगाघाट स्टेशन के निकट 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से रांची से हावड़ा जा रही ट्रेन पटरी पर रखी विंच मशीन से टकरा गई। ट्रेन के लोको पायलट की सूझबूझ के कारण बड़ी दुर्घटना टल गई।

Kanchan SinghTue, 06 Jul 2021 12:09 AM (IST)
Indian Railwayः बाल-बाल बची रांची हावड़ा शताब्दी ट्रेन, ट्रैक पर रखी विंच मशीन से टकराई

रांची,जासं।  रांची हावड़ा-शताब्दी ट्रेन सोमवार को दुर्घटनाग्रस्त होने से बाल-बाल बची। दरअसल गंगाघाट स्टेशन के निकट सोमवार को दिन में 2.25 बजे 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से रांची से हावड़ा जा रही ट्रेन पटरी पर रखी विंच मशीन से टकरा गई। ट्रेन के लोको पायलट की सूझबूझ के कारण समय रहते ब्रेक लगा लिया गया। हालांकि इसके बावजूद ट्रेन ट्रैक पर रखी मशीन से जा टकराई।

टक्कर इतनी जोरदार थी कि ट्रैक के किनारे पड़े बैलेस्ट ट्रैक पर आ गए। कुछ कदम तक ङ्क्षवच मशीन को घसीटती ले गई। इस घटना में 25 मिनट तक ट्रेन का परिचालन बाधित रहा। रेलवे ट्रैक से मशीन को हटाए जाने के बाद पुन: ट्रेनों का परिचालन शुरू हुआ। जोरदार टक्कर से ट्रेन में बैठे यात्री सहम गए। ब्रेक लगते ही ट्रेन से कई यात्री बाहर आ गए। उन्हें डर था कि ट्रेन कहीं डिरेल तो नहीं हो गई। उल्लेखनीय है कि रांची स्टेशन से शताब्दी ट्रेन 1:45 पर खुलती है। ट्रेन में अधिकतर सीटें फुल थीं।

ट्रैक के निकट हो रहा है ब्रिज का निर्माण

विंच मशीन का इस्तेमाल ब्रिज बनाते वक्त सॉयल टेस्टिंग के लिए किया जाता है। ट्रैक के बगल में ब्रिज का निर्माण किया जा रहा है। नियम यह भी है कि ट्रैक के निकट ब्रिज का निर्माण नहीं होना चाहिए। लेकिन प्राइवेट कांट्रेक्टर द्वारा यह लापरवाही बरती गई और मशीन को पार करने के दौरान ट्रेन को देख ट्रैक पर ही मशीन को छोड़ मजदूर भाग गए।

उठ रहे सवाल

मशीन को ट्रैक पर किसने और क्यों छोड़ा।

रेलवे को इस बात की जानकारी क्यों नहीं थी।

यदि ट्रैक पर काम चल रहा था तो नियमत: ब्लॉक क्यों नहीं लिया गया।

अब रेलवे हुआ गंभीर

रेलवे के पदाधिकारियों का कहना है कि वे जांच करा रहे हैैं कि ऐसी लापरवाही किस स्तर पर हुई है। रेलवे प्रशासन ने आरपीएफ को निर्देश दिया है कि वह अपने स्तर पर मामले की जांच करते हुए दोषियों को चिह्नित करें, ताकि उन पर उचित कार्रवाई हो सके।

रेलवे की ओर से किसी भी तरह का काम नहीं करवाया जा रहा था। घटना सत्य है। रांची हावड़ा शताब्दी ट्रेन पार करते समय एक मशीन से जा टकराई। घटना में किसी भी तरह की जान-माल की क्षति नहीं हुई। मामले की जांच की जिम्मेदारी आरपीएफ को सौंपी गई है। दोषियों पर नियम संगत कार्रवाई होगी ।

अवनीश कुमार, सीनियर डीसीएम, रांची रेल मंडल

Edited By Kanchan Singh

रांची में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!