हेमंत सोरेन के एक्शन का शिकार हुए मोरहाबादी के दुकानदार, भारी संख्या में पुलिस बल तैनात

Effect of CM Hemant Soren action सुबह से ही दुकानदार धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। दुकानदारों को जानकारी मिली कि राजकीय अतिथि शाला में कांग्रेस की विधायक अंबा प्रसाद का कार्यक्रम है। इस पर सारे दुकानदार राजकीय अतिथि शाला पहुंच गए।

Madhukar KumarPublish: Sat, 29 Jan 2022 03:01 PM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 03:01 PM (IST)
हेमंत सोरेन के एक्शन का शिकार हुए मोरहाबादी के दुकानदार, भारी संख्या में पुलिस बल तैनात

रांची, जागरण संवाददाता। मोरहाबादी मैदान में शनिवार को सुबह से सन्नाटा है। यहां सुबह से ही नगर निगम के अधिकारियों और इंफोर्समेंट की टीम डटी हुई थी। जो दुकानदार आए, उन्हें दुकानें नहीं खोलने दी गईं। उन्हें बताया गया कि अब यहां दुकानें नहीं खोलने दी जाएंगी। सारी दुकानें हटा लीजिए। दुकानदारों ने दुकानें नहीं खोली हैं। हालांकि अभी दुकान हटाने का सिलसिला नहीं शुरू हुआ है।

दुकानदार कर रहे हैं प्रदर्शन

सुबह से ही दुकानदार धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। दुकानदारों को जानकारी मिली कि राजकीय अतिथि शाला में कांग्रेस की विधायक अंबा प्रसाद का कार्यक्रम है। इस पर सारे दुकानदार राजकीय अतिथि शाला पहुंच गए। दुकानदारों का कहना है कि कांग्रेस की विधायक अंबा प्रसाद ने उन्हें सिर्फ आश्वासन दिया है। वहां से दुकानदार लौटे तो पता चला की विधायक सीपी सिंह उनका दुख-दर्द सुनने मान्य पैलेस आए हुए हैं। इस पर सारे दुकानदार विधायक सीपी सिंह के पास पहुंचे और उन्हें अपना दर्द बताया।

दुकानें हटाने से दुकानदारों में गुस्सा

दुकानदारों का कहना है कि उनके साथ अन्याय किया जा रहा है। अगर मोरहाबादी में गोली चली है तो यहां दुकानें हटाने की क्या जरूरत है। दुकानदारों का कहना है कि क्या जहां-जहां गोली चलेगी वहां से दुकानदारों को हटाया जाएगा। विधायक का कहना है कि सरकार गलत कर रही है। सरकार को गरीबों को उजाड़ने का कोई अधिकार नहीं है। विधायक सीपी सिंह ने दुकानदारों से कहा की पिछली बार भी उन्हें यहां से उजाड़ा जा रहा था। उन्होंने ही उन्हें बसाया था। विधायक ने सरकार से कहा है कि वह दुकानदारों को नहीं उजाड़े। दुकानदारों का कहना है कि सरकार कानून व्यवस्था दुरुस्त करे। दुकानदारों को उजाड़ने का काम ना करे।

Edited By Madhukar Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept