झारखंड के हजारों स्कूलों को किया जाएगा विकसित, रांची के ये स्कूल है शामिल

Jharkhand Education News झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार के महत्वाकांक्षी योजना के माध्यम से 4 हजार 416 स्कूलों को आदर्श स्कूल के रूप में विकसित किया जाएगा। झारखंड सरकार ने स्कूल ऑफ एक्सीलेंस के रूप विकसित करने के लिए स्कूलों को चयनित करने का काम शुरू करवा दिया है।

Sanjay KumarPublish: Fri, 28 Jan 2022 11:56 AM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 11:56 AM (IST)
झारखंड के हजारों स्कूलों को किया जाएगा विकसित, रांची के ये स्कूल है शामिल

रांची, जागरण संवाददाता। Jharkhand Education News : झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार शिक्षा को लेकर एक महत्वाकांक्षी योजना की शुरूआत करने जा रही है। इस महत्वाकांक्षी योजना के माध्यम से 4 हजार 416 स्कूलों को आदर्श स्कूल के रूप में विकसित किया जाएगा। झारखंड सरकार ने फैसला किया है कि अब झारखंड के सरकारी स्कूलों को आदर्श विद्यालय और लीडर स्कूल के तौर पर इस महत्वाकांक्षी योजना के तहत विकसित किया जाएगा।

विकसित होने जा रही स्कूलों की संख्या 4 हजार 416

झारखंड सरकार ने स्कूल ऑफ एक्सीलेंस के रूप विकसित करने के लिए झारखंड के स्कूलों को चयनित करने का काम शुरू करवा दिया है। पहले चरण में इस योजना के माध्यम से झारखंड के 80 सरकारी स्कूलों को चयनित किया गया है. इन चयनित स्कूलों को स्कूल ऑफ एक्सीलेंस के रूप में विकसित किया जाएगा. बता दें कि झारखंड सरकार द्वारा आदर्श स्कूल के रूप में विकसित होने जा रही स्कूलों की संख्या 4 हजार 416 है।

शिक्षक और प्रिंसिपल को दिया जाएगा प्रशिक्षण

जिस भी स्कूल को स्कूल ऑफ एक्सीलेंस के रूप में विकसित किया जाएगा, उसमें कक्षा एक से कक्षा 12वीं तक की पढ़ाई की सुविधा होगी, और ऐसी स्कूलों की संख्या 80 स्कूलों है। इन प्रत्येक स्कूलों में कम से कस एक हजार से 12 सौ विद्यार्थियों के पढ़ाई की व्यवस्था की जाएगी। और इन स्कूलों में नामांकन के लिए चयन परीक्षा का आधार रखा जाएगा। अंग्रेजी बोलने से लेकर अच्छी और उत्म पढ़ाई की व्यवस्था इन स्कूलों में की जाएगी। प्राप्त जानकारी के अनुसार, स्पोकन इंग्लिश कोर्स की शुरूआत और लैंग्वेज लैब के लिए शिक्षक और प्रिंसिपल को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

ये सारी सुविधाएं होगी उपलब्ध

आपको बता दे कि इन स्कूलों में बेहतर आधारभूत संरचना के साथ-साथ मूलभूत सुविधाएं, साइंस लैब, पुस्तकालय, डिजिटल क्लास रूम, कंप्यूटर की सुविधा, खेल आदि सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी। शिक्षा विभाग के अधिकारी बताते हैं कि इन स्कूलों में वह सभी सुविधाएं रहेंगी जो एक निजी स्कूल में रहती हैं। अधिकारी ने कहा कि झारखंड में 35 हजार 447 सरकारी स्कूलों में पढ़ाई करने वाले लगभग 45 लाख विद्यार्थियों को उत्कृष्ट शिक्षा उपलब्ध कराया जाएगा। इसको लेकर झारखंड सरकार ने लीडर स्कूलों की तर्ज पर सभी स्कूलों का विकास करेंगी।

बताते चलें कि झारखंड के इस महत्वाकांक्षी योजना के माध्यम से विभिन्न जिलों में 80 स्कूलों को चयनित किया गया है। इसमें राजधानी रांची जिले के 5 स्कूल शामिल हैं।

रांची के इन स्कूलों को किया गया है चयन

  • जिला स्कूल,
  • बाल कृष्ण प्लस टू उच्च विद्यालय
  • बरियातू स्थित गवर्नमेंट गर्ल्स स्कूल

बता दें कि, इन स्कूलों को विकसित पर 488 करोड़ रुपये खर्च होंगे। रांची के लीडर स्कूल के लिए चयनित  स्कूलों में नवीनीकरण का काम तेजी से चल रहा है। जिसमें रांची जिला स्कूल और बरियातू गवर्नमेंट हाई स्कूल में कंस्ट्रक्शन का काम शुरू कर दिया गया है।

Edited By Sanjay Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept