धरना पर बैठे विधायक इरफान की तबीयत बिगड़ी

धरना पर बैठे विधायक इरफान की तबीयत बिगड़ी डाक्टरी जांच के बाद मोदी सरकार को घेरा

JagranPublish: Mon, 27 Jun 2022 07:08 PM (IST)Updated: Mon, 27 Jun 2022 07:08 PM (IST)
धरना पर बैठे विधायक इरफान की तबीयत बिगड़ी

धरना पर बैठे विधायक इरफान की तबीयत बिगड़ी

फोटो:- 9, 11

जागरण संवाददाता, जामताड़ा : केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के विरुद्ध में सोमवार को जामताड़ा विधायक सदर प्रखंड परिसर के बाहर अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठे। इस दौरान तेज धूप और गर्मी की वजह से अचानक डा इरफान की तबीयत बिगड़ गई। मौके पर मौजूद उनके समर्थकों ने तत्काल मेडिकल टीम को बुलाया और उनकी जांच की। अनशन पर बैठे विधायक को लो बीपी की शिकायत थी। कुछ देर तक विधायक धरना स्थल पर ही बेसुध पड़े रहे। बाद में सदर बीडीओ जहीर आलम मौके पर पहुंचे और विधायक को नारियल पानी पिला उनका अनशन तुड़वाया गया।

धरना समाप्त के बाद विधायक ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। कहा देशभर के युवाओं को ठगा जा सकता है। साथ ही उन्होंने राहलु गांधी की लगातार हो रही ईडी से जांच पर तंज कसते हुए कहा, यह सीधे तौर पर कांग्रेस के नेतृत्व को परेशान करने का षड़यंत्र है। उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों की वजह से पहले भी मोदी सरकार को झुकना पड़ा था। अब अग्निवीर भर्ती योजना भी वापस लेना होगा।

कार्यक्रम का नेतृत्व कांग्रेस जिला अध्यक्ष मुक्ता मंडल ने किया। कांग्रेस जिला अध्यक्ष मुक्ता मंडल ने कहा कि मोदी सरकार नई योजना से युवाओं के भविष्य के साथ खेल रही है। देशभर में अग्निपथ योजना को लागू करने के तुगलकी फरमान का वापस लेने की मांग की जा रही है। कार्यक्रम के बाद कांग्रेस पार्टी का शिष्टमंडल ने राज्यपाल के नाम से प्रखंड विकास पदाधिकारी को मांग पत्र सौंपा।

मौके पर पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष दीपिका बेसरा, पूर्व जिला अध्यक्ष प्रभु मंडल, अशोक नायक, इरशाद उल हक अर्शी, करालीचरण सरखेल, हराधन भुई, बीरबल अंसारी, भागीरथ पंडित, शहनाज खातून, अब्दुल रऊफ अंसारी समेत दर्जनों लोगा शामिल थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept