रामगढ़ के एसडीपीओ का झगड़ा बना तमाशा, शहर की गलियों में हो रही खूब चर्चा

Ranchi News पति-पत्नी के बीच का झगड़े को लेकर शहर के लोग अब मजाक उड़ा रहे हैं। आम लोगों के बीच घटना को लेकर शनिवार को बस यही चर्चा होती रही कि जो पुलिस पदाधिकारी खुद अपने परिवार के साथ इस प्रकार का व्यवहार कर रहा है

Madhukar KumarPublish: Mon, 17 Jan 2022 03:29 PM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 03:29 PM (IST)
रामगढ़ के एसडीपीओ का झगड़ा बना तमाशा, शहर की गलियों में हो रही खूब चर्चा

रामगढ़, जागरण संवाददाता। घरेलू विवाद को लेकर रामगढ़ एसडीपीओ किशोर कुमार रजक एवं उनकी पत्नी वर्षा श्रीवास्तव के बीच पिछले चार साल से जारी झगड़े में पुलिस की छवि धूमिल हो रही है। पिछले एक साल के दाैरान कई बार एसडीपीओ व उनकी पत्नी ने एक दूसरे पर कई तरह के आरोप लगाकर रामगढ़ थाना, महिला थाना से लेकर एसपी के पास शिकायत की जा चुकी है।

एसडीपीओ पर पत्नी ने लगाया प्रताड़ना का आरोप

शनिवार को पत्नी द्वारा रामगढ़ थाने में अपने पति सह एसडीपीओ किशोर कुमार रजक के विरुद्ध मारपीट व उत्पीड़न की प्राथमिकी दर्ज कराए जाने के बाद मामले पर अब राजनीतिक भी शुरू हो गई है। हालांकि प्राथमिकी दर्ज होने के बाद पुलिस ने घटना की सच्चाई को लेकर अपना जांच शुरू कर दिया है। इधर घटना के बाद पति-पत्नी ने घरेलू झगड़े को इंटरनेट मीडिया में लाकर एक-दूसरे पर कई तरह के गंभीर आराेप आरोप लगा रहे हैं। इस तरह के विवाद में निश्चित तौर पर पुलिस की छवि धूमिल हो रही है।

लोगों के बीच चर्चा का विषय बना घरेलू झगड़ा

पति-पत्नी के बीच का झगड़े को लेकर शहर के लोग अब मजाक उड़ा रहे हैं। आम लोगों के बीच घटना को लेकर शनिवार को बस यही चर्चा होती रही कि जो पुलिस पदाधिकारी खुद अपने परिवार के साथ इस प्रकार का व्यवहार कर रहा है, वह दूसरों को न्याय क्या दिला पाएगा। दूसरी तरफ एसडीपीओ पर पत्नी ने मारपीट व प्रताड़ित करने के आरोप लगाकर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने के मामले में जांच शुरू कर कानूनी कार्रवाई करने को लेकर कनीय पुलिस पदाधिकारी भी असमंजस की स्थिति में है।

रामगढ़ थाने में मामला दर्ज

आपको बता दें कि रामगढ़ थाने में एसडीपीओ के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने के बाद थाना प्रभारी सह पुलिस निरीक्षण के कांड का अनुसंधान करने की जिम्मेवारी थाने के एक कनीय पुलिस अधिकारी यानी सहायक पुलिस निरीक्षक मालती कुमारी को दिया है। अब सवाल यह उठ रहा है कि अपने वरीय पुलिस पदाधिकारी के पास अनुसंधान अधिकारी किस तरह से कांड के अनुसंधान के लिए पूछताछ करने एसडीपीओ आवास जाएंगे। कानून उन्हें कांड का अनुसंधान करने के लिए घटनास्थल जाना ही पड़ेगा। पीड़िता व आरोपित से घटना के बारे में पूछताछ करनी पड़ेगी।

कई लोगों से हो सकती है पूछताछ

गवाह के रूप में एसडीपीओ आवास के कार्यरत पुलिस कर्मियों व आवास के अन्य लोगों का बयान लेना पड़ेगा। हालांकि रविवार को इस तरह का अनुसंधान पुलिस ने नहीं किया है। --एसडीपीओ किशोर कुमार रजक के विरुद्ध दर्ज प्राथमिकी का अनुसंधान किया जा रहा है। अनुसंधान में जो भी बातें निकलकर सामने आएगी। पुलिस इस पर आगे कानूनी कार्रवाई जरूर करेगी। कानून सबके लिए बराबर होता है। चाहे वह कोई भी हो। -प्रभात कुमार, एसपी रामगढ़।

Edited By Madhukar Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept