अक्षय पात्र कराएगा बच्चों को भोजन

संवाद सहयोगी रामगढ़ हजारीबाग संसदीय क्षेत्र के हजारीबाग व रामगढ़ जिले में अक्षयपात्र के माध्

JagranPublish: Mon, 17 Jan 2022 08:32 PM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 08:32 PM (IST)
अक्षय पात्र कराएगा बच्चों को भोजन

संवाद सहयोगी, रामगढ़ : हजारीबाग संसदीय क्षेत्र के हजारीबाग व रामगढ़ जिले में अक्षयपात्र के माध्यम से सरकारी स्कूल के बच्चों को पौष्टिक आहार उपलब्ध कराया जाएगा। हजारीबाग के बाद रामगढ़ में भी इसके क्रियान्वयन की जवाबदेही अक्षयपात्र को मिली है। रामगढ़ करीब 50 हजार बच्चों के लिए भोजन स्थानीय स्थानीय कैथा में सेंट्रलाइज्ड किचन तैयार होगा। स्थानीय स्तर से किसानों की उपज व स्थानीय लोगों के माध्यम से ही भोजन तैयार कराया जाएगा। यह कार्य 2024 से शुरू हो जाएगा। इसी को ध्यान रखते हुए जिला प्रशासन, अक्षयपात्रा व सीसीएल के बीच सोमवार को उपायुक्त कार्यालय के सभागार में एमओयू हुआ। सीसीएल सीएसआर मद में 15 करोड़ रुपये निर्माण के मद में तथा सात करोड़ रुपये सेंट्रलाइज्ड किचन के मद में दिया जाएगा। सांसद जयंत सिन्हा की मौजूदगी में हुए इस एमओयू के गवाह बने जिले के अधिकारी। सांसद जयंत सिन्हा ने दिशा की आयोजित बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि यह ऐतिहासिक पल है। विद्यालयों में पौष्टिक भोजन मिलने से बच्चों का सर्वांगीण विकास होता है, इससे विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति में भी काफी अंतर पड़ता है। दिशा की बैठक में जिला खनिज निधि की समीक्षा के दौरान कई अधिकारियों से वे वर्चुअली भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि डीएमएफ से ही समाहरणालय के समक्ष ही करीब सात करोड़ रुपये की लागत से कम्युनिटी पार्क का निर्माण होगा। इसके अलावा जिला मैदान में स्टेडियम का भी निर्माण होगा। जिले के करीब एक हजार आंगनबाड़ी केंद्रों को अपग्रेड प्ले स्कूल में परिणत कराया जाएगा। सांसद ने कहा कि हमने जिला प्रशासन को सुझाव दिया है कि जिले के 72 हाई स्कूल में जहां कंप्यूटर लैब नहीं है, वहां जिला खनिज निधि से कंप्यूटर लैब बनवाया जाए। जिले में बैकलाग के आठ सौ करोड़ के काम समाप्त हो गए हैं। अब नए काम लिए जा रहे हैं। बिजुलिया तालाब में भी सौंदर्यीकरण के मद में एक करोड़ रुपये सीसीएल देगा। इसके अलावा जिले के विभिन्न विभागों की सांसद ने बारी-बारी से समीक्षा की।

-----------------

12 राज्यों के 55 स्थानों पर 20 लाख बच्चों के लिए भोजन तैयार करा रहा अक्षयपात्र : स्वामी

एमओयू पर हस्ताक्षर के बाद अक्षयपात्रा के स्वामी व्योमपदादासा ने कहा कि हमारी संस्था देश के 12 राज्यों व 55 स्थानों पर करीब 20 लाख स्कूली बच्चों को मिड डे मिल भारत सरकार व राज्य सरकार के साथ मिलकर उपलब्ध करा रही है। दूर दराज के गांवों में किसानों को खाना पहुंचे यह सरकार के लिए बड़ी चुनौती रही है। अक्षयपात्रा ने इसकी शुरूआत बैंगलोर में करीब 20 वर्ष पहले वर्ष 2000 में किया था। संस्था ने अपने मंदिर के पास के ही स्कूल के चार पांच सौ बच्चों से शुरू की। इसका असर यह हुआ कि पास के स्कूलों के बच्चे भी उसी स्कूल में भोजन करने के लिए आने लगे। इसके बाद दूसरे स्कूलों के शिक्षकों ने उनसे संपर्क किया और धीरे-धीरे बैंगलोर में 30 हजार बच्चों के लिए भोजन बनाना और उसे विद्यालयों तक पहुंचाना शुरू किया।

-------------------

86 स्कूलों के 50 हजार बच्चों को मिलेगा मिड डे मिल : जीएम

सीसीएल के जीएम सीएसआर एल बालकृष्णन ने कहा कि सीसीएल अक्षयपात्रा के माध्यम से जिले के 86 स्कूलों के 50 हजार बच्चों को भोजन उपलब्ध कराएगी। हमारे कोलइंडिया के चेयनमैन रामगढ़ शहर के ही निवासी प्रमोद अग्रवाल व सीसीएल सीएमडी पीएम प्रसाद के प्रयास से ही यह सफल हो पाया। एमओयू के बाद 50 प्रतिशत राशि जल्द जिला प्रशासन को उपलब्ध करा दिया जाएगा

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept