झारखंड में बारिश के बाद ठंड की वापसी, रांची में अपने जीवन यापन के लिए लोग दिखे मजबूर

Jharkhand Weather Update झारखंड (Jharkhand) में हुई भारी बारिश (Heavy Rain) की वजह से आज रांची के तापमान (Ranchi Temperature) में भारी गिरावट आ गई हैं। आज सुबह का तापमान 10 डिग्री के आसपास रिकॉर्ड किया गया। थानिय निवासी के ठंड की मार झेलना पर रहा है।

Sanjay KumarPublish: Thu, 13 Jan 2022 06:59 AM (IST)Updated: Fri, 14 Jan 2022 06:26 AM (IST)
झारखंड में बारिश के बाद ठंड की वापसी, रांची में अपने जीवन यापन के लिए लोग दिखे मजबूर

रांची, डिजिटल डेस्क। Jharkhand Weather Update : झारखंड (Jharkhand) में हुई भारी बारिश (Heavy Rain) की वजह से आज रांची के तापमान (Ranchi Temperature) में भारी गिरावट आ गई हैं। आज सुबह का तापमान 10 डिग्री के आसपास रिकॉर्ड किया गया। कड़ाके की ठंड (Cold) बढ़ने से रांची (Ranchi) में सुबह अपने कामों पर लौटने वाले जैसे ऑटो ड्राइवर (Auto Driver) से लेकर सब्जी विक्रेताओं (Vegetable Sellers) को काफी दिक्कतों का सामना करना पर रहा है। वहीं स्थानिय निवासी के भी ठंड की मार झेलना पर रहा है।

अपनी रोजी रोटी के लिए इस कड़ाके की ठंड में भी इतना सुबह- सुबह ऑटो चलाने को मजबूर।

ठंड बढ़ने की वजह से सुबह-सुबह लालपुर चौक भी सुनसान दिख रहा है।

लालपुर चौक के दूसरे रास्ते भी सुनसान दिख रहा है।

वहीं, लालपुर चौक के पास लोगों ने ठंढ से बचने के लिए आग का सहारा लेते दिखे।

दूर से अपने और अपने परिवार के पेट पालने के लिए सब्जी बेचने आए लोगों को भी ठंड का सामना करना पड़ रहा हैं। बताते है कि, ठंड से हाथ काम नहीं करता है तो आग का सहारा ले लेते है।

वहीं कुछ बिक्रेताओं के पास आग जलाने को कोई उपाय नहीं है तो, अपने जेब और पहने कपड़े में ही अपने आप को गर्म कर रहे हैं। 

इतनी ठंड के बावजूद अपना जीवन यापन चलाने के लिए ठंड को ठंड नहीं बुझ रहे ये सब्जी विक्रेता।

कड़ाके की ठंड में भी पहुंच रहें सब्जी विक्रेता। 

लालपुर-कोकर पुल के पास लोग आग जला कर, बैठे दिख रहे है।

कोकर स्थित हनुमान मंदिर के पास भी ठंड से बचाव के लिए लोग आग का सहारा लेते दिखे।

Edited By Sanjay Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept