मजदूरी का झांसा देकर मध्‍यप्रदेश में किशोरी को 70 हजार रुपये में बेचा, जानें पूरा मामला

Jharkhand Crime News एक किशोरी को मध्यप्रदेश में 70 हजार में बेच दिया गया। यह घटना पलामू जिले की है। 600 रुपये मजदूरी प्रतिदिन दिलाने का झांसा देकर काम दिलाने की बात कही थी। दलालों से मिलकर 70 हजार रुपये में सौदा किया।

Sanjay KumarPublish: Tue, 25 Jan 2022 07:48 AM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 09:50 AM (IST)
मजदूरी का झांसा देकर मध्‍यप्रदेश में किशोरी को 70 हजार रुपये में बेचा, जानें पूरा मामला

पलामू, जागरण संवाददाता। Jharkhand Crime News : पलामू जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र के एक गांव की एक किशोरी को मध्यप्रदेश में 70 हजार में बेच दिया गया। मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने अनुसंधान करते हुए 20 जनवरी 2022 को मध्य प्रदेश की पुलिस की सहायता से लड़की को बरामद कर लिया है। पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है, जबकि एक फरार होने में सफल रहा।

ये आरोपित है शामिल

गिरफ्तार होने वालों में गढ़वा जिला अंतर्गत रमकंडा थाना क्षेत्र के दुर्जन गांव निवासी जितेंद्र पासवान और डंडई के बालेखाड़ गांव निवासी उपेंद्र कुमार गौतम उर्फ रोहित और मध्य प्रदेश के छतरपुर जिला अंतर्गत सैटइ थाना क्षेत्र के बसोनिया गांव निवासी राकेश यादव का शामिल है।

थाना प्रभारी प्रेस कांफ्रेंस में दी जानकारी

22 जनवरी 2022 को पीड़िता समेत तीनों आरोपितों को पुलिस पलामू लेकर पहुंची। पूछताछ करने के बाद 24 जनवरी 2022 को तीनों आरोपितों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। यह जानकारी रामगढ़ थाना प्रभारी प्रभात रंजन राय ने प्रेस कांफ्रेंस में दी है।

लड़की को 20 जनवरी को किया गया बरामद

उन्होंने बताया कि किशोरी की माता ने चार अगस्त 2021 को रामगढ़ थाना में पुत्री के अपहरण का मामला दर्ज कराया था। इसके बाद पुलिस टीम अनुसंधान में लग गई। इसमें टेक्निकल एंड ह्यूमन इनपुट की सहायता से ज्ञात हुआ कि किशोरी मध्य प्रदेश के छतरपुर जिला अंतर्गत टेरिपुरा गांव में है। इसके बाद एक टीम गठित की गई जो जांच के लिए मध्य प्रदेश गई। वहां स्थानीय पुलिस की मदद से टेरिपुरा गांव निवासी बक्का यादव के घर से लड़की को 20 जनवरी को बरामद किया गया।

क्या है पुरा मामला

पूछताछ में किशोरी ने बताया कि मेरे कमरे के बगल में रहने वाला रोहित उर्फ उपेंद्र कुमार गौतम ने 600 रुपये मजदूरी प्रतिदिन दिलाने का झांसा देकर काम दिलाने की बात कही थी। इसके बाद रोहित मुझे छत्तीसगढ़ के तातापानी ले गया। वहां पर जितेंद्र पासवान से मिलवाया। इसके बाद डरा धमका कर जितेंद्र पासवान मुझे मध्य प्रदेश के छतरपुर ले गया। छतरपुर में ही जितेंद्र पासवान राकेश यादव से मिला और महाराजगंज ले गया। टेरिपुरा गांव निवासी बक्का यादव ने शादी की नीयत से दलालों से मिलकर 70 हजार रुपये में सौदा किया। फिलहाल बक्का यादव फरार है।

Edited By Sanjay Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept