महतो तालाब के गौरवमयी अतीत का अस्तित्व खतरे में

संवाद सहयोगी नारायणपुर (जामताड़ा) नारायणपुर के प्रमुख जल स्रोतों में से एक महतो तालाब

JagranPublish: Sat, 29 Jan 2022 04:04 PM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 04:04 PM (IST)
महतो तालाब के गौरवमयी अतीत का अस्तित्व खतरे में

संवाद सहयोगी, नारायणपुर (जामताड़ा) : नारायणपुर के प्रमुख जल स्रोतों में से एक महतो तालाब अतिक्रमण व जीर्णोद्धार के अभाव में तालाब का अस्तित्व ही खतरे में पड़ गया है। अतिक्रमण के कारण तालाब तो छोटा हो ही गया है, बाहर से वर्षा के जल प्रवेश पर भी अंकुश लगा है। इस तालाब का गौरवमयी अतीत रहा है। पूर्व में नारायणपुर में शुक्रवार को लगनेवाली साप्ताहिक हटिया में आए लोग इसी तालाब का जल पीते थे। तब तालाब का जल साफ और स्वच्छ था। तालाब में पानी अधिक रहने के कारण खेतों की पटवन और मछली पालन भी होता था। बदले परिदृश्य में आज वैसी स्थिति नहीं रही। यह तालाब वर्तमान समय में अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहा है। तालाब पूरी तरह से जलकुंभी से भर गया है। जिससे तालाब का पानी असमय सूख जाता है। मछली पालन भी प्रभावित हुआ है। इस तालाब का जीर्णाेद्धार भी नहीं हो पाया है। आसपास के लोग इस तालाब में ही कचरा फेंकते हैं जिससे गंदगी बढती ही जा रही है। तालाब में जल संग्रह के लिए जीर्णोद्धार अति आवश्यक है।

-- क्या कहते हैं स्थानीय लोग :

-- 400 वर्ष पूर्व निर्मित इस तालाब के जीर्णोद्धार के लिए सामूहिक पहल की आवश्यकता है, इसके लिए संयुक्त रूप से मिलकर पहल करना होगा। तालाब का संरक्षण आवश्यक है। तालाब का जल पटवन, मछली पालन आदि के कार्यो में उपयोग होता है। इस तालाब के जिर्णोद्धार ना होना आश्चर्य की बात है।

हरि राय, ग्रामीण, नारायणपुर -- फोटो न. 4

-- क्षेत्र के अन्य तालाबों का जीर्णोद्धार हुआ है परंतु महतो तालाब को दरकिनार किया गया। इस तालाब के जल का उपयोग लोग करते हैं, तालाब बचाने के लिए लोगों को आगे आना होगा। वर्तमान समय में तालाब जलकुंभी से पूरी तरह से भर गया है जो परेशानी का सबब है।

-- दीपक सिन्हा, ग्रामीण, नारायणपुर -- फोटो न. 3

-- महतो तालाब बचाने के लिए विभागीय और स्थानीय पहल होनी चाहिए। वर्षा के पानी का संग्रह हो इस दिशा में पहल होनी चाहिए। ऐसा होता है तभी महतो तालाब का अस्तित्व बचेगा। यह क्षेत्र के महत्वपूर्ण तालाबों में से एक है।

-- बाबूलाल कोल, ग्रामीण, नारायणपुर -- फोटो न. 5

-- महतो तालाब का गौरवमयी इतिहास रहा है। दुर्गापूजा में श्रद्धालु इस तालाब में स्नान कर दंड देते हुए मंदिर तक जाते हैं। तालाब के जीर्णाेद्धार और सौदर्यीकरण की दिशा में सार्थक पहल होगी।

-- दलगोविंद रजक, उपप्रमुख, नारायणपुर -- फोटो न. 6

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम