लोहरदगा में औद्योगिक सिलाई केंद्र का हुआ निरीक्षण, महिलाओं का काम की जमकर हुई तारीफ

Lohardagga News सिलाई केंद्र में कार्य करने वाली सक्षम महिला उत्पादक समूह की महिलाओं से बातचीत की। सिलाई केंद्र में होने वाले विभिन्न पोशाकों के बारे उत्पादक समूह को वेतन व सुविधाएं मशीनों आदि की बिंदुबार जानकारी ली।

Madhukar KumarPublish: Sat, 29 Jan 2022 02:51 PM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 02:51 PM (IST)
लोहरदगा में औद्योगिक सिलाई केंद्र का हुआ निरीक्षण, महिलाओं का काम की जमकर हुई तारीफ

लोहरदगा, जागरण संवाददाता। दो दिवसीय दौरा के क्रम में लोहरदगा पहुंचे भारत सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग के संयुक्त सचिव सह आकांक्षी जिला के केंद्रीय प्रभारी पदाधिकारी राहुल सिंह ने शनिवार को किस्को प्रखंड क्षेत्र का दौरा कर विकास योजनाओं को नजदीक से देखा। किस्को प्रखंड के तिसिया गांव में एससीए मद से स्थापित ब्रिकेटिंग प्लांट का निरीक्षण किया। साथ हीं किस्को प्रखंड मुख्यालय में औद्योगिक सिलाई केंद्र का भ्रमण कर योजनाओं का भौतिक निरीक्षण किया।

इस क्रम में योजना को नजदीक से देखा और सिलाई केंद्र में कार्य करने वाली सक्षम महिला उत्पादक समूह की महिलाओं से बातचीत की। सिलाई केंद्र में होने वाले विभिन्न पोशाकों के बारे, उत्पादक समूह को वेतन व सुविधाएं, मशीनों आदि की बिंदुबार जानकारी ली। मौके पर राहुल सिंह ने कहा कि यह औद्योगिक सिलाई केंद्र अपेक्षा से कहीं ज्यादा बेहतर है।

उत्पादक समूह को बाजार भी उपलब्ध कराया गया है और व्यवस्था काफी अच्छी है। महिलाएं उत्साहित एवं साधनसेवी कर्मठ हैं। आकांक्षी जिला कार्यक्रम के केंद्रीय प्रभारी पदाधिकारी के भ्रमण कार्यक्रम में उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो, उप विकास आयुक्त अखौरी शशांक सिन्हा, जिला योजना पदाधिकारी अरुण सिंह, विशेष कार्य पदाधिकारी अमित बेसरा, जिला सहकारिता पदाधिकारी जगमनी टोपनो, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी पलटू महतो, प्रखंड विकास पदाधिकारी अनिल मिंज, अंचलाधिकारी बुढ़ाय सारू, जेएसएलपीएस के डीपीएम प्रकाश रंजन आदि शामिल थे।

ब्रिकेटिंग प्लांट में देखा उत्पादनआकांक्षी जिला कार्यक्रम के केंद्रीय प्रभारी पदाधिकारी राहुल सिंह ने उग्रवाद प्रभावित पाखर पंचायत के तिसिया गांव में स्थापित ब्रिकेटिंग प्लांट का भ्रमण किया। इस दौरान राहुल सिंह द्वारा ब्रिकेटिंग प्लांट में ब्रिकिट का उत्पादन, प्लांट में कच्चे माल के रख-रखाव के लिए बने शेड, लाभुकों के भुगतान आदि की जानकारी ली। साथ ही, उत्पादक समूह व पूरे जिला प्रशासन को भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं।

Edited By Madhukar Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept