हे राम..! हजारीबाग में अश्लील शब्दों से छलनी कर दी महात्मा गांधी की प्रतिमा

Jharkhand News आज से चंद दिनों बाद देश के बापू (Father Of Nation) का बलिदान दिवस मनाएगा। देश की आजादी (Countrys Independence) में उनके योगदानों को याद किया जाएगा। लेकिन हजारीबाग (Hazaribagh) में बापू को रोज मारा जा रहा है। गालियां दी जा रही हैैं।

Sanjay KumarPublish: Mon, 17 Jan 2022 10:00 AM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 10:23 AM (IST)
हे राम..! हजारीबाग में अश्लील शब्दों से छलनी कर दी महात्मा गांधी की प्रतिमा

हजारीबाग (विकास कुमार)। Jharkhand News : आज से चंद दिनों बाद देश के बापू (Father Of Nation) का बलिदान दिवस मनाएगा। देश की आजादी (Country's Independence) में उनके योगदानों को याद किया जाएगा। लेकिन हजारीबाग (Hazaribagh) में बापू को रोज मारा जा रहा है। गालियां दी जा रही हैैं। स्वच्छता (Cleanliness) बापू के दिल के बेहद करीब था। सरकार के स्वच्छता अभियान (Cleanliness Campaign) का लोगो भी बापू का चश्मा (Bapu's Glasses) है। लेकिन, हजारीबाग में बापू की प्रतिमा (Bapu's Statue) के पास से स्वच्छता नदारद है।

गांधी जी की तोड़ दी उंगलियां

परिसर को कूड़ादान बना दिया गया है। झील के किनारे लगी 10 फीट की बापू की प्रतिमा की यह दास्तान है। ऊपर से इस पर लिखे गए अश्लील शब्दों ने लोगों को शर्मसार कर दिया है। राष्ट्रपिता की प्रतिमा पर लिखी असंख्य गालियां इसक गवाह हैं। उनकी टूटी उंगलियां बताती हैं, इसे अंजाम देने वाला शख्स नहीं जानता कि उसने क्या किया और किसकी उंगली तोड़ी हैं।

आज बापू होते तो संभवत: अपनी प्रतिमा देख यीशु मसीह के उस कथन हो दोहराते जो उन्होंने सूली पर चढ़ाए जाते वक्त कहा था ...हे प्रभु! इन्हें माफ करना, क्योंकि ये नहीं जानते कि ये क्या कर रहे हैं।

500 मीटर की दूरी पर रहते हैं जिले के सभी वरीय पदाधिकारी

बापू की जिस प्रतिमा के हाल की चर्चा कर रहे हैं, यह हजारीबाग के उस स्थान पर है जहां से 500 मीटर की दूरी पर जिले के सभी वरीय पदाधिकारियों का आवास है। प्रतिमा से चंद कदमों की दूरी पर एसडीएम, डीआइजी और आयुक्त का आवास है तो 500 मीटर की दूरी पर उपायुक्त आदित्य कुमार आनंद रहते हैं।

देश के बापू का अंग कर दिया गया भंग

शहर के सेहत पसंद लोग रोज भी यहां सैकड़ों की संख्या में टहलने आते हैं। लेकिन बापू की प्रतिमा की इनमें से किसी ने सुध नहीं ली। प्रतिमा की स्थापना 2015 में तत्कालीन उपायुक्त मुकेश कुमार ने इस उद्देश्य से कराई थी कि लोग बापू से प्रेरणा लेंगे। शहर को साफ रखेंगे। लेकिन यहां तो बापू की प्रतिमा को ही बदरंग बना दिया। अश्लीलता भरे शब्दों से उनका शरीर पोत दिया गया। उनका अंग भंग भी कर दिया गया।

हजारीबाग से रहा है बापू का लगाव

हजारीबाग से बापू का लगाव रहा है। राजनीति विज्ञान के शिक्षक डा. प्रमोद कुमार बताते हैं कि 1925 में पहली बार उनका आगमन हजारीबाग में हुआ था। 18 सितंबर को उन्होंने संत कोलंबा कालेज में विद्यार्थियों को संबोधित किया था। तब यहां के लोगों व नगरपालिका की ओर से राष्ट्रीय आंदोलन में सहयोग के लिए 1300 रुपये दिए गए थे। इसके बाद भी दो बार और उनका आगमन हजारीबाग में हुआ।

रितेश खंडेलवाल ने ट्वीट कर कहा

हजारीबाग भाजयुमो जिला मीडिया प्रभारी सह युवा समाज सेवी रितेश खंडेलवाल ने ट्वीट कर कहा है कि जहां  बापू की भव्य प्रतिमा है, वहां बापू की प्रतिमा को कुछ लोगों ने अश्लील शब्दों से छलनी कर दी है। ना कोई सुरक्षा है और ना कोई साफ सफाई।

 

Edited By Sanjay Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept