झारखंड में स‍िर्फ 4517 श‍िक्षा कर्मचार‍ियों का टीकाकरण, आख‍िर कैसे होगी मैट्र‍िक और इंटर की परीक्षा

Jharkhand Education News झारखंड एकेडमिक काउंसिल को अपना अध्यक्ष और उपाध्यक्ष मिल गया है। लेकिन बड़ा सवाल यह कि जब तक झारखंड के छात्र छात्राओं को पूर्ण रूप से टीका नहीं दिया जाएगा तब तक परीक्षा कैसे और कब ली जाएंगी यह संशय उत्पन्न करता है।

Sanjay KumarPublish: Thu, 20 Jan 2022 11:46 AM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 11:46 AM (IST)
झारखंड में स‍िर्फ 4517 श‍िक्षा कर्मचार‍ियों का टीकाकरण, आख‍िर कैसे होगी मैट्र‍िक और इंटर की परीक्षा

रांची, जागरण संवाददाता। Jharkhand Education News : झारखंड एकेडमिक काउंसिल को अपना अध्यक्ष और उपाध्यक्ष मिल गया है। अध्यक्ष ने अपना पदभार भी ग्रहण कर लिया है। वहीं उपाध्यक्ष शुक्रवार को अपना पदभार ग्रहण करेंगे। लेकिन अब तक मैट्रिक और इंटर की परीक्षा पर कोई चर्चा नहीं हुई है। जबकि राज्य में साढ़े सात लाख छात्र छात्राओं का भविष्य अधर में लटका है। हालांकि जैक अध्यक्ष डा अनिल कुमार महतो ने जल्द ही मैट्रिक और इंटर की परीक्षा तिथि घोषित किए जाने का संकेत दिया है।

परीक्षा कैसे और कब ली जाएंगी, यह संशय उत्पन्न

ये परीक्षाएं आपदा प्रबंधन विभाग के दिशा निर्देश के बाद ही संचालित की जाएंगी। हालांकि जैक अध्यक्ष ने भी समय पर परीक्षा होने की बात कही है। लेकिन बड़ा सवाल यह कि जब तक झारखंड के छात्र छात्राओं को पूर्ण रूप से टीका नहीं दिया जाएगा, तब तक परीक्षा कैसे और कब ली जाएंगी, यह संशय उत्पन्न करता है।

बुधवार को अध्यक्ष पद का पदभार ग्रहण

इन सवालों का जवाब देते जैक अध्यक्ष ने कहा कि मैंने बुधवार को अध्यक्ष पद का पदभार ग्रहण किया है। हरेक वस्तुस्थिति पर नजर रखी जा रही है और पूरी उम्मीद है कि परीक्षा ससमय होगी। वहीं दूसरी ओर झारखंड के छात्र छात्राओं को वैक्सीन देने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह मामला शिक्षा विभाग और आपदा प्रबंधन विभाग का है। इस मामले में जब तक दिशा निर्देश नहीं आता है तब तक कुछ भी कहा नहीं जा सकता है।

शिक्षकों ने भी नहीं ली है कोविड 19 की खुराक

गत दिनों झारखंड शिखा परियोजना परिषद ने भी पत्र जारी कर सभी सरकारी, गैर सरकारी एवं निजी विद्यालयों के शैक्षणिक और गैर शैक्षणिक कर्मियों को टीके की दोनों खुराक लेने का दिशा निर्देश जारी किया था। जिसके बाद शिक्षा विभाग के पदाधिकारी हरकत में आ गए। पत्र में इस बात का उल्लेख किया गया कि राजधानी रांची समेत देवघर, पूर्वी सिंहभूम, गुमला, हजारीबाग, दुमका, पश्चिमी सिंहभूम जिलों में अभी भी काफी संख्या में शिक्षक व कर्मियों ने टीके की दोनों खुराक नहीं ली है। जिस वजह से वे संक्रमित हो सकते हैं और आसपास के लोगों पर भी खतरा मंडरा सकता है।

936 शिक्षा कर्मियों ने अब तक नहीं ली वैक्सीन की खुराक

बता दें कि रांची जिले में 936 शिक्षा कर्मियों ने अब तक वैक्सीन की खुराक नहीं ली जबकि पूरे झारखंड में यह आंकड़ा 4517 है। रांची में सरकारी विद्यालयों के कुल 522 कर्मियों ने जबकि गैर सरकारी 59 और निजी विद्यालयों के 355 कर्मियों ने अब तक टीका नहीं लिया है। हालांकि जिला शिक्षा कार्यालय के एक उच्च पदस्थ ने बताया कि ये आंकड़ा 15 जनवरी तक का है। वर्तमान में कई शिक्षा कर्मियों ने कोविड का टीका लिया है।

Edited By Sanjay Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम