इनौस ने किया बरकाकाना जंक्शन के समक्ष धरना प्रदर्शन

संवाद सूत्र बरकाकाना (रामगढ़) रेलवे बचाओ नौकरी बचाओ देशव्यापी प्रतिरोध दिवस पर आरआर

JagranPublish: Fri, 28 Jan 2022 08:52 PM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 08:52 PM (IST)
इनौस ने किया बरकाकाना जंक्शन के समक्ष धरना प्रदर्शन

संवाद सूत्र, बरकाकाना (रामगढ़): रेलवे बचाओ नौकरी बचाओ देशव्यापी प्रतिरोध दिवस पर आरआरबी एनटीपीसी परिणाम में धांधली व बिहार यूपी में छात्रों पर पुलिसिया दमन के खिलाफ बिहार बंद के समर्थन में इंकलाबी नौजवान सभा देशव्यापी एक दिवसीय प्रतिरोध दिवस के तहत बड़काकाना जंक्शन के समक्ष प्रदर्शन किया गया। इस अवसर पर इंकलाब नौजवान सभा के प्रदेश सचिव अमल घोष, जिला प्रभारी जयबीर हांसदा, सुमित तिर्की, सुनिल किस्कू खलेंदर प्रजापति,अनोद बेदिया,धनु टुडू, विनेश मुंडा, अमित कुमार, मौसम कुमार आकाश हांसदा सहित दर्जनों युवाओं की भागीदारी हुई। इस अवसर पर इनौस के प्रदेश सचिव अमल घोष ने कहा कि पिछले दिनों बिहार के आरा, जहानाबाद, मुजफ्फरपुर, पटना एवं उत्तर प्रदेश के बनारस से लेकर लखनऊ में लाखों छात्र-युवा आर आरबी एनटीपीसी के परिणामों में धांधली व ग्रुप डी में दो एग्जाम पिटी और मेंस लेने का फरमान वापस लेने की मांग को लेकर लाखों छात्र-युवा आंदोलित है। पिछले तीन वर्षों से वे रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं इस पुरे लांकडाउन में छात्र शोसलमिडिया के जरिए केन्द्र व राज्य सरकार को टैग कर जानकारी देते रहे। पर मोदी सरकार के रेल मंत्री अश्विनी वैश्णव चुप्पी साधे रहे और अचानक एक नया नोटिफिकेशन जारी किया गया कि अब फिर से एग्जाम लिया जाएगा। जिससे छात्र भड़क उठे। जिस रेलवे से हर वर्ष लाखों छात्र-युवा को नौकरी मिलती थी। पहले मोदी सरकार ने दो करोड़ रोजगार देने के नाम पर ठगने का काम किया है और अब फिर से रेलवे अभ्यर्थियों को यह सरकार जांच कमिटी के नाम पर झांसा देकर युवाओं को रोजगार से वंचित कर रही है । किसी भी हालत में यह बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। अभी तो यह अंगड़ाई है आगे और लड़ाई बाकी है। इस बर्बर घटना की कड़ी नींदा करते हुए इनौस मांग करती है कि छात्रों पर पुलिसिया दमन करने वाले रेल मंत्री अश्विनी वैश्णव की इस्तीफे की मांग के साथ रेलवे अभ्यर्थियों पर पुलिसिया दमन बंद किया जाए एवं स्नढ्ढक्त्र वापस लिया जाए। जांच कमिटी का झांसा नहीं चलेगा। अविलंब कट ऑफ के साथ रिजल्ट घोषित करना होगा।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept