Post Office Saving Scheme : लाखों ग्राहकों के लिए डाकघर ने शुरू की यह नई स्कीम, जानिए कैसे मिलेगा लाभ

Post Office Saving Scheme बैंकों की तरह डाकघर भी तेजी से बदल रहा है। सिर्फ यह आपके घर में पत्र पहुंचाने का काम नहीं करता। यह बैंक की तरह काम करने लगा है। अब डाकघर ग्राहकों को यह सुविधा उपलब्ध करवा रही है...

Jitendra SinghPublish: Fri, 28 Jan 2022 10:30 AM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 10:30 AM (IST)
Post Office Saving Scheme : लाखों ग्राहकों के लिए डाकघर ने शुरू की यह नई स्कीम, जानिए कैसे मिलेगा लाभ

जमशेदपुर : डाकघर तेजी से बदल रहा है। बैंकों की तर्ज पर सुविधाएं बढ़ाने के साथ-साथ ग्राहकों को ध्यान में रखते हुए कई सारी योजनाएं भी लागू की गई है। इसका परिणाम भी दिख रहा था। कुछ वर्ष पूर्व की बात करें तो ऐसा लग रहा था मानो अब डाकघर की भूमिका खत्म हो जाएगी लेकिन उसने अपने आप को तेजी से बदला है। अब डाकघर ने एक नई स्कीम लेकर आई है, जिसका लाभ लाखों ग्राहकों को मिलेगा।

भारतीय डाकघर ने अपने लाखों ग्राहकों की सुविधा के लिए एक नई इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस (आईवीआर) सेवा शुरू की है। डाकघर खाताधारक नई आईवीआर सेवा का उपयोग अपने खातों में विभिन्न प्रकार की सेवाएं करने के लिए कर सकते हैं। इस सेवा के माध्यम से ग्राहक इस सेवा का उपयोग निवेश पर प्राप्त ब्याज, एटीएम कार्ड ब्लॉक, नए कार्ड जारी करने और पीपीएफ की जानकारी प्राप्त करने के लिए कर सकते हैं।

टोल फ्री नंबर 18002666868 पर डायल कर उठाएं लाभ

डाक विभाग ने हाल ही में डाकघर बचत बैंक (पीओएसबी) खाताधारकों के लिए अपनी नई इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस (आईवीआर) सुविधा की शुरूआत की है। नई सुविधा मोबाइल फोन के माध्यम से उपलब्ध है। सर्कुलर के अनुसार, अब पीपीएफ, एनएससी और अन्य जैसी छोटी बचत योजनाओं वाले ग्राहक भी भारत के डाक के टोल फ्री नंबर 18002666868 पर डायल करके आईवीआर सुविधा का उपयोग कर सकते हैं।

आईवीआर डाकघर बचत खाताधारकों को कई विकल्प प्रदान करता है

  • यदि कोई ग्राहक हिंदी भाषा में कोई जानकारी चाहता है तो बस 1 दबाएं।
  • सभी योजनाओं का खाता शेष जानने के लिए, पांच दबाएं, उसके बाद खाता संख्या डायल करें, उसके बाद हैश (#) दबाएं।
  • एटीएम कार्ड को ब्लॉक करने के लिए छह दबाएं, उसके बाद कार्ड नंबर, फिर अकाउंट नंबर और कस्टमर आईडी नंबर के बाद 3 दबाएं।
  • छोटी बचत योजनाओं की टोकरी में राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC), सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF), किसान विकास पत्र (KVP) और सुकन्या समृद्धि योजना सहित 12 उपकरण शामिल हैं। सरकार हर तिमाही की शुरुआत में ब्याज दर को रीसेट करती है।
  • सरकार ने जनवरी-मार्च की अवधि के लिए छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों को अपरिवर्तित रखा है।
  • निवेशक सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) में 7.1 प्रतिशत, वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (SCSS) में 7.4 प्रतिशत, राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC) में 6.8 प्रतिशत और सुकन्या समृद्धि योजना में 7.6 प्रतिशत का ब्याज अर्जित करना जारी रखेंगे।

Edited By Jitendra Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept