Indian Railway: अब सफर होगा सुहाना...कल से मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों में शुरू हो रही पैंट्रीकार सुविधा

Indian Railway सफर में भूख लगने पर यात्रियों को परेशान नहीं होना पड़ेगा। सीट पर ही गरमा गरम शाकाहारी-मांसाहारी खाना नाश्ता मिल जाएगा। आइआरसीटीसी ने कुक्ड फूड (पेंट्रीकार व बेस किचन में पका हुआ चावल दाल सब्जी रोटी पनीर और बिरयानी आदि) देने की तैयारी पूर्ण कर ली है।

Kanchan SinghPublish: Tue, 30 Nov 2021 03:57 PM (IST)Updated: Tue, 30 Nov 2021 03:57 PM (IST)
Indian Railway: अब सफर होगा सुहाना...कल से मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों में शुरू हो रही पैंट्रीकार सुविधा

झुमरीतिलैया(कोडरमा), संसू। सफर में भूख लगने पर यात्रियों को परेशान नहीं होना पड़ेगा। सीट पर ही गरमा गरम शाकाहारी-मांसाहारी खाना, नाश्ता मिल जाएगा। रेलवे बोर्ड के दिशा-निर्देश पर इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कार्पोरेशन (आइआरसीटीसी) ने कुक्ड फूड (पेंट्रीकार व बेस किचन में पका हुआ चावल, दाल सब्जी, रोटी, पनीर और बिरयानी आदि) देने की तैयारी पूर्ण कर ली है। राजधानी, शताब्दी और दूरंतो में यह सेवा पूर्व में ही शुरू हो गई है। पहली दिसंबर से मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में भी यह सुविधा मिलने लगेगी।

वहीं जिन ट्रेनों में पेंट्रीकार नहीं रहेगी, उनके यात्रियों को भी कुक्ड फूड की सुविधा मिलेगी। इसके लिए पूर्व मध्य रेलवे के धनबाद सहित अन्य मंडलों में भी स्टेशनों पर बेस किचन तैयार होंगे। फिलहाल, आइआरसीटीसी ने खानपान की कोविड के पहले वाली पुरानी व्यवस्था शुरू करने की तैयारी तेज कर दी है। प्रथम चरण में पेंट्रीकार वाली एक्सप्रेस ट्रेनों की सूची जारी कर दी है।

यात्रियों को मिलती रहेगी पैक्ड सामग्री

हालांकि, यात्रियों को रेडी टू ईट और ई कैटरिंग सेवा के तहत खानपान की पैक्ड सामग्री मिलती रहेगी। यहां जान लें कि कोरोना काल में रेलवे बोर्ड ने ट्रेनों में कूक्ड फूड पर पूरी तरह 1 जुलाई 2020 से रोक लगा दी थी। यात्रियों को सिर्फ पैक्ड सामग्री ही मिलती है। जबकि, रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों को पहले से ही कुक्ड फूड मिल रहा है। अब ट्रेनों में यह सुविधा शुरू होने से यात्रियों को राहत मिलेगी।

Edited By Kanchan Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept