मुंडन समारोह में शामिल होने पिता के साथ आई युवती लापता

छिन्मस्तिका मंदिर में मुंडन समारोह में शामिल होने पिता के साथ आई युवती लापता शनहा दर्ज

JagranPublish: Sat, 02 Jul 2022 09:05 PM (IST)Updated: Sat, 02 Jul 2022 09:05 PM (IST)
मुंडन समारोह में शामिल होने पिता के साथ आई युवती लापता

मुंडन समारोह में शामिल होने पिता के साथ आई युवती लापता

संवाद सूत्र, रजरप्पा/गोला(रामगढ़) : रजरप्पा मां छिन्नमस्तिका मंदिर में मुंडन समारोह में शामिल होने पिता के साथ आई युवती शुक्रवार को लापता हो गई है। पिता व स्वजन उसे इधर-उधर तलाशने के बाद पुलिस को सूचना दी गई। जानकारी के अनुसार बोकारो जिले के जरीडीह थाना अंतर्गत तुपकाडीह निवासी सरजू प्रसाद अग्रवाल अपनी छोटी बेटी 20 वर्षीय सरिता कुमारी को लेकर एक मुंडन समारोह में शामिल होने के लिए छिन्नमस्तिका मंदिर आए थे। मंदिर पहुंचने से कुछ ही देर बाद सरिता ने अपने पिता को मंदिर में पूजा करने की बात कह कर अकेली चली गई। जब काफी देर तक वो किसी को नहीं दिखी तो पिता को उसकी चिंता हुई। समारोह में लगभग 150 सदस्य शामिल थे। इस संबंध में युवती के पिता ने गोला थाने में लिखित आवेदन देकर मामला दर्ज कराया है। आवेदन के अनुसार पिता का कहना है कि हम सपरिवार तुपकाडीह से पूजा करने आए थे। और रजरप्पा ओपी थाना के सामने एक खुले हुए होटल में रुके और खाना खाएं। इस बीच मेरे साथ आई मेरी छोटी बेटी सरिता य मुझसे 90 रुपए ली तथा पहनने का एक ड्रेस साथ लेकर पूजा करने मंदिर जाने की बात कहकर वहां से अकेली चली गई। करीब दो घंटे तक वह पूजा करके नहीं लौटी तो हम लोग उसको खोजबीन करना शुरू कर दिए। कुछ समय बाद मंदिर जाकर अलाउंस भी करवाया, फिर भी उसका कहीं पता नहीं चला। करीब 18 घंटे बीत जाने के बाद भी युवती का पता नही, खबर लिखे जाने तक मंदिर के सीसीटीवी कैमरे को खंगाला जा रहा है। पुलिस प्रशासन छानबीन में जुटी हुई है।

बोकारो के तुपकाडीह से पिता के साथ आई थी युवती :

जरीडीह थाना अंतर्गत तुपकाडीह के रहने वाले युवती अपने पिता के साथ छिन्मस्तिका मंदिर मुंडन समारोह में शामिल होने आए थी। बताया जा रहा है कि उनके दूर के रिश्तेदार अपने बच्चे का मुंडन के लिए शुक्रवार को करीब 12 बजे छिन्मस्तिका मंदिर आया हुआ था। इस बीच युवती सरिता कुमारी मंदिर पूजा अर्चना के लिए अकेली ही चली गयी। जब काफी देर तक वो किसी को नहीं दिखी तो पिता को उसकी चिंता हुई। उसे परिसर में काफी तलाशा गया, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept