पीएलएफआइ उग्रवादियों को पुलिस ने तीन दिन की रिमांड पर लिया, पूछताछ में खुलेगा राज

Jharkhand Crime News रांची (Ranchi) के बिरसा मुंडा केंद्रीय जेल (Birsa Munda Central Jail) में बंद पीएलएफआइ उग्रवादी (PLFI Militants) निवेश कुमार और शुभम को पुलिस ने तीन दिनों के लिए पुलिस रिमांड (Police Remand) पर लिया है।

Sanjay KumarPublish: Tue, 18 Jan 2022 12:04 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 12:05 PM (IST)
पीएलएफआइ उग्रवादियों को पुलिस ने तीन दिन की रिमांड पर लिया, पूछताछ में खुलेगा राज

रांची, जागरण संवाददाता। Jharkhand Crime News : रांची (Ranchi) के बिरसा मुंडा केंद्रीय जेल (Birsa Munda Central Jail) में बंद पीएलएफआइ उग्रवादी (PLFI Militants) निवेश कुमार और शुभम को पुलिस ने तीन दिनों के लिए पुलिस रिमांड (Police Remand) पर लिया है। रिमांड पर लेने के लिए पुलिस ने सीजेएम की अदालत में तीन दिन का रिमांड मांगा था, जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया। अदालत (Court) की स्वीकृति के बाद सोमवार की शाम पीएलएफआइ सुप्रीमो (PLFI Supremo) के खासमखास निवेश कुमार (Nivesh Kumar) और शुभम (Subham) को जेल से धुर्वा थाना (Dhurva Police Station) लाया गया, जहां पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। पूछताछ में पीएलएफआइ (PLFI) के लेवी के पैसे व हथियार के साथ हथियार तस्करों (Arms Smugglers) से लिंकअप खंगाली जाएगी।

गिरफ्तार निवेश कुमार के भाई को रिमांड पर लेगी पुलिस

इधर, छह जनवरी को धुर्वा थाना क्षेत्र के आम बगान से गिरफ्तार पीएलएफआइ के तीन सहयोगियों अमीरचंद कुमार, आर्या कुमार और नौ जनवरी को जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र स्थित अपने घर से गिरफ्तार निवेश कुमार के भाई प्रवीण कुमार और पिता सुभाष पासवान को भी पुलिस रिमांड पर लेगी। केस के आइओ एसआइ कृष्णा कुमार ने सीजेएम की अदालत में आवेदन देकर सात दिनाें की रिमांड मांगी है। दूसरी रिमांड आवेदन पर अभी सुनवाई नहीं हो सकी है।

अबतक लेवी के 77 लाख रुपये, छह पिस्टल व हथियार के डमी हो चुके हैं बरामद

बता दें कि पीएलएफआइ सुप्रीमो दिनेश गोप जैसे कुख्यात को चूना लगाने वाला शातिर ठग निवेश कुमार को 11 जनवरी की रात बक्सर से गिरफ्तार किया गया था। उसके पास से 12 लाख रुपये बरामद किए गए। इससे पहले नौ जनवरी को रांची की एसआइटी ने निवेश कुमार के जगन्नाथपुर स्थित किराये के घर और आम बगान स्थित घर से 61 लाख रुपये बरामद किए। इस मामले में पुलिस ने निवेश के बड़े भाई प्रवीण और पिता सुभाष पासवान को जेल भेज दिया था। वहीं, सबसे पहली गिरफ्तारी छह जनवरी को धुर्वा के आम बगान से हुई थी।

जेल में बंद निवेश के सहयोगी की जमानत याचिका खारिज

रांची के मुख्य न्यायिक पदाधिकारी विनय कुमार लाल की अदालत ने सोमवार को पीएलएफआइ के सहयोगी खूंटी के कुम्हार टोली निवासी उज्जवल कुमार साहू की जमानत याचिका सुनवाई हुई। दोनों पक्षों को सुनने के बाद अदालत ने जमानत याचिका खारिज कर दी। आरोपित की ओर से 15 जनवरी को जमानत याचिका दाखिल की गई थी।

राजधानी सहित आसपास के इलाके से लेवी वसूलने का करता था काम

आरोपित पीएलएफआइ सुप्रीमो दिनेश गोप के नाम पर राजधानी सहित आसपास के इलाके से लेवी वसूलने का काम करता था। धुर्वा पुलिस ने पिछले दिनों गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इस मामले में आरोपितों के खिलाफ धुर्वा कांड संख्या प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

Edited By Sanjay Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept