IAS पूजा सिंघल का 'विभूति' बनेगा सरकारी गवाह... ईडी के नए दावे से नेता-अफसर में हड़कंप

Jharkhand News नेताओं नौकरशाहों की काली कमाई निवेश करने वालों पर ईडी की ताबड़तोउ़ छापेमारी जारी है। कई गोपनीय दस्तावेज हाथ लगे हैं। इस बीच ईउी सूत्रों से बड़ी खबर ये है कि कई जिला खनन पदाधिकारी सरकारी गवाह बनने को राजी हो गए हैं।

Alok ShahiPublish: Wed, 25 May 2022 11:02 PM (IST)Updated: Thu, 26 May 2022 06:58 AM (IST)
IAS पूजा सिंघल का 'विभूति' बनेगा सरकारी गवाह... ईडी के नए दावे से नेता-अफसर में हड़कंप

रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand News झारखंड की निलंबित आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल के खिलाफ मनी लांड्रिंग मामले में चल रही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच के घेरे में हर दिन एक नया चेहरा जुड़ता जा रहा है। अभी जो भी चेहरे जुड़ रहे हैं, वे कहीं न कहीं कुछ नेताओं व नौकरशाहों के रिश्‍तेदार या करीबी हैं। एक दिन पहले मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का के बहनोई निशिथ केशरी व कारोबारी विशाल चौधरी के यहां प्रवर्तन निदेशालय ने छापेमारी की थी। ईडी ने दावा किया था भारी लेन-देन से संबंधित दस्तावेज बरामद किए गए हैं, जिसकी जांच होगी। इस छापेमारी के बाद से ही ईडी के अधिकारी बरामद दस्तावेजों को खंगालने में जुटे हैं।

बताया जा रहा है कि इस छापेमारी के बाद से ही अफसरों की नींद उड़ी हुई है। बरामद दस्तावेज से यह संकेत मिले हैं कि राज्य में भ्रष्टाचार में शामिल कुछ नौकरशाहों ने अपने काले धन को सफेद बनाने के लिए इन कारोबारियों की मदद ली है। हालांकि, निशिथ केशरी ने ईडी की छापेमारी के बाद यह बयान जारी किया है कि उनके यहां से इस तरह का कोई दस्तावेज बरामद नहीं हुआ है। ईडी सूत्रों की मानें तो निलंबित आइएएस पूजा सिंघल की गिरफ्तारी के बाद अब ईडी का रुख अन्य भ्रष्ट नौकरशाहों की ओर भी है। विशाल चौधरी के ठिकाने से एक कागज ऐसा मिला था, जिसमें दो दर्जन आइपीएस अधिकारियों के नाम लिखे हुए थे।

यह भी पढ़ें : IAS पूजा सिंघल के इस विभूति का हाल देखिए... गैरज में जगुआर, लेकिन स्कूटर पर सवार; क्‍योंकि हर विभूति नल्ला नहीं होता

ईडी को सहयोग कर रहे कुछ जिला खनन पदाधिकारियों को सरकारी गवाह बनाने की तैयारी

निलंबित आइएएस पूजा सिंघल के खिलाफ मनी लांड्रिंग अधिनियम में अनुसंधान कर रही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम अब कुछ जिलों के जिला खनन पदाधिकारियों (डीएमओ) को सरकारी गवाह बनाने जा रही है। ईडी सूत्रों से जानकारी मिली है कि ये डीएमओ ईडी को अनुसंधान में पूरा सहयोग कर रहे हैं। उनकी निशानदेही पर ईडी को लगातार सफलताएं मिल रहीं हैं। सूचना है कि राज्य के कई अन्य डीएमओ से भी ईडी पूछताछ करने जा रहा है। इनमें कोल्हान क्षेत्र के डीएमओ भी शामिल हैं। ईडी सूत्र की मानें तो पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम व सरायकेला-खरसांवा के डीएमओ को ईडी ने समन किया है और उन्हें पूछताछ के लिए रांची बुलाया है। हालांकि, इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है।

पूजा सिंघल से मिलने के बाद ईडी कार्यालय से मुस्कुराते हुए निकले बच्चे

निलंबित आइएएस पूजा सिंघल को बुधवार को कोर्ट ले जाने से पहले ईडी कार्यालय में उनके पति अभिषेक झा व सभी बच्चे मिलने के लिए पहुंचे थे। पूजा सिंघल से मिलने के बाद बाहर निकले बच्चे बहुत खुश नजर आए। वे मुस्कुराते हुए कार्यालय से निकले और गाड़ी में बैठकर घर के लिए रवाना हो गए।

Edited By Alok Shahi

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept