लालजी यादव की हुई है हत्या, हो सीबीआइ जांच

लीड--------- स्वजनों ने पलामू एसपी को ठहराया दोषी एफआइआर के लिए दिया आवेदन संवाद सूत्र

JagranPublish: Wed, 12 Jan 2022 06:35 PM (IST)Updated: Wed, 12 Jan 2022 06:35 PM (IST)
लालजी यादव की हुई है हत्या, हो सीबीआइ जांच

लीड---------

स्वजनों ने पलामू एसपी को ठहराया दोषी, एफआइआर के लिए दिया आवेदन

संवाद सूत्र,

नावाबाजार (पलामू): पलामू जिला के नावाबाजार थाना के निलंबित थाना प्रभारी लालजी यादव की खुदकुशी के बाद जारी एनएच 98 जाम मंगलवार-बुधवार आधी रात के बाद 12.45 बजे खत्म हुआ। इसी के साथ करीब 16 घंटे बाद मेदिनीनगर -औरंगाबाद मुख्यपथ पर वाहनों का परिचालन शुरू हुआ। इधर, लालजी यादव के स्वजनों ने आत्महत्या के मामले को हत्या बताते हुए पूरे मामले की सीबीआइ जांच की मांग कर रहे हैं। स्वजनों ने पलामू एसपी को जिम्मेदार ठहराया है। इधर, जाम कर रहे ग्रामीण निलंबित थाना प्रभारी की खुदकुशी किए जाने के मामले की सीबीआई जांच कराने ,पलामू के एसपी व विश्रामपुर डीएसपी को निलंबित करने की मांग कर रहे थे। रात करीब 12:40 बजे पलामू प्रक्षेत्र के डीआईजी राजकुमार लाकड़ा सड़क जाम कर रहे ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि पूरे मामले की जांच कराई जाएगी। इससे पूर्व मृतक दारोगा लालजी यादव के स्वजन रात के करीब 11.बजे नावाबाजार थाना पहुंचे। थाना पहुंचने वालों में मृतक पिता राम अयोध्या यादव, मां महेश्वरी देवी, पत्नी पूजा देवी , चचेरा भाई रमाशंकर यादव ,ससुर आदि करीब 15 लोग शामिल थे। खुदकशी किए हुए कमरा को मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में सील कर दिया गया है। स्वजनों के साथ पलामू के डीआईजी राजकुमार लकड़ा ने बातचीत की। इधर शव को लेकर पोस्टमार्टम के लिए स्वजन व पुलिस पदाधिकारी रात 2.30 बजे मेदिनीनगर मेदिनी राय मेडिकल कालेज अस्पताल पहंचे। पिता ने कहा, बेटा नहीं कर सकता है आत्महत्या मृतक दारोगा लालजी यादव की पत्नी पूजा देवी ,माता महेश्वरी देवी, पिता राम अयोध्या यादव, भाई संजीव यादव ,ससुर गोवर्धन यादव समेत मामा ,सास ,बहन ,बहनोई 11 बजे रात नावाबाजार थाना पहुंचे। शव देखकर थाना मातम में तब्दील हो गया था। मृतक के पिता राम अयोध्या यादव का कहना था कि उनका बेटा आत्महत्या नहीं कर सकता। पलामू एसपी चंदन कुमार सिन्हा साजिश के तहत हत्या कर आत्महत्या बता रहे हैं। इसकी जांच सीबीआई या उच्च स्तरीय होनी चाहिए। बाक्स: शव को थाना से बाहर नहीं निकलने दे रहे थे स्वजन मृतक दारोगा लालजी यादव के स्वजन शव को थाना से बाहर नहीं निकालना दे रहे थे। काफी मशक्कत के बाद डीआइजी राजकुमार लकडा से स्वजनों की वार्ता हुई। इसके बाद पंचनामा कर शव को रात के एक बजे पोस्टमार्टम के लिए मेदिनीनगर भेजा गया। स्वजन सीबीआई जांच के साथ पलामू एसपी को तत्काल बर्खास्त करने की मांग कर रहे थे। डीआइजी ने कहा कि इस घटना में दोषियों के विरूद्ध उचित कार्रवाई करते हुए अविलंब जांच कराई जाएगी। इस आश्वासन के बाद स्वजन शव को लेने के लिए तैयार हुए।

पिता ने दिया एफआइआर के लिए डीआइजी को आवेदन मृतक दारोगा के पिता राम अयोध्या यादव ने एसपी, विश्रामपुर के पुलिस अनुमंडल पदाधिकारी सुरजीत कुमार व जिला परिवहन पदाधिकारी अनवर हुसैन के खिलाफ नामजद एफआइआर के लिए आवेदन दिया। डीआइजी राजकुमार लकड़ा ने आवेदन लिया।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept